25 दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्य जानें | Psychological facts in Hindi

रोचक मनोवैज्ञानिक तथ्य Interesting Psychological facts in hindi :

हम मनुष्य एक रहस्यमयी प्राणी हैं. समान परिस्थितियों में भी हर व्यक्ति अलग अलग व्यव्हार क्यों करता है. हम सबकी भावनाएं और प्रतिक्रिया में इतना अंतर क्यों है. मनोवैज्ञानिकों ने इस विषय पर शोध किये है. इस लेख में 25 ऐसे मनोवैज्ञानिक तथ्यों पर नज़र डालिए.

  • अगर आप अपने लक्ष्य सबको बताते फिरते है तो इस बात की कम सम्भावना है कि आप सफल हो पायें. परीक्षण बताते हैं कि ऐसा करने से कार्य करने का मोटिवेशन कम हो जाता है.
  • सोने से पहले जिस आखिरी व्यक्ति का ख्याल आपके मन में आता है , वो आपकी ख़ुशी या दुःख का कारण होता है.
  • अगर आप ठीक से नहीं सोये हैं तो खुद को ऐसा विश्वास दिलाएं कि आपने अच्छी नींद ली है. कुछ देर बाद आप पाएंगे कि ठीक से न सो पाने के असर कम हो गए हैं.
  • पैसा काफी हद तक आपके जीवन में खुशियाँ ला सकता है. लेकिन रिसर्च बतातें हैं कि 15 लाख सालाना से ज्यादा पैसा पाने के बाद, पैसा आपकी खुशियों में कुछ खास वृद्धि नहीं करता.
  • दूसरो पर पैसा खर्च करना, खुद पर पैसा खर्च करने से आप ज्यादा अच्छा महसूस कराता है.
  • 90 % लोग मेसेज करते समय ऐसी बाते लिख डालते हैं जो सामने से कभी नहीं कह सकते.
  • जायदातर  बुद्धिमान व्यक्ति अपने को कम आंकते हैं जबकि अक्सर अज्ञानी अपने आप को परफेक्ट समझते हैं.
  • स्ट्रेस के ज्यादातर मरीज 18 से 33 साल के बीच में होते हैं. 33 के बाद स्ट्रेस लेवल कम होने लगता है.
  • हममें से कुछ लोग बहुत खुश होने से डरते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि कुछ बुरा हो जायेगा.
  • दिन भर के 70 % समय हमारा दिमाग भूतकाल की घटनाओं का रीप्ले कर रहा होता है या किसी आगामी घटना के सफलता की आशा कर रहा होता है.
  • आजकल के समय में हाईस्कूल के बच्चों में स्ट्रेस का लेवल 50 सदी के मानसिक रोगियों के बराबर है.
  • ख़ुशी के आंसू पहले दायीं आँख से आते हैं और दुःख दर्द के आंसू पहले बायीं आँख से निकलना शुरू होता है.
  • जरुरत से ज्यादा सोने वालों को और ज्यादा सोने का मन करता है.
25 Psychological facts life

Know Psychological facts about life

  • जब आप कुंवारे होते हैं तो आपको शादीशुदा लोग ज्यादा खुश नज़र आते हैं और शादी के बाद आपको कुंवारे ज्यादा प्रसन्न नज़र आते हैं.
  • 80 % लोग अपने जीवन की नकारात्मक चीजों से दूर भागने के लिए म्यूजिक सुनते हैं.
  • जो लोग व्यंग समझने में तेज होते हैं, वो अक्सर दूसरों का दिमाग पढने में भी माहिर होते हैं.
  • किसी बेमतलब के सवाल का जवाब व्यंगतापूर्वक तुरंत देना स्वस्थ दिमाग का एक लक्षण है.
  • शरीर की हर कोशिका पर आपके विचारो का प्रभाव पड़ता है. नकारात्मक सोच से रोगप्रतिरोधक क्षमता घट जाती है और आप बीमार भी हो जाते हैं.
  • सूर्य की रौशनी में ज्यादा समय बिताने वालों को स्ट्रेस, डिप्रेशन कम होता है.
  • जिन लोगों में आत्मसम्मान कम होता है वो अक्सर दूसरों की बहुत कमियां निकाला करते हैं.
  • झूठ बोलने के महारथी लोग दूसरों का झूठ पकड़ने में भी तेज होते हैं.
  • Kübler-Ross model के अनुसार शोक (Grief) की 5 अवस्था होती है, मान लें आपको कोई गम्भीर बीमारी हो गयी है तो

     1- इंकार : मैं तो ठीक हूँ , ये मुझे नहीं हो सकता

     2- गुस्सा : मुझे ही क्यों हुआ, ये सही नहीं है. ये मेरी गलती नहीं है.

     3- परिस्थिति से मोलतोल : कुछ और साल जीने के लिए मैं कुछ भी करूँगा. मैं अपनी सारी कमाई लगा दूंगा अगर कुछ और साल जिन्दा रह सकूं .

     4- डिप्रेशन : मैं बहुत दुखी हूँ. जीने का क्या फायदा. मैं तो मरने वाला हूँ अब कुछ नहीं हो सकता

      5- स्वीकार करना : कोई नहीं, जो होना था हो गया. लड़ नहीं सकता तो सामना के लिए तैयार हूँ.

  • थके होने पर लोग ज्यादा ईमानदारी से जवाब देते हैं.
  • व्यस्त लोग ज्यादा प्रसन्न होते हैं क्योंकि ये उन्हें जीवन के नकारात्मक पहलुओं के बारे में सोचने का टाइम नहीं देता.

– लेख अच्छा लगा तो शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें –

यह भी पढ़ें :

शारीरिक आकर्षण से जुड़े 20 आश्चर्यजनक तथ्य | Physical attraction psychology facts

शेयर बाजार से जुड़े 13 आश्चर्यजनक फैक्ट्स और अविश्वसनीय कहानियाँ

युद्ध क्षेत्र की 5 कहानियाँ : जब भ्रम और चतुराई से युद्ध जीते गये | Deception in Warfare

रशिया के बारे में 15 अनोखी बातें जो बहुत कम ही लोग जानते हैं | Interesting Facts about Russia

क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बारे में 15 फैक्ट्स | Cristiano Ronaldo facts in hindi