कोलियस का पौधा कैसे लगाए व केयर करें | Coleus plant in hindi

आइए जानते हैं कि कोलियस का पौधा (Coleus plant in hindi) कैसे लगाए और देखभाल करें। यह घर में लगाने के लिए एक सुंदर Decorative plant है जोकि सालोंसाल चलते हैं। कोलियस प्लांट का बोटैनिकल नाम Coleus scutellarioides है। यह पौधा 1-3 फुट की ऊंचाई तक बढ़ता देखा गया है। 

कोलियस का पौधा – Coleus plant in hindi

कोलियस रंग-बिरंगी, सुंदर पत्तियों वाला पौधा है जोकि साल भर हरा-भरा रहता है। कोलियस (Coleus plant) की 1 दर्जन से ज्यादा प्रजातियाँ (varieties) पाई जाती हैं जिनकी पत्तियाँ कई अलग-अलग रंगों, पैटर्न, साइज़ में होती हैं। यह एक लो-मेंटीनेंस वाला पौधा है जिसे बहुत देखभाल की जरूरत नहीं पड़ती। इसे किसी भी जगह, किसी भी मौसम में लगाया जा सकता है।

मिट्टी और खाद – अगर आपके यहाँ की मिट्टी उपजाऊ (Fertile) है तो कोलियस को किसी खाद की जरूरत नहीं है। अगर मिट्टी सही नहीं है तो मिट्टी में 25% गोबर खाद या वर्मी कंपोस्ट मिक्स कर दें। कोलियस को लगाने के लिए ऐसी मिट्टी चाहिए जिसमें पानी न रुके। इसलिए गमले की मिट्टी में 25% कोकोपीट या बालू होनी चाहिए और गमले में नीचे से एक्स्ट्रा पानी निकलने का छेद भी हो। महीने में एक बार 1/2 चम्मच NPK खाद पानी में मिलाकर डाल सकते हैं।

पढ़ें> गमले में कोकोपीट मिलाने के फायदे व कैसे बनाए 

कोलियस का पौधा कैसे लगायें – Grow Coleus plant in hindi

कोलियस प्लांट लगाने के 2 तरीके हैं। कोलियस के पुराने पौधे से कलम काटकर लगाना या कोलियस के फूल के बीज बोकर नया पौधा तैयार करना। आइए दोनों तरीकों के बारे में जानते हैं। 

types of coleus plant in hindi
कोलियस की प्रजातियाँ

कोलियस की कटिंग (कलम) लगाने का तरीका –

कोलियस के किसी पौधे से 5-6 इंच लंबी टहनी काट लें। इस कलम में नीचे की पत्तियां तोड़ दें और ऊपर की टिप, 2-3 पत्तियाँ रहने दें। कोलियस की कटिंग को किसी rooting compound में डुबायें। अगर रूटिंग कम्पाउन्ड नहीं है तो 1 लीटर पानी में 2-3 चम्मच सिरका या एप्सम साल्ट मिलाकर तैयार किए घोल में कलम का कटा हुआ सिरा डुबा दें। फिर इसे निकालकर गमले में लगाकर पानी छिड़क दें। इस गमले को रोशनीदार लेकिन छाँव वाली जगह पर रख दें। 1-2 हफ्ते में इससे नई जड़ें निकलने लगेंगी। गमले में मिट्टी नम रहे बस इतना पानी रोज डालते रहें।

पढ़ें> पौधों में एप्सम साल्ट डालने के फायदे व सही तरीका

कोलियस के बीज से पौधा तैयार करना –

ऊपर बताये गए तरीके से मिट्टी तैयार करके गमले में भरें और पानी छिड़क दें। अब इसमें कोलियस के बीज फैला दें, दबाने की जरूरत नहीं है। बीजों के ऊपर से मिट्टी की एक पतली परत बिछा दें। इस गमले को किसी रोशनी वाली गर्म जगह पर रख दें। बीजों को अंकुरित होने में 2 हफ्ते तक लग सकते हैं। पौधे में 1-2 दिन के अंतर पर थोड़ा पानी डालते रहें। जब बीज से 2 पत्तियों का जोड़ा निकलने लगे तो पौधे को सावधानीपूर्वक जड़ सहित मिट्टी से निकालकर किसी मीडियम साइज़ के गमले में लगा दें। अगले 30-45 दिन में कोलियस एक बड़े पौधे में ग्रोथ कर जाएगा।

कोलियस प्लांट की देखभाल कैसे करे – Coleus plant care in hindi 

अब हम जानेंगे कोलियस के पौधे की केयर के कुछ आसान नियम जिससे पौधे में अच्छी बढ़त हो व पौधा स्वस्थ रहे। 

कोलियस में घनी पत्तियां लाने के लिए – कोलियस के पौधे में सबसे ऊपर निकली छोटी पत्तियों वाली टिप को तोड़ (Pinching) देना चाहिए। इसके लिए कम से कम पौधा 6-8 इंच का हो जाए, उसके बाद ही ऐसा करना चाहिए। पौधे की टिप को तोड़ देने से पौधे में नीचे नई-नई पत्तियाँ निकलने लगती है और पौधा घना होने लगता है। इसी तरह जब पौधे में फूल निकलने से पहले लंबा तना आने लगे तो उसे भी तोड़ देना चाहिए।

धूप – कोलियस के पौधे को सीधी धूप की जरूरत नहीं है, इसे ऐसी जगह रखें जहां दिन के कुछ घंटे धूप आती हो। पूरे दिन भर धूप में रहने से इसकी पत्तियों का सुंदर रंग हल्का पड़ने लगता है। यह पौधा आमतौर पर 6 इंच से 2.5-3 फीट की ऊंचाई तक बढ़ते हैं। ये पौधा सालों-साल चलता रहता है।

पढ़ें> ज़ीज़ी प्लांट का पौधा कैसे लगाए व केयर करे

फूल – कोलियस में छोटे-छोटे फूल भी निकलते हैं, जिन्हे तोड़ देना चाहिए। फूल तोड़ने से पौधे की एनर्जी नई पत्तियों को पैदा करने में लगती है। कोलियस के फूल देखने में कुछ खास नहीं होते और फूल नहीं तोड़ने से कोलियस की ग्रोथ रुकती है।

पानी की जरूरत – कोलियस को नमी पसंद है इसलिए रोज थोड़ा सा पानी डालते रहें लेकिन ज्यादा पानी नहीं देना है। पौधे में नमी मेन्टेन करने के लिए मल्च भी डाला जा सकता है। पौधे में Underwatering/Overwatering दोनों नहीं होना चाहिए।

हम आशा करते हैं कि आपको कोलियस का पौधा (Coleus plant in hindi) के बारे में जानकारी पसंद आई होगी। आप यह पोस्ट अपने बागवानी प्रेमी मित्रों/परिचितों को व्हाट्सप्प शेयर करके जरूर बताएं, जिससे वो भी इस लेख को पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें> 

गिलोय का पौधा लगाने का तरीका व फायदे 

स्नेक प्लांट लगाने का तरीका व फायदे

रातरानी का पौधा लगाने का तरीका व फायदे 

गमले में लगाए ये 9 लो-मेंटीनेंस प्लांट 

source : https://www.thespruce.com/how-to-grow-coleus-plants-1402921

ये लेख दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।

Leave a Comment