DSLR कैमरा खरीदने से पहले 7 जरूरी Tips न भूलें

How to buy DSLR Camera in hindi – डीएसएलआर कैमरा कैसे खरीदें ?

DSLR Camera आमतौर पर 3 तरह के होते हैं। 1. एंट्री-लेवल 2. सेमी-प्रोफेशनल 3. प्रोफेशनल। इन तीनों मॉडेल में मुख्य अंतर फीचर्स और कीमत का होता है। 

इसके अलावा DSLR Camera खरीदना चाहते हैं तो लेने से पहले उस कैमरे के साथ उपयोगी एसेसरीज़ (Accessories) की संख्या और लागत के बारे में भी विचार कर लेना चाहिए.

ये खास बात हमेशा ध्यान रखें कि अच्छी फ़ोटो लेने के लिए आपकी क्रिएटिविटी एक अच्छे कैमरा से ज्यादा जरूरी है। 

आपके लिए कौन सा DSLR बेहतर होगा ? आइए जानते हैं। 

1. Entry-Level DSLR :

अगर आपको फोटोग्राफी सीखना है तो Entry level कैमेरे आपके लिए बेस्ट है। ये कैमरा वजन में हल्के होते हैं और इनका दाम भी कम होता है। इन कैमेरों में सभी जरूरी फीचर्स होते हैं जैसे ऑटो मोड, एक्सपोसर सेटिंग्स, ज़ूम आदि। 

इस कैमेरे में बहुत ज्यादा फीचर नहीं होते लेकिन कम फीचर का ये फायदा है कि इसे सीखना और चलाना आसान होता है। लेकिन कम फीचर से मत सोचिएगा कि इससे फ़ोटो खराब आएगी या क्वालिटी बढ़िया नहीं होगी। 

अगर आपको फोटोग्राफी का बेसिक ज्ञान नहीं है तो ज्यादा फीचर्स आपको उलझन में डाल सकते हैं।  

ज्यादातर एंट्री लेवल कैमरा में Guide mode भी होते हैं जोकि आपको कंट्रोल और Settings प्रयोग करना बताते हैं। जिससे हमें मालूम चलता है कि कोई खास तरह की फ़ोटो कैसे ली जाए। 

ट्रैवल फोटोग्राफी के लिए ये कैमरा बढ़िया हैं क्योंकि ये हल्के और छोटे होते हैं। इन मॉडेल के कुछ उदाहरण हैं जैसे – Nikon D3500, Canon EOS 800D, Nikon D5600, Canon EOS 77D etc.

DSLR camera buying guide in hindi
DSLR Camera lenses & Accessories/डीएसएलआर कैमरा एक्सेसरीज

2. Semi-Professional DSLR :

सेमी- प्रोफेशनल DSLR कैमरे एंट्री-लेवल और प्रोफेशनल केटेगरी के बीच में आते हैं। ये कैमरे भी वजन में हल्के होते हैं लेकिन कीमत में थोड़ा महंगे होते हैं । इस केटेगरी में पसंद करने के लिए काफी सारे मॉडल मिल जाते हैं। 

Semi-professional Camera में प्रोफेशनल कैमरे के कुछ फीचर्स होते हैं। एंट्री लेवल कैमरा से आगे Upgrade करने के लिए ये सही चॉइस हैं। 

सेमी- प्रोफेशनल कैमरे ज्यादा Manual controls से युक्त होते हैं। इनके Autofocus ज्यादा तेज और Exposure metering system ज्यादा सटीक होते हैं। इसमें कई Creative Mode और Automated mode मिलते हैं. 

विडिओ रिकॉर्डिंग के लिए इसमें हाई-रेसोल्यूशन मिलता है और External microphone लगाने जैसी सुविधाएं होती हैं। इस केटेगरी के कुछ मॉडेल्स इस प्रकार हैं – Canon EOS 80D, Nikon 7500, Nikon Z50, Canon EOS 6D mark II etc. 

3. Professional DSLR Camera:

सबसे हाई क्वालिटी के ये प्रोफेशनल कैमरे काफी महंगे होते हैं और इनकी इमेज क्वालिटी, स्पीड, मैनुअल कंट्रोल, सेन्सटीविटी बेहतरीन होती है।

ये कैमरा स्पोर्ट्स फोटोग्राफी, वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी, जर्नलिज़म, प्रोफेशनल शूट जैसे कामों के लिए बेस्ट हैं। इनकी Storage भी ज्यादा होती है। 

ये कैमरा ढेर सारे काम करने की बजाय अलग-अलग तरह के खास काम करने में बेस्ट होते हैं। जैसी आपकी जरूरत वैसा ही मॉडेल आपको लेना होगा बजाय इसके कि एक ही कैमरा हर तरह के फ़ोटो लेने का काम करे। 

Professional DSLR Camera के कुछ मॉडेल हैं – Nikon D6, Canon EOS-1D X Mark III, Canon EOS R etc. 

