जेड प्लांट कैसे लगाए व फायदे | Jade plant in hindi

आइए जानते हैं घर में जेड प्लांट कैसे लगाए और जेड प्लांट के फायदे की जानकारी। जेड प्लांट एक गुड लक प्लांट है यानि शुभ वास्तु पौधा है। बहुत से लोग इसे अपने घर, ऑफिस, व्यवसायिक स्थल पर लगाते हैं। कई बिजनसमैन एक दूसरे को ये पौधा गिफ्ट भी करते हैं।

जेड प्लांट क्या है व जेड प्लांट के फायदे – Jade plant in hindi

जेड प्लांट छोटी, हरी, मांसल पत्तियों वाला पौधा है। जेड प्लांट को क्रासुला का पौधा भी कहते हैं। यह सक्लेंट (Succulent) प्रजाति का पौधा है। जेड प्लांट का बोटैनिकल नाम Crassula ovata है। जेड प्लांट की चमकदार पत्तियाँ देखने में सुंदर लगती हैं। धूप में रखने से जेड की पत्तियों के किनारे लाल से रंग के हो जाते हैं। यह पौधे कई वर्षों तक चलते हैं। जेड के पौधे लगाना और देखभाल करना भी काफी आसान होता है।

  • घर में जेड प्लांट के पौधे लगाने से धन-समृद्दि, सफलता, सौभाग्य, सुख-शांति आती है।
  • जेड प्लांट उत्तर दिशा (north) में लगाना सर्वोत्तम माना गया है। इसे मुख्य गेट या दरवाजे के पास दाहिने तरफ रख सकते हैं। 
  • ऑफिस या बिजनस प्लेस पर जेड का पौधा रखना आर्थिक स्थति में वृद्धि करता है।
  • रसोई का वास्तुदोष कम करने के लिए जेड प्लांट रसोई (kitchen) में रखें। 
  • वास्तु के अनुसार जेड रखने से घर में पाज़िटिविटी आती है, रिश्तों में मधुरता आती है, स्ट्रेस-तनाव कम होता है।
  • Crassula या जेड प्लांट घर की हवा शुद्ध करने का काम भी करता है। यह हवा से मुख्यतः Toluene तत्व को दूर करता है। टोल्युईन की अधिकता से व्यक्ति को थकान, सुस्ती, सिरदर्द, नींद न आना, हाथ-पैर सुन्न होना आदि लक्षण दिखते हैं। 

पढ़ें> हवा शुद्ध करने वाले 25 पौधों के नाम

जेड प्लांट कैसे लगाए – How to grow Jade plant in hindi

जेड प्लांट का पौधा लगाने के 2 तरीके हैं। जेड प्लांट की कलम तैयार करना और जेड प्लांट की पत्ती बोना। आइए दोनों तरीकों के बारे में जानते हैं। 

jade plant ka paudha
जेड प्लांट का पौधा व फायदे

मिट्टी – जेड प्लांट के लिए सिर्फ साधारण मिट्टी सही नहीं होती। इसे लगाने के लिए मिट्टी में मोटी बालू, बलुई या पथरीली मिट्टी का उपयोग करना चाहिए, जिससे कि मिट्टी में पानी न रुके। गमले की मिट्टी में 50% साधारण मिट्टी + 25% बालू + 25% गोबर की खाद या वर्मी कंपोस्ट का मिक्स होना चाहिए।

जेड प्लांट की कलम लगाकर पौधा तैयार करना –

जेड प्लांट के किसी पौधे से ऐसी डाली काटें जिसमें स्वस्थ पत्तियाँ हों। कम से कम 5-6 इंच लंबी कलम किसी तेज चाकू या ब्लेड से काटें। कलम काटने के बाद कुछ समय इसे ऐसे ही सूखने रख दें। गर्मी के मौसम में 1 दिन में कलम का सिरा सूख जाएगा। सूखी कलम नहीं लगाने से कलम सड़ने की संभावना होती है। अगर सर्दी का मौसम है तो कलम काटने के बाद कुछ दिन ऐसे ही पड़ा रहने दें जिससे कि कलम का कटा सिरा सूख जायें।

