पेशाब में झाग आना कितना गंभीर हो सकता है ?

By | 18/10/2016

कुछ लोगों को कभी-कभी झागदार पेशाब होने लगती है. पेशाब में झाग या बुलबुले आने के कई सामान्य व असामान्य कारण हो सकते हैं और इसे लेकर बहुत अधिक चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन ये किसी भीतरी गड़बड़ी की ओर इशारा करता है इसलिए मेडिकल जांच से ही इसके कारणों का पता चल सकता है.

कई बार बाथरूम में पहले से पड़े रह गए साबुन के पानी या डिटर्जेंट के कारण भी पेशाब में झाग उठता प्रतीत होता है, लेकिन यह किडनी की किसी खराबी का लक्षण भी हो सकता है इसलिए डॉक्टर को सभी लक्षण जल्द बता देने चाहिए.

Peshab me problem in Hindi

पेशाब में झाग होने के सामान्य कारण :

गर्भावस्था  गर्भावस्था में किसी-किसी महिला की किडनी बढ़ जाती है जिससे पेशाब में बुलबुले आने लगते हैं. गर्भावस्था में महिलाओं की किडनियों को अधिक मात्रा में अमीनो एसिड फिल्टर करने पड़ते हैं. जब अमीनो एसिड की मात्रा रीनल ट्यूब्यूल्स की क्षमता से अधिक हो जाती है तो वे पेशाब के रास्ते बाहर आ जाते हैं और पेशाब में झाग दिखने लगता है.

हल्का डिहाईड्रेशन  हल्के डिहाईड्रेशन से भी पेशाब में झाग उठने लगता है. शरीर में पानी की कमी हो जाने से पेशाब गाढ़ा और बुलबुलेदार हो जाता है. डायबिटीज से ग्रस्त लोगों को डिहाईड्रेशन का रिस्क अधिक होता है इसलिए उन्हें सामान्य लोगों की तुलना में पेशाब में झाग अधिक दिख सकता है. शरीर को पानी की बेहतर आपूर्ति होने से ये समस्या ठीक हो जाती है.

ये भी पढ़ें   प्याज़ के रस से बालों का झड़ना रोकिए Hair fall home remedy

बार-बार पेशाब जाना  पेशाब बार-बार होने से भी उसमें झाग दिख सकता है. डिहाईड्रेशन के कारण भी पेशाब जाने के फ्रेक्वेंसी बढ़ जाती है. कई बार बहुत प्रेशर से पेशाब करने या होने से भी उसमें झाग दिखने लगता है.

पेशाब में झाग होने के असामान्य कारण :

ऊपर बताए कारणों के अलावा पेशाब में झाग होने के कुछ असामान्य कारण होते हैं जिनमें किडनी के रोग या यूरिन इन्फेक्शन प्रमुख हैं. इन कारणों से पेशाब में झाग दिखने को गंभीरता से लेना चाहिए.

पेशाब में प्रोटीन जाना (Proteinuria) प्रोटीन ड्रिंक्स और बॉडी बिल्डिंग के लिए पिए जानेवाले ड्रिंक्स में प्रोटीन की बहुत अधिक मात्रा होती है. बहुत अधिक मछली या प्रोटीन युक्त भोजन लेने से भी शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ सकती है. जब स्वस्थ शरीर को बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन की खुराक मिलती है तो वह उसे पेशाब के रास्ते बाहर निकालने लगता है. किडनियों को यह काम करने में बहुत समस्या हो सकती है और पेशाब में झाग दिखने का यह असामान्य लक्षण है.

सामान्यतः जब रक्त किडनियों से होकर गुज़रता है तो स्वस्थ किडनियां सभी प्रकार के वेस्ट प्रोडक्ट को हटा देती हैं तथा उन्ही प्रोडक्ट को रक्त में रहने देती हैं जो शरीर के लिए ज़रूरी हैं.

लेकिन किडनी से संबंधित गड़बड़ी के शिकार लोगों में किडनी का एक भाग ग्लोमेरूलाई (glomeruli) काम करना बंद कर देता है जिससे पेशाब में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है. इस अवस्था में व्यक्ति को प्रोटीन की खुराक लेना तत्काल बंद कर देना चाहिए और पेशाब में प्रोटीन के होने का इलाज करवाना चाहिए.

ये भी पढ़ें   बच्चों के मोबाइल व टैबलेट प्रयोग करने के 10 दुष्प्रभाव जानना जरुरी है

यूरीनरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (Urinary Tract Infections) यूरीन इन्फेक्शन के कारण भी पेशाब में झाग दिखता है. इस दशा में रोगाणु पेशाब के मार्ग में गैस रिलीज़ करते हैं जिससे बुलबुले उठने लगते हैं. इस दशा में व्यक्ति को पेशाब करते समय दर्द या जलन भी हो सकती है. पेशाब की जांच के बाद यूरीन इन्फेक्शन के लिए एंटीबायोटिक दवाएं लेने पर इन लक्षणों का उपचार हो जाता है.

वेसीकोकोलिक फिश्चुला (Vesicocolic Fistula) फिश्चुला एक मेडिकल कंडीशन है जिसमें दो अंगों के बीच किसी गड़बड़ी के कारण रक्त वाहिनियों का कनेक्शन बन जाता है. यूरीन ब्लैडर और आंत के बीच बने कनेक्शन को वेसीकोकोलिक फिश्चुला कहते हैं. यह पुरुषों में महिलाओं की अपेक्षा तीन गुना अधिक देखने में आती है. इसके कारण से पेशाब में झाग आने की समस्या का पता डॉक्टर जांच के द्वारा कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें   आधुनिक विज्ञान सिद्ध कर चुका है कि तांबे के बर्तन में पानी क्यों पियें ?

यदि आपको पेशाब में झाग कभी-कभार दिखता हो तो आपको बहुत चिंतित होने के ज़रूरत नहीं है, लेकिन झाग की बहुतायत होना और साथ में दूसरे असामान्य लक्षणों जैसे पेशाब में दर्द, जलन, हाथ-पैर व पेट में सूजन की उपस्थिति होने पर तत्काल डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *