एरिका पाम कैसे लगाएं व देखभाल करें | Areca Palm in hindi

आपने भी लोगों के घर, ऑफिस, होटल, मॉल में एरिका पाम का पौधा (Areca Palm) जरूर नोटिस किया होगा। एरिका पाम एक खूबसूरत पौधा Ornamental Plant है जोकि ज्यादातर लोगों की पहली पसंद होता है। एरिका पाम लगाने से कई फायदे भी हैं। यह आसानी से लग जाता है और कोई खास केयर की जरूरत भी नही होती। आइए जाने एरेका पाम का पौधा कैसे लगाए।

एरिका पाम ट्री | Areca palm tree in hindi

एरिका पाम का पौधा एक अच्छा Indoor Plant है जिसकी पंख जैसी फैली हुई पतली, लंबी पत्तियाँ घर की शोभा बढ़ाती हैं। यह ट्रॉपिकल प्लांट मुख्यतः अफ्रीका के Madagascar देश का पौधा है। एरेका पाम को गोल्डन केन पाम, बैम्बू पाम, बटरफ्लाई पाम, Feather Palm भी कहते हैं। एरेका पाम का बोटैनिकल नाम Dypsis lutescens है।

घर के बाहर लगाने पर एरेका पाम 7-10 फुट तक ऊंचा हो सकता है लेकिन घर के अंदर लगे हुए अरेका पाम प्लांट 5-6 फुट तक बढ़ते हैं। इसकी पत्तियाँ 4-5 फुट लंबी होती हैं। हर एक साल में ये पौधे 6-8 इंच बढ़ जाते हैं। धूप में रखे हुए एरेका पाम की पत्तियाँ पीली-हरी सी होने लगती हैं मगर आंशिक छाया (Partial Shade) या इनडोर रखने पर इसका हरा रंग फिर से वापस आने लगता है।

एरेका पाम के पुराने पौधों में हल्के पीले-सफेद रंग के फूल निकलते हैं जोकि देखने में कुछ खास नहीं होते। साल भर में 1-2 बार इस पौधे पर बेर साइज़ के फल भी लगते हैं जोकि पहले पीले होते हैं लेकिन बाद में डार्क बैगनी या काले रंग के हो जाते हैं। एरेका पाम की ही एक प्रजाति पर सुपाड़ी (Areca Nut) पैदा होता है, जिसे भारत में पान में डालकर खाया जाता है। दुनिया भर में एरेका पाम की 50 से ज्यादा किस्में पाई जाती हैं।

Areca Palm kaise lagaye
एरेका पाम का पौधा – Good Indoor Plant

एरेका पाम का पौधा लगाने के फायदे | Areca Palm Benefits in hindi 

1) NASA की Clean Air Study में एरेका पाम को 10 सबसे बेस्ट हवा साफ करने वाले पौधे की लिस्ट में जगह दी गयी है। यह घर की हवा से जहरीले-विषैले तत्व जैसे फार्मेल्डीहाइड, ज़ाईलीन, टोल्युईन, एसीटोन, कार्बन डाईआक्साइड गैस सोखता है और शुद्ध ऑक्सीजन देता है जोकि शारीरिक, मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

2) एरेका पाम एक अच्छा Humidifier भी है जोकि घर की हवा से रूखापन (air dryness) कम करने में मदद करता है। इसकी वजह से सांस लेने की समस्याएं जैसे अस्थमा (दमा), ऐलर्जी, ब्रॉनकाइटिस आदि में आराम मिलता है। एक बड़ा एरेका पाम का पौधा 24 घंटे में लगभग 1 लीटर पानी जितना Mist पैदा करता है।

3) यूनिवर्सिटी ऑफ वेरमॉन्ट की एक स्टडी के अनुसार एरेका पाम का पौधा अपने आस-पास रखने से डिप्रेशन, Anxiety (उलझन, बेचैनी), थकावट कम महसूस होती है। इस तरह एरेका पाम आपकी पाज़िटिविटी और कार्यक्षमता (Productivity) बढ़ाने का काम करता है।

