चुकंदर जूस के फायदे खून बढ़ाए दिमाग तेज करे

सुबह नाश्ते के साथ एक कप चुकंदर का जूस (Beetroot juice) या एक गिलास चुकंदर स्मूदी पीना दिन भर एनर्जी लेवल बनाए रखता है और न्यूट्रीशन भी मिलता है। हर उम्र के स्त्री-पुरुष, बच्चे और जिम करने, ऐक्टिव लाइफस्टाइल वाले लोगों को चुकंदर का जूस जरूर पीना चाहिए।

चुकंदर जूस के फायदे और बनाने का तरीका – Chukandar juice benefits in hindi 

एक कप चुकंदर जूस में 2.8 ग्राम प्रोटीन, 0.3 ग्राम फैट, 4.2 ग्राम फाइबर, 23 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 98 कैलोरी एनर्जी होती है।चुकंदर को इंग्लिश में Beetroot कहते हैं।

शरीर में रक्त संचार (Blood circulation) बढ़ाए – चुकंदर की ये ऐसी खासियत है जोकि कई तरह से फायदा देती है। अगर शरीर के हर हिस्से में खून का दौरा सही से होगा तो हर भाग को आक्सिजन मिलेगी और वो अंग स्वस्थ होगा। चाहे आपका दिमाग हो, स्किन हो या प्रजनन अंग।

चुकंदर जूस से दिमाग तेज बनता है और सेक्शुअल हेल्थ भी अच्छी होती है। चुकंदर हॉर्मोनल बैलन्स मेन्टेन करता है। चुकंदर की ये खासियत उसमें पाए जाने वाले भरपूर नाइट्रैट की वजह से होती है। चुकंदर का नाइट्रैट शरीर में आने के बाद नाइट्रिक आक्साइड बनाता है, जोकि ब्लड सर्कुलेशन बढ़िया करता है।

chukandar ka ras ke fayde

शरीर में लोहे (Iron) की कमी दूर करे और एनीमिया ठीक करे

औरतों में अक्सर ही देखा गया है कि पीरियड या मेनोपाज़ की वजह से खून की कमी हो जाती है जिससे थकान, चक्कर आना, सिरदर्द, सांस फूलना, कमजोरी, चेहरे का रंग उड़ना, मूड सही न रहना जैसी दिक्कतें होती हैं।

कई रोगों से भी शरीर का खून कम हो जाता है जिसे चुकंदर का रस पीकर ठीक किया जा सकता है। रोगी आदमी को चुकंदर जूस दिया जाता है जिससे खून की कमी पूरी हो सके।

स्किन प्रॉब्लम दूर करे और चेहरे में ग्लो लाए

अगर आप एक महीने तक रोजाना चुकंदर का जूस पीते हैं तो आपको देखने वाला हर कोई फर्क महसूस करेगा। चुकंदर जूस खून साफ करता है जिससे यह झुर्रियाँ ठीक करे और नई हेल्दी स्किन बनाने का काम भी करता है।

चुकंदर में Folate होते हैं जोकि एंटी-एजिंग के लिए बहुत बढ़िया काम करता है। चुकंदर जूस (Beetroot juice) स्किन की समस्याओं जैसे डार्क स्पॉट, कॉम्प्लेक्शन बराबर न होना, दाग-धब्बे, ड्राइनेस में फायदेमंद है।

पढ़ें> अखरोट के 9 अचूक फायदे दिमाग और सेहत सुधारे

स्टैमिना बढ़ाता है चुकंदर

हर रोज एक ग्लास चुकंदर का रस पीना आपका शारीरिक दमखम (Stamina) बढ़ाता है। चूंकि चुकंदर जूस शरीर में ऑक्सीजन लेवल सही करता है इसलिए एक्सरसाइज़ या फिज़िकल ऐक्टिविटी के दौरान शरीर को बाहर से ऑक्सीजन पूर्ति की कुछ कम जरूरत पड़ती है।

इससे आप जल्दी नहीं थकते। पूरे दिन भर एनर्जी बनी रहती है और आप लंबी workout भी कर पाएंगे।

