बोस्टन फर्न का पौधा कैसे लगाए व केयर करें | Boston Fern in hindi

फ़र्न दुनिया के सबसे पुराने पौधे हैं। बोस्टन फ़र्न भी फ़र्न की एक प्रजाति है जोकि घर के गमलों, खासकर हैंगिंग बास्केट में बहुत लगाई जाती है। इस Ornamental plant की पत्तियों का धानी-हरा रंग बहुत सुंदर लगता है। बोस्टन फ़र्न का पौधा घर की हवा भी साफ करता है। बोस्टन फ़र्न को Sword Fern भी कहते हैं। इसका बोटैनिकल नाम Nephrolepis Exaltata है।

बोस्टन फ़र्न का पौधा | Boston Fern Plant in hindi

यह पौधा साल भर हरा-भरा रहता है। बोस्टन फ़र्न की ऊंचाई 2-3 फुट तक होती है। बोस्टन फ़र्न घर के अंदर (Indoor) और बाहर दोनों जगह लगाया जा सकता है। इसे रोशनी वाले कमरों, पोर्च के नीचे, बालकनी, खिड़की पर, किचन या बाथरूम में भी रखा जा सकता है। इसकी नीचे झुकी शाखा (arched fronds) पर ढेर सारी 2-4 इंच साइज़ की पत्तियां होती है।

Boston fern benefits in hindi
बोस्टन फ़र्न प्लांट

बाहर की ओर फैली हुई इसकी पत्तियाँ पौधे को घना लुक देती हैं। इसकी नई पत्तियां छोटे से कुंडली (Coil) के रूप में निकलती हैं और धीरे-धीरे खुलकर बड़ी होती जाती हैं। बहुत गर्मी या सर्दी में बोस्टन फ़र्न का पौधा मुरझा सकता है लेकिन सही माहौल में या मौसम आने पर फिर से अपने आप उग आता है। फ़र्न के पौधे भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में प्राकृतिक रूप पाए जाते हैं।

बोस्टन फ़र्न प्लांट के फायदे | Boston Fern Benefits in hindi

1) NASA ने बोस्टन फ़र्न को घर की हवा शुद्ध करने वाले इनडोर प्लांट्स की लिस्ट में शामिल किया है। बोस्टन फ़र्न हमारे घर की हवा में धुएं, रेजिन पेंट्स, एडहेसिव, कॉस्मेटिक्स आदि से निकलने वाले Formaldehyde (फार्मेल्डिहाइड) को सोखता है। हवा में फार्मेल्डिहाइड की मौजूदगी से नाक, आँख, गले में Irritation की प्रॉब्लम हो सकती है।

2)सी तरह Xylene भी एक नुकसानदायक तत्व है जोकि ऑटोमोबाइल क्लीनर्स, आर्टीफ़िशियल रूम स्प्रे, क्लीनर्स, एयरोसोल पेंट्स, कीड़ों को मारने वाले स्प्रे आदि में होता है। ज़ाईलीन की अधिकता से नर्वस सिस्टम डिप्रेशन, सिरदर्द, चक्कर आना, मिचली, उलटी आने की दिक्कत हो सकती है। जिन घरों में सही वेंटीलेशन (हवा का आवागमन) नही होता, वहाँ अक्सर लोगों को ऐसी समस्या हो सकती है। बोस्टन फ़र्न हवा को Xylene फ्री बनाता है और साफ सांस लेने वाली हवा देता है।

3) बोस्टन फ़र्न का पौधा Toluene नाम के Harmful chemical को भी घर की हवा से निकालने का काम करता है। टोल्युइन तत्व आपके नेल पेंट्स, दाग छुड़ाने वाले रिमूवर, इंक (स्याही), ग्लू (Glue), पेंट थिनर आदि में होता है। टोल्युइन की वजह से बेचैनी, उलझन, सिरदर्द, सांस लेने में दिक्कत, आँखों में दर्द, नाक और आँखों में जलन, सर घूमना जैसी दिक्कतें हो सकती है। तो आपने देखा कि बोस्टन फ़र्न का पौधा कितना फायदेमंद है।