सेंसर के आकार के आधार पर डीएसएलआर कैमरे मुख्यतः 2 प्रकार के होते हैं :-

 1) फुल-फ्रेम (FX) इन कैमरों का सेंसर 35 मिमी फिल्म के जितना बड़ा (लगभग 36 X 24 मिमी) होता है. इनकी फ़ोटो क्वालिटी सर्वश्रेष्ठ होती है और इनका दाम भी अधिक होता है.

 2) क्रॉप-सेंसर (DX) इन कैमरों का सेंसर छोटा (लगभग 24 X 16 मिमी) होता है. इनकी फ़ोटो क्वालिटी उत्तम होती है. इनका मूल्य फुल-फ्रेम डीएसएलआर की तुलना में कम होता है.

DSLR कैमरा के फीचर्स और एक्सेसरीज़ की जानकारी

1) जहां Point and Shoot कैमरों को उनके छोटे से पाउच में रखकर आप जेब में भी रख सकते हैं वहीं दूसरी ओर DSLR कैमरे के साथ कुछ तामझाम साथ चलता है.

2) हर तरह की Photography में रूचि लेनेवाले व्यक्तियों का काम एक ही लेंस (Camera lens) से नहीं चलता.

किसी खास उद्देश्य के लिए या और अच्छे फ़ोटो लेने के लिए उन्हें कई लेंस खरीदने पड़ सकते हैं. फिर इन्हें रखने के लिए एक डेडीकेटेड कैमरा बैग (Camera lens bag) खरीदना जरूरी हो जाता है.

3) कैमरा बैग में एक या उससे अधिक कैमरे/लेंस, चार्जर, मेमोरी कार्डस (memory cards), फिल्टर्स (filters), केबल्स (Cables), फ्लैश (Flash), आदि रखने की व्यवस्था होती है.

4) कुछ कैमरा बैगों में आप लैपटॉप भी रख सकते हैं, क्योंकि फ़ोटोग्राफ़ी अब कम्प्यूटर पर बहुत अधिक निर्भर हो चली है.

फ़ोटोज़ की डिजिटल एडिटिंग (Digital editing) के लिए प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर पर काम करना ज़रूरी हो जाता है, हालांकि बहुत से फ्री सॉफ्टवेयर भी नेट पर उपलब्ध हैं.

5) अमेच्योर फ़ोटोग्राफर को मिनी ट्राइपॉड (Tripod) से लेकर फुल-लेंथ ट्राइपॉड खरीदने की आवश्यकता भी महसूस हो सकती है.

6) डीएसएलआर कैमरा खरीदने के इच्छुकों को यह जानकारी अवश्य होनी चाहिए कि एक निर्माता कंपनी के कैमरे में अन्य निर्माता कंपनी द्वारा निर्मित लेंस नहीं लगते.

– उदाहरण के लिए, कैनन (Cannon) के कैमरों में निकॉन या सोनी (Sony) के लेंस नहीं लगाए जा सकते क्योंकि इनके माउंट (mount) का आकार अलग-अलग होता है.

मेरे पास निकॉन का 1 कैमरा और 3 लेंस हैं, इसलिए भविष्य में कोई दूसरा कैमरा खरीदते समय मुझे निकॉन (Nikon) के कैमरो से ही चुनना पड़ेगा क्योंकि मेरे पास पहले से ही इसके 3 लेंस हैं.

7) कुछ 3rd Party लेंस निर्माता कंपनियां (टैमरॉन, सिग्मा, कार्ल ज़ीस (Carl zeiss) आदि) हैं जो सभी प्रमुख कैमरों के लिए लेंस बनातीं हैं फिर भी उचित यही रहता है कि जिस कंपनी का कैमरा हो लेंस भी उसी कंपनी का लिया जाए.

किसी अन्य कंपनी का कैमरा खरीदने पर मेरे वर्तमान लेंस बेकार हो जाएंगे. बैटरी, फ्लैश आदि के साथ भी यही समस्या आती है. यही कारण है कि उत्साह में आकर DSLR कैमरा खरीद लेने वाले अपने निर्णय पर बाद में अफसोस करते हैं.