एरिका पाम पौधा लगाने के फायदे | Areca Palm Vastu Benefits in hindi

एरिका पाम एक भाग्यशाली पौधा होता है। Feng Shui और वास्तु के अनुसार एरिका पाम का पौधा लगाने से घर का माहौल अच्छा होता है व सुख-शांति, समृद्धि आती है। एरिका पाम से दिमागी उलझन, नकारात्मकता दूर होती है व कार्यक्षमता (Productivity) बढ़ती है। एरिका पाम को घर में पूर्व, दक्षिण-पूर्व, उत्तर दिशा में रखने से लाभ होता है।

पढ़ें> घर की हवा शुद्ध करने वाले 27 पौधे जानें

एरेका पाम कैसे लगाएं | How to grow Areca Palm plant in hindi

एरेका पाम लगाने के लिए साधारण मिट्टी, बलुई मिट्टी (Loamy soil) सही होती है। एरेका पाम को गमले में लगाना है तो बड़े साइज़ का गमला लें क्योंकि यह 1-2 साल में फैलकर बड़ा हो जाता है। गमले में लगाने के लिए 50%साधारण मिट्टी + 30% बालू या कोकोपीट+ 20% जैविक खाद मिलाएं, इससे एक्स्ट्रा पानी नहीं रुकता और पौधे को नमी भी मिलती है।

एरेका पाम का नया पौधा नर्सरी से खरीदें या किसी पुराने एरेका पाम के पौधे से नया पौधा तैयार कर सकते हैं। एरेका पाम के पुराने पौधे को जड़ सहित निकालकर धीरे-धीरे झाड़ लें, फिर जड़ को 2-3 भाग में पत्तियों सहित अलग कर लें। इसके हर भाग को अलग-अलग लगाया जा सकता है। अलग किए गए हिस्से की जड़ को पानी भरे बाल्टी/बर्तन में 1 घंटे डुबाकर रखें,  इसके बाद नए गमले में लगा सकते हैं। नया पौधा लगाकर तुरंत पानी दें।

एरेका पाम के बीज बोकर भी नया पौधा तैयार कर सकते हैं, नर्सरी आदि में बीज से नया पौधा तैयार किया जाता है। आप किसी नर्सरी या ऑनलाइन बीज खरीद सकते हैं। बीज लाकर 24 घंटे पानी में भीगने दें। इसके बाद जमीन में 1 इंच गहराई में बीज बो दीजिए। गमले को बाहर किसी छाँव वाली जगह रखें जहां रोशनी हो लेकिन सीधी धूप न मिले। 4-6 हफ्ते में एरेका पाम के बीज अंकुरित होकर निकल आयेंगे।

Areca palm care in hindi
Areca Palm Tree Care कैसे करे

एरिका पाम की देखभाल कैसे करें | Areca Palm Care in hindi

एरेका पाम को अच्छा लुक देने के लिए मिट्टी के पास वाली सूखी पत्तियाँ तोड़ दें, इससे तना दिखने लगता है और ऊपर की पत्तियाँ भी अच्छी आती हैं। यह उपाय पौधे को फंगस, कीड़े लगने से भी बचाता है।

धूप – इस पौधे को तेज रोशनी पसंद है लेकिन सीधे धूप में रखने से इसकी पत्तियाँ पीली पड़ने लगती हैं। इसलिए एरेका पाम को ऐसी जगह रखें जहां सूरज की तीखी धूप दिन भर न लगे यानि Indirect Sunlight मिले। आप इसे कोई छाँव वाली जगह, कमरे में खिड़की के पास, पोर्च के नीचे, Patio, घर के अंदर तेज रोशनी वाली जगह रख सकते हैं। अगर बाहर रखना है तो ऐसी जगह रखें जहां दिन भर में 4-5 घंटे ही धूप लगे।