पढ़ें> एरेका पाम लगाने के फायदे और कैसे लगाए

बोस्टन फ़र्न कैसे लगाए | How to propagate Boston fern in hindi

बोस्टन फ़र्न में बीज या फूल नहीं होते हैं इसलिए यह 1) कंद – Rhizomes 2) शाखा – Fronds 3) स्पोर्स – Spores के माध्यम से लगाया जाता है। बोस्टन फ़र्न के किसी बड़े पौधे की जड़ के पास खोदकर, एक शाखा (Frond) को कुछ जड़ के साथ काटकर अलग लगाने से नया पौधा तैयार हो जाता है।

इसे लगाने के लिए मिट्टी नम होनी चाहिए। रोज थोड़ा-थोड़ा पानी देते रहें और पौधा छाँव में रखें। आमतौर पर बोस्टन फ़र्न को साधारण मिट्टी में लगाया जा सकता है लेकिन अगर गमले में लगाए तो मिट्टी में कोकोपीट भी मिलायें।

बोस्टन फ़र्न का नया पौधा लगाने के लिए साधारण मिट्टी 50%+ 30% कोकोपीट या मॉस घास+ 20% जैविक खाद, इन तीनों को मिलाकर पॉटिंग मिक्स तैयार कर लें। कोकोपीट मिलाने का फायदा यह है कि इससे मिट्टी में कुछ नमी बनी रहती है जोकि बोस्टन फ़र्न के लिए सही नमी बनाए रखता है और फालतू पानी निकाल देता है। गमले के नीचे छेद होना चाहिए जिससे एक्स्ट्रा पानी बाहर हो जाए।

बोस्टन फ़र्न की केयर कैसे करें | Boston fern care in hindi

1) गर्मियों के मौसम में बोस्टन फ़र्न के पौधे में नमी बनाए रखने के लिए ये उपाय करें। किसी प्लास्टिक डलिया/बकेट में थोड़ा पानी भर कुछ बड़े पत्थर, गिट्टी डाल दें। इन पत्थर के ऊपर बैलन्स करके बोस्टन फ़र्न का गमला रख दें। पत्थर पूरी तरह पानी में डूबे नही होने चाहिए, जो सिरा गमले से छू रहा हो वो सूखा होना चाहिए।

2) एक और उपाय यह है कि प्लास्टिक डलिया/बकेट में नारियल की सूखी जटा या मॉस घास बिछा दें और पानी से तर कर दें। इसके ऊपर फ़र्न का गमला रख दें। 3-4 दिन में थोड़ा पानी डलिया में डालते रहें। इससे गमले को नीचे से नमी मिलती रहेगी।

3) अगर बोस्टन फ़र्न की पुरानी पत्तियाँ या मिट्टी के पास नीचे की पत्तियाँ सूखी दिखें तो इन्हें तोड़ देना चाहिए, इससे पौधे में नई ग्रोथ होती है और अच्छी पत्तियाँ निकलती हैं।

पढ़ें> जरूर लगायें स्नेक प्लांट घर में, जाने इसके फायदे 

बोस्टन फ़र्न को कितनी धूप चाहिए 

बोस्टन फ़र्न धूप में अच्छा बढ़ता है लेकिन बहुत तेज, ज्यादा धूप से पौधा खराब हो सकता है। बेहतर होगा आप इसे ऐसी जगह रखें जहां छाया हो और दिन के 4-5 घंटे धूप भी मिल जाए। सही धूप मिलने से बोस्टन फ़र्न में बढ़िया धानी रंग (Yellowish green) आता है। इनडोर रखना है तो ऐसी जगह रखे जहाँ आर्टीफिशियल लाइट हो या प्राकृतिक प्रकाश (Indirect sunlight) आए।

