वायरलेस माउस व ब्लूटूथ माउस में कौन सा खरीदें

बाजार में 2 तरह के माउस मिलते हैं 1) Wired Mouse 2) Wireless Mouse। बिना तार वाले माउस 2 तरह के होते हैं 1) ब्लूटूथ सिग्नल माउस 2) रेडियो सिग्नल माउस। इस पोस्ट में जानिए कि आपको कौन सा माउस खरीदना चाहिए और किस माउस की क्या खासियत है। 

वायरलेस माउस क्या है व इसके फायदे – Wireless Mouse benefits in hindi 

Wireless Mouse 2 प्रकार के वायरलेस सिग्नल 1) रेडियो फ्रीक्वेंसी (RF) 2) ब्लूटूथ (Bluetooth) पर कार्य करते हैं। 

  • रेडियो फ्रीक्वेंसी सिग्नल माउस ही सामान्यतः वायरलेस माउस कहे जाते हैं। 
  • ब्लूटूथ सिग्नल पर काम करने वाले माउस ब्लूटूथ माउस कहे जाते हैं। 

बैटरी से चलने वाले, बिना केबल के Wireless mouse बहुत अच्छे होते हैं। Cable न होने से ये Laptop बैग या Desktop टेबल पर कम जगह लेते हैं, केबल मैनेजमेंट का झंझट नहीं रहता और इन्हें लम्बी दूरी (10 से 100 फीट तक) से भी चलाया जा सकता है। 

आप ये न सोचे कि इन माउस में बैटरी जल्दी खत्म हो जाती होगी, जी नहीं इसमें लगने वाली AA बैटरी आराम से 1.5-2 साल चल जाती है। 10-15 रुपए की एक बैटरी से 1-2 साल काम करना तो काफी सस्ता है।

जबकि Wired mouse में तार लपेटने का झंझट है और माउस के फ्री मूवमेंट में भी थोड़ी दिक्कत होती है। पुराना होने पर Wired mouse का तार usb या mouse के पास से टूटने लगता है जिससे सिग्नल आना slow हो जाता है या रुक जाता है। 

Bluetooth mouse और Wireless mouse में क्या-क्या अंतर है –

सामान्य वायरलेस माउस (रेडियो फ्रीक्वेंसी सिंग्नल आधारित) को कंप्यूटर से जोड़ने के लिए कंप्यूटर के USB पोर्ट में एक छोटा सा सिग्नल रिसीवर लगाना पड़ता है। यह रिसीवर माउस से निकलने वाले रेडियो सिग्नल को ग्रहण करके USB सिग्नल में बदल देता है जो कंप्यूटर समझ सके। 

ब्लूटूथ माउस कंप्यूटर या Laptop से ब्लूटूथ के जरिये जोड़ा जाता है। ब्लूटूथ माउस सिर्फ पहली बार ब्लूटूथ कनेक्ट करना पड़ता है, इसे हर बार प्रयोग के पहले जोड़ना नहीं पड़ता। Bluetooth Mouse उन गैजेट्स से भी जोड़ा सकता है, जिनमें USB पोर्ट नहीं होता है जैसे कि Mobile Phone। 

Types of mouse in hindi

दोनों में कौन सा माउस है बेहतर –

1) Battery और Performance के स्तर पर देखा जाये तो दोनों Mouse में कोई अंतर नहीं है। यह केवल आपके उपयोग और माउस सेटिंग पर निर्भर है। 

2) कीमत की बात की जाये तो Bluetooth Mouse ज्यादा महंगे होते हैं। वैसे तो ज्यादातर लैपटॉप में ब्लूटूथ कनेक्टिविटी होती ही है, पर कुछ पुराने मॉडल और कुछ डेस्कटॉप सेटअप में ब्लूटूथ पोर्ट नहीं होता। ऐसे में अगर आप ब्लूटूथ माउस प्रयोग करना चाहते हैं तो आपको एक ब्लूटूथ एडाप्टर खरीदना पड़ेगा। 

3) रेडियो फ्रीक्वेंसी (RF) माउस सस्ते होते हैं। इस माउस के साथ आपको एक छोटा सा सिग्नल रिसीवर (1 cm length) भी मिलता है। सभी RF माउस में सिग्नल रिसीवर को प्रयोग के बाद रखने का खाली स्लॉट बना होता है, जिससे इसके खोने की सम्भावना न के बराबर हो जाती है। 

पढ़ें> 2021 के 5 बेस्ट पावर बैंक की लिस्ट देखें

Q- Gamers तार वाले माउस क्यों use करते हैं ?

A- केवल प्रोफेशनल गेमिंग में wired mouse का महत्व है क्योंकि केबल माउस में सिगनल वायरलेस माउस की तुलना में कुछ मिलीसेकंड Fast होते हैं। ये अंतर इतना कम होता है कि इसे आँखें नोटिस नहीं कर सकती लेकिन कुछ Super fast games में असर पड़ सकता है।

प्रोफेशनल गेमिंग में वायर माउस इसलिए भी पसंद किए जाते हैं क्योंकि इसमें बैटरी बदलने का झंझट नहीं होता जोकि किसी टूर्नामेंट में प्रॉब्लेम हो सकता है। 

उम्मीद है आप समझ गए होंगे कि आपके आवश्यकता, बजट और Connectivity के हिसाब से आपके लिए Wireless mouse और Bluetooth mouse में से कौन सा सही रहेगा। लेख अच्छा लगा तो Whatsapp, Facebook पर शेयर और फॉरवर्ड जरूर करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें.

यह भी पढ़ें :

आपके बजट में बेस्ट क्वालिटी के 10 ईयरफोन की लिस्ट

मोबाईल कैमरा के ये 7 कमाल बहुत काम आ सकते हैं

सारेगामा कारवां म्यूजिक गैजेट खरीदने के 5 फायदे और फीचर्स 

कलर ब्लाइंड लोग भी Enchroma Glasses से अब रंग देख सकते हैं

कैमरा खरीदने से पहले इन 9 बातों को जरूर ध्यान में रखें

मुझे कितने मेगापिक्सेल और ज़ूम का कैमरा लेना चाहिए ?

source : https://www.techwalla.com/articles/bluetooth-mouse-vs-wireless-mouse

ये लेख दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।

Leave a Comment