साइप्रस बेल की सुंदर लता कैसे लगाये व केयर करे | Cypress Vine in hindi

साइप्रस बेल का पौधा – साइप्रस बेल एक लता का पौधा है जिसमें स्टार शेप के लाल, सफेद या गुलाबी रंग के छोटे-छोटे फूल और पतली पत्तियाँ होती हैं। साइप्रस वाइन के लाल फूल और फ़र्न जैसी दिखने वाली हल्के हरे रंग की पत्तियाँ बहुत अच्छा लुक देती हैं। आइए साइप्रस वाइन लगाने और केयर करने का तरीका जानते हैं। 

साइप्रस वाइन की लता (गणेश बेल का पौधा) – Cypress vine in hindi

साइप्रस वाइन देखने में बहुत सुंदर लगती है और घर की छत, बॉउन्ड्री (fence), बालकनी या सीढ़ी की रेलिंग पर चढ़ाने के लिए बहुत सही है। इसके फूल 1-2 इंच लंबे, पत्तियाँ 1-4 इंच लंबी सींक (needle) जैसी होती हैं। साइप्रस वाइन को हिन्दी में कामलता, कुंजलता, तरुलता, गणेश बेल का पौधा भी कहा जाता है। साइप्रस वाइन का बोटैनिकल नाम Ipomoea quamoclit है। इस लता के अन्य नाम Star glory, Cardinal creeper, Cardinal vine, Hummingbird vine भी है।

आमतौर पर यह बेल 6 से 15 फुट की ऊंचाई तक बढ़ती देखी गई है। इसे बढ़ने के लिए किसी सहारे की जरूरत पड़ती है, आप इसकी लता को को डोरी बांधकर भी ऊपर चढ़ा सकते हैं। यह लता साल भर हरी-भरी रहती है और गर्मियों के मौसम में इसपर सुंदर फूल निकलते हैं। ये फूल जून से अक्टूबर-नवंबर के महीने तक लगते रहते हैं।

साइप्रस वाइन कैसे लगायें – Grow cypress vine in hindi

इसे लगाने के लिए गर्मी और वर्षा का मौसम सही होता है। साइप्रस वाइन के बीज से नया पौधा तैयार किया जाता है। फूल आने के सीजन के दौरान लगायें तो साइप्रस वाइन (गणेश बेल का पौधा) लगाने के 30-40 दिन बाद फूल देना शुरू कर देता है। इस बेल को लगाने के लिए गमले में 50% साधारण मिट्टी + 25% बालू या कोकोपीट + 25% गोबर खाद या वर्मी काम्पोस्ट (जैविक खाद) होनी चाहिए।

साइप्रस वाइन का पौधा
साइप्रस वाइन की लता

साइप्रस वाइन के बीज बोने से 24 घंटे पहले किसी भीगे हुए कपड़े या गीले टिशू पेपर में रखें। इसके बाद बीज को गमले में फैलाकर 1-2 सेंटीमीटर दबा दें और ऊपर से मिट्टी की पतली परत बिछा दें। इसके बाद पानी का छिड़काव कर दें। गमले को किसी छाया वाली गर्म जगह पर रख दें और दिन में एक बार बस इतना पानी डाले जिससे कि मिट्टी न सूखे और हल्की नमी बनी रहे। 5-7 दिन में बीज अंकुरित हो जायेंगे। जब साइप्रस वाइन के पौधे 5-6 इंच के हो जाएं तो इसे किसी बड़े गमले में शिफ्ट कर सकते हैं।

आप चाहें तो प्लास्टिक के डिस्पोज़बल ग्लास में मिट्टी और कोकोपीट मिक्स (या केवल कोकोपीट) भरकर उसमें भी साइप्रस वाइन के बीज अंकुरित करने के लिए लगा सकते हैं। प्लास्टिक ग्लास की तली में छोटे-छोटे 6-7 छेद कर दें जिससे फालतू पानी न रुके। अब इसमें कोकोपीट मिक्स या कोकोपीट भरें और पानी डालकर गीला कर लें। अब इस गिलास में साइप्रस वाइन के 24 घंटा भीगे हुए बीज बो दें। 4-5 दिन में बीज अंकुरित होकर दिखने लगेंगे।

पढ़ें> मधुमालती की लता कैसे लगाए व केयर करें 

साइप्रस वाइन की केयर कैसे करे – Cypress vine care in hindi

छँटाई – साइप्रस वाइन बहुत तेजी से बढ़ती और फैलती है। अगर आपने इसे जमीन पर लगाया है तो कुछ महीनों में इसकी अनावश्यक फैली लताओं की छंटाई कर सकते हैं।

पानी – इसे बहुत ज्यादा पानी की जरूरत नहीं है लेकिन गमले की मिट्टी में कुछ नमी बनी रहनी चाहिए। इसे 1-2 दिन में थोड़ा पानी देते रहें। पौधे की मिट्टी में नमी मेन्टेन रखने के लिए आप जड़ के पास Mulch डाल दें या गमले की मिट्टी में कोकोपीट मिक्स कर सकते हैं। इसकी जड़ों में रुका हुआ पानी नहीं रहना चाहिए। साइप्रस वाइन को नमी चाहिए लेकिन फालतू पानी देने से पौधा खराब होने लगेगा। गमले में लगायें तो अनावश्यक पानी निकलने का छेद जरूर होना चाहिए।

खाद – इस पौधे में खाद डालने की जरूरत नहीं होती। अगर पौधा लगाते समय मिट्टी में काम्पोस्ट खाद, जैविक खाद मिक्स की गई है तो बाद में खाद की आवश्यकता नहीं है। आप चाहें तो इस बेल की अच्छी बढ़त के लिए महीने में 1 बार 1 मग पानी में 1 छोटा चम्मच NPK खाद (जैसे 20-20-20 NPK) मिलाकर डाल सकते हैं। अगर पौधे की ग्रोथ रुक गई है तो साल भर में 1 बार गमले की मिट्टी बदल दें। अगर ये लता जमीन में लगायें तो साल भर में एक बार कोई भी जैविक खाद जड़ों के पास की मिट्टी में मिक्स कर करें।

पढ़ें> गिलोय की लता कैसे लगाए व केयर करें 

धूप – इस पौधे को धूप पसंद है, आप इस लता को कोई भी ऐसी जगह लगा सकते हैं जहाँ कुछ घंटे धूप आती हो। इसकी बढ़ती हुई लता को ऐसी दिशा मिलनी चाहिए जहां से इसे धूप मिलती रहे। अच्छी धूप मिलने से साइप्रस वाइन की लता फलती-फूलती है।

साइप्रस वाइन या गणेश बेल के पौधे की जानकारी से जुड़ा कोई सवाल या अनुभव नीचे कमेन्ट करें। साइप्रस वाइन कैसे लगाये पर यह लेख अपने मित्र, परिचितों के साथ जरूर व्हाट्सप्प शेयर करें जिससे अन्य लोग भी इस जानकारी को पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें >

सफेद आक का पौधा कैसे लगाए व केयर करें

जीजी प्लांट कैसे लगाए व केयर करें

पोर्टुलाका का पौधा कैसे लगाए व केयर करे

जेड प्लांट कैसे लगाए व केयर करें

source : https://en.wikipedia.org/wiki/Ipomoea_quamoclit

ये पोस्ट दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।

Leave a Comment