चुकंदर जूस के बारे में एक खास बात

चुकंदर रस फिज़िकल परफॉरमेंस को बूस्ट करता है, यह बात साइंटिफिक स्टडी से सिद्ध हो चुकी है। इस फैक्ट से आज दुनियाभर के कई खिलाड़ी लाभ ले रहे हैं। Study के दौरान प्रोफेशनल साइक्लिस्ट को 2 कप चुकंदर जूस पीने को दिया गया, उसके बाद 10 किलोमीटर के ट्रायल रन का परिणाम देखा गया।

नतीजा जबर्दस्त था, करीब 12 सेकंड टाइम इम्प्रूवमेंट मिला और थकान भी कम थी। आपको लग सकता है कि 12 सेकंड तो कुछ भी नहीं होते लेकिन एक प्रोफेशनल गेम में टॉप प्लेयर्स के परफॉरमेंस में 1 सेकंड का अंतर भी बहुत ज्यादा महत्व रखता है।

चुकंदर में क्या होता है – Chukandar ke fayde 

बॉडी को सही तरीके से परफॉर्म करने के लिए कुछ खास तत्व जरूरी होते हैं। ये पोषक तत्व शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं, शरीर की टूट-फूट ठीक करते हैं और हड्डी व दांतों को हेल्दी बनाए रखते हैं।

Beetroot juice benefits in hindi

चुकंदर रस (Chukandar ka juice) से हमें कैल्शियम, आयरन, जिंक, सेलेनियम, कॉपर, मैगनिशियम, मैंगनीज, सोडीयम, फॉसफोरस तत्व मिलते हैं जिनके Nutritional benefits इस प्रकार हैं :

  • विटामिन B6 – मेटबॉलिस्म ठीक करे और खून की लाल रक्त कोशिकाएं बनायें
  • कैल्शियम – हड्डियों व दांतों को स्वस्थ रखे और मजबूत बनाए
  • आयरन – खून में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाए
  • मैगनिशियम – इम्यून सिस्टम मजबूत करे और हार्ट, मांसपेशी, तंत्रिका-तंत्र को स्वस्थ करे
  • मैंगनीज – मेटबॉलिस्म और ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करे
  • फॉसफोरस – दांत, हड्डी, कोशिकाओं को रिपेयर करे
  • जिंक – घाव भरे, शरीर में सही वृद्धि करे, इम्यून मजबूत करे
  • कॉपर – कॉलेजन बनाता है जोकि रक्त धमनियाँ, हड्डी बनाए व इम्यून ठीक करने में मदद करे

लिवर की मदद करता है चुकंदर

चुकंदर में Betaine होता है जोकि लिवर के काम को तेज करने में मदद करता है। लिवर शरीर की सफाई करने का काम करता है, शरीर में जमा टॉक्सिन का ओवरलोड लिवर को बीमार कर सकता है।

चुकंदर ऐसा नहीं होने देता क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट खूब होते हैं, साथ ही कई विटामिन B, कैल्शियम, आयरन और बीटाइन भी हैं।

कैसे चुकंदर कैंसर से बचाव में मदद करता है

गाढ़ा लाल रंग चुकंदर को Betalaines से मिलता है। बीटालाइंस पानी में घुलनशील एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जोकि कुछ तरह के Cancer cells और Unstable cells को नष्ट करने का काम करता है।

ब्लड प्रेशर कम करे

चुकंदर का नाइट्रैट शरीर में रिएक्शन के दौरान जो नाइट्रिक आक्साइड बनाता है वो खून की धमनियों के फैलाव (Dilation) का काम भी करता है, जिससे बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर सामान्य होता है।

विटामिन C का अच्छा स्रोत है चुकंदर

इसमें विटामिन सी काफी मात्रा में होता है। विटामिन सी स्किन को युवा बनाता है, घाव जल्दी भरता है, इम्यूनिटी बढ़ाता है और बॉडी को भोजन से आयरन सोखने में मदद करता है।