बोस्टन फ़र्न के बारे में जानकारी
बोस्टन फ़र्न का पौधा

बोस्टन फ़र्न में कितना पानी (सिंचाई) चाहिए 

बोस्टन फ़र्न को सिंचाई की जरूरत होती है क्योंकि फ़र्न प्राकृतिक रूप से नमी वाले इलाकों में पैदा होते हैं। ध्यान रखें कि बोस्टन फ़र्न के पौधे की मिट्टी सूखकर एकदम कड़ी न होने पाए। हर 2-3 दिन में इतना पानी पौधे में डालते रहें जिससे मिट्टी में कुछ नमी बनी रहे मगर पानी जड़ों में रुका हुआ न हो।

इसके साथ ही बोस्टन फ़र्न को वाटर स्प्रे बहुत पसंद है, इसलिए हफ्ते में 2 बार बोस्टन फ़र्न की पत्तियों पर पानी का स्प्रे, छिड़काव करें। अगर बारिश का मौसम है तो वाटर स्प्रे की जरूरत नही पड़ती है, क्योंकि इसे हवा से पर्याप्त नमी (humidity) मिल जाती है। वर्षा और ठंडी के मौसम में सिंचाई की कम जरूरत पड़ती है।

बोस्टन फ़र्न में होने रोग और कीट से बचाव 

अगर बोस्टन फ़र्न में कोई बीमारी या कीट लगे दिखें तो उस शाखा को तोड़ दें। पानी में थोड़ा सा नीम का तेल या नीम की खली मिलाकर पौधे को स्प्रे कर दें, इससे रोग होने की संभावना कम हो जाती है। हफ्ते में 2-3 दिन पौधे पर पानी का स्प्रे करने से भी बोस्टन फ़र्न में बीमारी नही लगती। अगर बोस्टन फ़र्न की पत्तियां पीली या ब्राउन पड़ रही हैं तो इसका मतलब पौधे में नमी की कमी हो सकता है।

बोस्टन फ़र्न में खाद की जरूरत

मतौर पर इसे खाद की बहुत जरूरत नहीं होती है। भारत में बारिश, बसंत का मौसम इसका ग्रोथ सीजन होता है, इसी दौरान खाद डालें। बढ़ते हुए पौधे में महीने में 1 बार 1/2 चम्मच कोई भी जैविक खाद जैसे वर्मी काम्पोस्ट, सीवीड खाद आदि, एप्सम साल्ट या 1/3 चम्मच 20:10:20 NPK खाद पानी मे मिलाकर डालने से फास्ट ग्रोथ होती है। जाड़ों के मौसम में 2-3 महीने में 1 बार खाद डाल सकते हैं।

ये भी पढ़ें >

8 प्रकार के मनी प्लांट की वैरायटी देखें 

NPK खाद कैसे और कब डालें, इसके फायदे

सिंगोनियम प्लांट लगाने के फायदे, कैसे लगाए

नींबूघास यानि लेमनग्रास के फायदे, कैसे लगाए 

घर में सूर्यमुखी का पौधा लगाने के फायदे, कैसे लगाए

sources :

https://www.gardeningknowhow.com/houseplants/boston-fern
https://en.wikipedia.org/wiki/NASA_Clean_Air_Study
https://homeguides.sfgate.com/boston-fern-improve-air-quality-98663.html
https://www.fnp.com/article/know-about-astonishing-benefits-of-boston-fern-plant

Share on WhatsApp

2 thoughts on “बोस्टन फर्न का पौधा कैसे लगाए व केयर करें | Boston Fern in hindi”

  1. Leaf Baba aims to deliver the finest quality of plants to your client’s doorstep anywhere in Lucknow. We offer a one-stop solution for plant-obsessed individuals looking for the perfect piece of greens for their spaces, especially homes. Choose from our widest collection of plants to buy at the lowest prices.

    Reply

Leave a Comment