DSLR कैमरा के लेंस और कुछ खास जानकारी :

a) Top Camera और लेंस बनाने वाली कंपनियां लगभग एक ही तरह के लेंस के साधारण और हाई-क्वालिटी मॉडल बनातीं हैं जिनकी कीमत में बहुत अधिक अंतर होता है.

प्रसिद्ध फ़ोटोग्राफरों द्वारा शूट की गईं शानदार फ़ोटोज़ प्रोफेशनल कैमरे और High Quality Lens के संयोजन से खींची जातीं हैं.

b) लो/मीडियम रेंज के कैमरों तथा साधारण लेंसों द्वारा भी निस्संदेह बहुत अच्छे फ़ोटो खींचे जा सकते हैं लेकिन एक बार मन में सर्वश्रेष्ठ कैमरा/लेंस अपने पास नहीं होने का भाव घर कर जाए तो कई फ़ोटोग्राफर हताशा के शिकार हो जाते हैं.

– मुझे लग रहा है कि इतना सब पढ़ लेने के बाद कैमरा खरीदने संबंधी आपकी उलझन या को कम हो गई होगी या बढ़ गई होगी.

बेहतर होगा कि इस पेज पर दी गई जानकारी के आधार पर आप अपनी आवश्यकता, कौशल, और बजट के मुताबिक उपयुक्त कैमरों की खोज करें.

# इस काम में आपको इन Websites से बहुत मदद मिलेगी क्योंकि इनपर हर नए-पुराने कैमरे के एक्सपर्ट रिव्यू पढ़ने को मिलते हैं.

कैमरा रिव्यू करने वाले लोग कैमरे के सभी टेक्निकल साइड्स को जांच-परख कर और उनसे अगल-अगल शूटिंग कन्डिशन  में फ़ोटो लेकर उनकी रेटिंग करते हैं जिसका बहुत फायदा मिलता है.

DSLR Camera Online खरीदें या मार्केट से ? –

1) कैमरा खरीदते समय यह भी बहुत मायने रखता है कि कहां से खरीदा जाए. आप कंपनी शो-रूम, सर्टिफाइड डीलर/सेलर, और ऑनलाइन खरीदने के अलावा Quikr या OLX जैसी वेबसाइटों पर भी कैमरा तलाश सकते हैं.

मेरा अनुभव है कि कंपनी शो-रूम या डीलर की तुलना में कभी-कभी वेबसाइट्स पर डिस्काउंट या बेहतर डील मिल जाती है.

2) ग्रे-मार्केट से कैमरा खरीदने का मेरा अनुभव बहुत अच्छा है और वहां नए कैमरे के दाम सबसे कम मिल सकते हैं. यदि आप कैमरा ग्रे-मार्केट से खरीदें तो किसी जानकार को अपने साथ रखें और कैमरा का बिल/वारंटी कार्ड अवश्य लें.

3) बहुत से लोग Quikr या OLX जैसी वेबसाइटों पर अपने कैमरे बेचने का विज्ञापन देते हैं. उनसे कैमरा खरीदने से पहले उसे अच्छी तरह से चला कर देख लें और कोशिश करें कि वही कैमरा लें जो अपेक्षाकृत नया ही खरीदा गया हो और Warranty period में हो.

कहीं से भी कैमरा लेते समय यह जांच लें कि उसकी सारी Accessories जैसे कैमरा केस/बैग, चार्जर, मेमोरी कार्ड, केबल्स आदि साथ में हैं या नहीं.

4) कई बार कैमरे की सारी एसेसरीज़ (accessories) बॉक्स के साथ नहीं आतीं और अलग से दी जातीं हैं. अगर आप अपने पुराने कैमरे/लेंस को बेचकर नया कैमरा ले रहे हों तो उसकी अच्छी कीमत वसूल करें.

Camera और Photography से संबंधित सामान्य जानकारियां लेने के लिए इस ब्लॉग पर नियमित रूप से आते रहें. धन्यवाद.

– अपनी जरुरत और बजट के हिसाब से सही कैमरा खरीदने के लिए ये लेख पढ़ेकौन सा कैमरा लें ? खरीदने से पहले 5 मुख्य बातों को ध्यान में रखें . मेगापिक्सेल और ज़ूम सम्बन्धी आशंकाओं के समाधान के लिए ये लेख पढ़ें : कितने मैगापिक्सल और कितना ज़ूम का कैमरा सही है ?

लेख अच्छा लगा तो Share और Forward अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें.

ये भी पढ़ें >

ये लेख दोस्तों को Share करे

Leave a Comment