सिंचाई – एरेका पाम एक Tropical plant है, अतः इसे नमी पसंद है लेकिन जरूरत से ज्यादा पानी देना नुकसानदायक हो सकता है। जब एरेका पाम के गमले की मिट्टी छूने में कुछ सूखी लगे तो ही पानी डालें। अगर एरेका पाम का गमला घर के अंदर रख रहे हैं तो हर 2-3 दिन और यदि बाहर रखें तो 1-2 दिन में गमले में पानी डालें।

हफ्ते में 1-2 बार पौधे पर पानी स्प्रे भी कर सकते हैं, इससे पत्ती पर मिट्टी नहीं जमेगी और पौधे को जरूर नमी भी मिल जाएगी। ठंड के मौसम में हफ्ते में 1-2 बार मिट्टी देखकर सिंचाई करें। गमले में एरेका पाम लगाते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें कि गमले में नीचे छेद (Drainage hole) हो जिससे गमले में पानी रुककर पौधे की जड़ों को खराब न करे।

पढ़ें> वास्तु के अनुसार घर में लगाने के 15 शुभ पौधे

नए गमले में ट्रांसफ़र करें (Repotting) – हर 2-3 साल में एरेका पाम का पौधा इतना फैल जाता है कि गमला छोटा पड़ने लगता है। इसके लक्षण यह हैं कि जड़ के पास पौधा बहुत घना हो जाता है और पत्तियाँ पीली पड़ने लगती हैं। इसका मतलब पौधे की जड़ों को फैलने की जगह नहीं मिल रही है। इसके 2 उपाय हैं कि या तो एरेका पाम को किसी बड़े गमले में लगाएं या फिर एरेका पाम के पुराने पौधे को निकालकर जड़ों को अलग करके (Divide) 2-3 नए पौधे बनाकर लगायें।

खाद – एरेका पाम प्राकृतिक रूप से एक Slow grower पौधा है यानि यह धीरे-धीरे बढ़ता है। इसलिए पौधे में खाद का प्रयोग करने से ग्रोथ कुछ तेज होती है। गर्मी और वर्षा का सीजन इसके ग्रोथ का मौसम है, इस मौसम में अवश्य खाद डालें। एरेका पाम में महीने में 1 बार कोई जैविक खाद डालें या 1/2 चम्मच NPK खाद को 1 लीटर पानी में घोलकर डालें।

आप कोई लिक्विड खाद जैसे सीवीड फर्टिलाइजर 10ml को 2 लीटर पानी में घोलकर पत्तियों पर स्प्रे भी कर सकते हैं। ठंड के मौसम में खाद देने की जरूरत नहीं है। खाद के उपयोग से एरेका पाम में बढ़िया हरे रंग की पत्तियाँ निकलती हैं और पौधे की सुंदरता बरकरार रहती है।

रोग और कीट – अगर एरिका पाम प्लांट की (Leaf tips) पत्तियों के सिरे ब्राउन रंग के दिखे तो इसका मतलब है पौधे को Dryness की समस्या है (रूखी हवा या कम पानी की वजह से)। इसे ठीक करने के लिए आपको पौधे को नमी (Humidity) देने का उपाय करना पड़ता है। जब पौधे में पानी डालें तो पूरे पौधे में पानी स्प्रे करें या पौधे को किसी नमी वाली जगह शिफ्ट कर दें।

अगर पौधे में मिलीबग्स या स्पाइडर माइट्स की समस्या हो तो 2-3 लीटर पानी में 1 चम्मच कोई डिटर्जन्ट मिलाकर पूरे पौधे को स्प्रे कर दें या इस पानी में सॉफ्ट कपड़ा भिगोकर पत्तियाँ पोंछ दें। एरेका पाम में ज्यादा पानी देने से Root rot की समस्या होती है, इसलिए बिना जरूरत सिंचाई न करें।

एरिका पाम प्लांट से जुड़े अपने सभी प्रश्न, अनुभव नीचे कमेन्ट करें। Areca Palm ka Paudha के बारे में जानकारी अपने बागवानी के शौकीन मित्र, परिचितों को व्हाट्सप्प शेयर जरूर करें, जिससे वो भी इस खूबसूरत पौधे के बारे में पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें >

