अन्तरिक्ष में अन्तरिक्षयात्री अक्सर हाथ बांधे क्यों नज़र आते हैं ? | Astronauts Hands

हमने टीवी, मैगज़ीन में अंतरिक्षयात्री की कई फोटोज़, लाइव विडियो देखे होंगे. आपने गौर किया होगा कि अक्सर Astronauts  हाथ बांधे (Folded Hands) हुए नजर आते हैं. हमें ऐसा लग सकता है कि वो अपना जोश और आत्मविश्वास दिखाने के लिए ऐसा करते हों पर असलियत कुछ और ही होती है.

अंतरिक्षयात्री स्कॉट केली
फोटो स्रोत: स्कॉट केली स्पेसक्राफ्ट में

23 जनवरी को Reditt वेबसाइट के AMA( Ask Me Anything) कार्यक्रम के दौरान reddit के यूजर Doug Lee ने यही सवाल Scott Kelly से यही सवाल पूछा. Scott Kelly एक अमेरिकन अंतरिक्षयात्री हैं. हाल ही में उन्होंने अपना 300वां दिन अंतरिक्ष में बिताया. Scott Kelly ऐसे पहले अमेरिकन अंतरिक्षयात्री बन गए हैं जिन्होंने लगातार एक साल से ज्यादा समय अन्तरिक्ष में बिताया.

जवाब में Scott Kelly ने जो बताया वह इस प्रकार है अन्तरिक्ष में अपने हाथ मोड़ने का एक खास कारण होता है. आप अपने हाथ अपने साइड में नहीं रख सकते जिस प्रकार कि हम पृथ्वी पर रखते हैं. कारण हैं गुरुत्वाकर्षण शक्ति का न होना. इसलिए अगर आप अपने हाथ मोड़ कर न रखे तो वो इधर उधर हिलते रहते हैं. चूंकि ऐसा बड़ा ही असुविधाजनक होता है अतः हाथ मोड़ कर रखना ही सबसे आसान तरीका है.

astronauts folding arms
फोटो स्रोत

Scott Kelly ने कहा ‘मुझे बड़ा अजीब लगता है जब मेरे हाथ मेरे आगे Frankestein के जैसे तैरते रहते हैं. इसलिए मैं हाथ मोड़े (Folded Hands) रखता हूँ और सोते समय भी हाथों को स्लीपिंग बैग के अन्दर रखता हूँ.

इस छोटी सी बात से आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि अंतरिक्षयात्री स्पेस में किस प्रकार जीवन व्यतीत करते हैं, जहाँ उन्हें इस प्रकार की कई छोटी बड़ी समस्याओं का सामना उन्हें करना पड़ता हैं.

अच्छा आपने वो कहानी तो जरुर सुनी ही होगी कि जब अमेरिकी अंतरिक्षयात्रियो को पता चला कि स्पेस में पेन से लिखना संभव नहीं है तो NASA ने मिलियन डॉलर्स खर्च करके एंटी-ग्रेविटी पेन बनाई, जबकि सोवियत अंतरिक्षयात्रियो ने इसके उलट पेंसिल से ही लिख कर अपना काम चला लिया. यह कहानी हम सबने कभी न कभी जरुर फेसबुक / व्हट्सएप पर शेयर / फॉरवर्ड की होगी पर असल में यह कहानी बस एक मिथक है इसका वास्तविकता से कोई सम्बन्ध नहीं है.

 

Comments are closed.