पढ़ें> मुसम्मी का जूस पीने के 20 फायदे जानें

चुकंदर का जूस बिना Juicer बनाने की विधि – Chukandar ka juice recipe in hindi 

एक दिन में 2 कप जूस या 1 गिलास चुकंदर का रस पीना पर्याप्त है।

कई लोगों को चुकंदर का स्वाद पसंद नहीं आता। इसलिए अगर जूस बनाते समय इसमें चुकंदर के साथ पालक, अदरक, सेब, संतरा, अनानास, नींबू, गाजर, आंवला, धनिया, पुदीना, थोड़ा सा काला नमक या काली मिर्च जैसी कुछ चीजें मिला ली जाएं तो स्वाद लाजवाब हो जाता है और फायदे भी बढ़ जाते हैं।

अगर आपके पास जूसर नहीं है तो भी आप 3 तरीकों से चुकंदर का जूस बना सकते हैं – 

1) मिक्सी से – ज्यादातर घरों में मिक्सी या मिक्सर होता ही है। आप चुकंदर को धोकर साफ कर लें। फिर किसी चाकू से चुकंदर की बाहरी परत थोड़ा सा घिसकर साफ कर लें। अब चुकंदर के छोटे टुकड़े करके मिक्सी में डाल दें, साथ में 1 ग्लास पानी भी डाल दें। इसे अच्छी तरह 2-3 मिनट पीस लें। अब इसको किसी महीन छन्नी या साफ सूती/मलमल के कपड़े से छान लें। चुकंदर का जूस तैयार है। बचे हुए रेशों को रोटी के आटे के साथ मिलाकर रोटियाँ बना सकते हैं या पौधों में खाद के रूप में डाल सकते हैं। 

2) चुकंदर घिसकर – किसी कद्दूकस में चुकंदर को घिस लीजिए। इसे घिसे हुए चुकंदर को 1 ग्लास पानी में डालकर अच्छी तरह चला दीजिए और 5-10 मिनट रख दीजिए। टाइम बीतने के बाद इसे कपड़े या छन्नी की मदद से छान कर चुकंदर जूस बन गया। 

3) चुकंदर के चिप्स से – चाकू की मदद से या किसी स्लाइसर से चुकंदर के कुछ चिप्स जैसे काट लें। इसे 1 ग्लास पानी में डालकर चला दें और 2-3 घंटे रख दें। आप देखेंगे कि पानी में चुकंदर का रस मिल रहा है और चुकंदर के चिप्स का रंग हल्का होता जा रहा है। टाइम बीतने के बाद पानी को छानकर रस निकाल लीजिए। बचे हुए चिप्स में दोबारा पानी डालकर रख दीजिए, इस बार बचा हुआ रस चिप्स से पानी में आ जाएगा और चुकंदर के टुकड़े एकदम रंगहीन से हो जाएंगे। 

चुकंदर का जूस किसे नहीं पीना चाहिए

अगर आपको लो-ब्लड प्रेशर की समस्या है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेकर चुकंदर का रस पीना चाहिए।
किडनी स्टोन की समस्या में चुकंदर का जूस नहीं पीना चाहिए।

चुकंदर (Beet) में पाए जाने वाले कुदरती गाढ़े लाल रंग की वजह से कभी-कभी यूरिन और स्टूल का रंग कुछ गुलाबी सा दिखने लगता है लेकिन यह कोई चिंता का विषय नहीं है। इसे लेकर परेशान न हों।

क्या आप चुकंदर के बारे में कोई सवाल पूंछना चाहते हैं तो नीचे कमेन्ट करें, हम आपकी मदद करेंगे। चुकंदर जूस के फायदे Whatsapp, Facebook पर शेयर करें, जिससे और लोग भी यह जानकारी पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें :

प्याज का रस के गजब फायदे बालों के लिए, उपयोग का तरीका जानें

आंवला जूस के फायदे कैसे बाल और पेट को फायदा करता है पढ़ें

देसी घी खाने के 12 गजब तरीके और उनके लाभ

शहद खाने और स्किन पर लगाने के तरीके, उपाय और फायदे

दही खाने और स्किन पर लगाने के तरीके, उपाय और फायदे

ये लेख दोस्तों को Share करे

Leave a Comment