स्नेक प्लांट लगाने के फायदे और कैसे लगाए 

जीजी प्लांट कैसे लगाए व फायदे

जेड प्लांट के फायदे और कैसे लगाए

सिंगोनियम प्लांट के फायदे और कैसे लगाए

sources :

https://homeguides.sfgate.com/areca-palm-tree-39327.html
https://www.thespruce.com/grow-areca-palms-indoors-1902876
https://www.gardeningknowhow.com/houseplants/areca-palm/growing-areca-palm-indoors.htm
https://en.wikipedia.org/wiki/NASA_Clean_Air_Study
http://pss.uvm.edu/ppp/articles/healthyin.html

Share on WhatsApp

14 thoughts on “एरिका पाम कैसे लगाएं व देखभाल करें | Areca Palm in hindi”

    • पौधे को धूप वाली जगह रखें, पानी कम दें। कोई भी खाद नहीं देना है। प्लांट का जो भाग dead हो गया हो उसे अलग कर दें। गमले की मिट्टी को उस लेवल पर रखें जिस पर आपको पौधे की जड़ और तना मिलते हुए दिखाई दे। इतना करके 15-20 दिन wait करे।

      Reply
  1. क्या एरिका पाम को छत पर लगाना चाहिए
    तेज धूप सहन कर सकता हैं।

    Reply
    • ऐसी जगह रखें जहां कुछ घंटे की धूप मिले और बाकी छाँव रहे। जैसे किसी दीवार के पास, पोर्च के नीचे आदि। बहुत तेज धूप या दिन भर की सीधी धूप से पत्तियाँ झुलस सकती हैं।

      Reply
    • Overwatering. Pani jyada de rahe hai shayad aap. Jab tak gamle ki mitti chhune me dry na lage, pani na de. Jab pani de to bahut jyada na de, mitti nam ho jaye bas itna de yani karib 1/2 mug.

      Reply
  2. Meri areca palm jyda pani k vjh se uski roots and plant dono hi khraab ho gya hai, leaves b puri brown hi gyi ..bt abhi b kuch prcnt shi hai..puri trh nhi khraab hua hai . Kya kre.plz suggest me.

    Reply
    • Jo leaves kharab ho chuki, usko hata de. plant ko gamle se nikal kar gali hui roots (rotten roots) tod de. Gamle ki mitti change kare aur thoda sa pani dalkar aisi jagah rakh de, jahan seedhi dhoop na ati ho lekin indoor na ho (like porch ke niche). Dead leaves aur dead roots plant ki energy ko waste karte hai, islye unhe hata dena chahiye.

      Reply
    • Indirect Sunlight mile aisi jagah rakhe, Matlab 2-3 ghante se jyada ki dhoop na mile ya jaha sunlight ki wajah se roshni ho. Iske alawa Post me dekhiye likha bhi hai ki Mitti chhune me sukhi lage, tabhi pani dena hai. Bina jarurat pani dene se nuksan hai. Sukhe patte tod de ya Patti ka dry part tod de.

      Reply
  3. मैं अभी नया एरिका पाम लगाया है अपने घर के हाल में उसे धुप नहीं मिल पायेगी तो बताइए क्या एरिका पाम पौधा खराब हो जायेगा।

    Reply
    • क्या हॉल में नेचुरल लाइट आती है ? यानि बिजली की रोशनी बंद कर देने पर धूप की रोशनी से कमरे में प्रकाश रहता है ? अगर हाँ तो आपका पौधा चल जाएगा। वैसे हो सके तो किसी खिड़की के पास रखें, जहाँ से indirect sunlight मिल सके। इस बात का खास ख्याल रखें कि पानी तभी देना है, जब उंगली को मिट्टी में 1/2 इंच दबाने पर सूखी लगे। गमले से एक्स्ट्रा पानी निकलने के लिए नीचे छेद भी होना चाहिए। गमले में पानी रुकेगा तो जड़ खराब हो सकती है जोकि पौधा खराब होने का बड़ा कारण हो सकता है।

      Reply

Leave a Comment