RF mouse bluetooth mouse difference

वायरलेस माउस और ब्लूटूथ माउस में क्या अंतर है ? Wireless vs Bluetooth

Wireless mouse और Bluetooth mouse  :

आजकल बहुत से लोग बैटरी से चलने वाले, बिना केबल वाले वायरलेस माउस प्रयोग करते हैं. केबल न होने से ये लैपटॉप बैग या डेस्कटॉप टेबल पर कम जगह लेते हैं, केबल मैनेजमेंट का झंझट नहीं रहता और इन्हें लम्बी दूरी (10 से 100 फीट तक) से भी चलाया जा सकता है.

सिग्नल का अंतर :

वायरलेस माउस दो प्रकार के वायरलेस सिग्नल 1. रेडियो फ्रीक्वेंसी (RF) 2. ब्लूटूथ (Bluetooth) पर कार्य करते हैं. रेडियो फ्रीक्वेंसी सिग्नल माउस ही सामान्यतः वायरलेस माउस कहे जाते हैं. ब्लूटूथ सिग्नल पर काम करने वाले माउस ब्लूटूथ माउस कहे जाते हैं.

Wireless mouse Bluetooth mouse

कनेक्टिविटी :

सामान्य वायरलेस माउस (रेडियो फ्रीक्वेंसी सिंग्नल आधारित) को कंप्यूटर से जोड़ने के लिए कंप्यूटर के USB पोर्ट में एक छोटा सा सिग्नल रिसीवर लगाना पड़ता है. यह रिसीवर माउस से निकलने वाले रेडियो सिग्नल को ग्रहण करके USB सिग्नल में बदल देता है जो कंप्यूटर समझ सके.

ब्लूटूथ माउस कंप्यूटर या लैपटॉप से ब्लूटूथ के जरिये जोड़ा जाता है. ब्लूटूथ माउस सिर्फ पहली बार ब्लूटूथ कनेक्ट करना पड़ता है, इसे हर बार प्रयोग के पहले जोड़ना नहीं पड़ता. ब्लूटूथ माउस उन गैजेट्स से भी जोड़ा सकता है, जिनमें USB पोर्ट नहीं होता है जैसे कि मोबाइल फोन.

दोनों में कौन है बेहतर :

बैटरी और परफॉरमेंस के स्तर पर देखा जाये तो दोनों में कोई अंतर नहीं है. यह केवल आपके उपयोग और माउस सेटिंग पर निर्भर है.

कीमत की बात की जाये तो ब्लूटूथ माउस ज्यादा महंगे होते हैं. वैसे तो ज्यादातर लैपटॉप में ब्लूटूथ कनेक्टिविटी होती ही है, पर कुछ पुराने मॉडल और कुछ डेस्कटॉप सेटअप में ब्लूटूथ पोर्ट नहीं होता. ऐसे में अगर आप ब्लूटूथ माउस प्रयोग करना चाहते हैं तो आपको एक ब्लूटूथ एडाप्टर खरीदना पड़ेगा.

रेडियो फ्रीक्वेंसी (RF) सस्ते होते हैं, पर आपको एक छोटा सा सिग्नल रिसीवर भी लेकर चलना पड़ता है. आजकल के ज्यादातर RF माउस में सिग्नल रिसीवर को प्रयोग के बाद रखने का खाली स्लॉट बना होता है, जिससे इसके खोने की सम्भावना न के बराबर हो जाती है.

उम्मीद है आप समझ गए होंगे कि आपके आवश्यकता, बजट और कनेक्टिविटी के हिसाब से आपके लिए Wireless mouse और Bluetooth mouse में से कौन सा उपयुक्त रहेगा.

यह भी पढ़ें :

फोटो खींचने के अलावा ये 3 कमाल भी कर सकता है आपका मोबाइल कैमरा  

बूमरैंग बिना बैटरी का खिलौना जो हवा में फेंकने पर वापस आ जाता है, जानिए रोचक तथ्य

EnChroma चश्मे लगाकर कलर ब्लाइंड लोग भी अब रंगों को देख सकेंगे

कौन सा कैमरा लूँ , खरीदने से पहले इन मुख्य बातों को ध्यान में रखें

कितने मेगापिक्सेल और ज़ूम का कैमरा लेना चाहिए