अब कलम को मिट्टी में उंगली से इतना गहरा गड्ढा करें जिसमें कलम लग जाए। कलम लगाकर मिट्टी से ढँक दें और थोड़ा पानी डाल दें। कलम लगाने से पहले कलम का सिरा रूटिंग कम्पाउन्ड में डुबा सकते हैं, जिससे ग्रोथ जल्दी हो। इस कलम लगे पौधे को ऐसी जगह रखें जहां सुबह 2-3 घंटे धूप लगे या कोई छाँव वाली जगह हो। कलम में अगले कुछ दिन तक पानी नहीं देना है, जब तक कि नई ग्रोथ न दिखने लगे। अनावश्यक पानी देने से कलम के सड़ने का खतरा हो सकता है, मिट्टी सूखी दिखे तो बस थोड़ा सा पानी दें।

Jade plant benefits in hindi

जेड प्लांट की पत्ती से नया पौधा बनाना –

जेड प्लांट के पौधे से धीरे से कुछ पत्ती तोड़ लीजिए जिससे कि पत्ती का डाली से लगा पतला सिरा न टूटे। गलत तरीके से तोड़ी गई पत्ती से नया पौधा नहीं बन पाएगा। गमले में मिट्टी भरकर पानी छिड़क दें और पत्ती को खड़ा करके लगभग 30% हिस्सा आराम से दबा दें। पत्ती को 30 डिग्री तिरछा बोना है। पत्ती लगाकर बहुत जोर से मिट्टी नहीं दबाना है।

एक बार में कम से कम 3-4 पत्ती एक गमले में थोड़ी-थोड़ी दूरी पर लगा दें, जिससे कि अगर कोई पत्ती खराब भी हो जाए तो भी आपके पास अन्य ऑप्शन रहें। इस गमले में पानी बहुत कम देना है नहीं तो पत्ती सड़ जायेंगी। 1-2 हफ्ते में जब पत्ती से जड़ निकल आयें तो हर पत्ती जड़ सहित नए गमले में लगा दें।

पढ़ें> घर में लगाने के लिए 15 गुड लक प्लांट्स

जेड प्लांट की केयर कैसे करे – Jade Plant care tips in hindi

धूप – इस पौधे को दिन में कम से कम 3 से 5 घंटे धूप चाहिए। दिन भर धूप की जरूरत नहीं है। गर्मी में दिन भर सीधी धूप लगने से इसकी पत्तियाँ झुलस सकती है। इसलिए पौधे को ऐसी जगह रखें जहां सुबह और शाम कुछ घंटे की धूप इसे मिल जाए।

पानी – ज्यादा पानी देने की जरूरत नहीं है। पानी तभी दें जब मिट्टी एकदम सूखी दिखने लगे। पानी देते समय पत्तियों को न भिगोए, सिर्फ जड़ में पानी डालें। पत्तियों पर पानी पड़ा रहने से रोग लगने की संभावना होती है। अगर पत्तियां गंदी हैं तो गीले कपड़े से पोंछ सकते हैं। हफ्ते में 1 बार जेड प्लांट को पानी देना पर्याप्त है। जेड प्लांट की जड़ में पानी नहीं रुकना चाहिए, इसका ध्यान रखें।

पढ़ें> सुंदर पत्तियों वाला कोलियस का पौधा कैसे लगाते हैं

मिट्टी बदलना – एक-दो साल में जेड प्लांट के गमले की मिट्टी बदल दें। कई बार जेड के पौधे में ग्रोथ रुक जाती है, ऐसा मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी से हो जाता है। मिट्टी बदलने से जेड के पौधे में फिर से नई पत्तियाँ निकलने लगती हैं।

हम आशा करते हैं कि आपको जेड प्लांट कैसे लगाए (Crassula or Jade plant in hindi) लगाने के बारे में जानकारी पसंद आई होगी। आप भी अपने बागवानी प्रेमी मित्रों/परिचितों को यह पोस्ट व्हाट्सप्प शेयर करके जरूर बताएं, जिससे वो भी इस लेख को पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें >

जीजी प्लांट का पौधा कैसे लगाए व फायदे

सफेद आक का पौधा कैसे लगाए व फायदे

स्नेक प्लांट के फायदे व कैसे लगाए 

सिंगोनियम का पौधा लगाने के फायदे व कैसे लगाए

source : https://www.treehugger.com/houseplants-best-removing-indoor-air-pollution-4857723

ये लेख दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।

Leave a Comment