Category Archives: आध्यात्म

जानिए धार्मिक-पौराणिकी पुस्तकों के बेस्टसेलर लेखक डॉ.देवदत्त पटनायक के बारे में

भारत में नयी पीढ़ी के प्रसिद्ध और व्यावसायिक रूप से सफल लेखकों की बात की जाये तो डॉ. देवदत्त पटनायक (Devdutt Pattanaik) का नाम अवश्य आता है. देवदत्त पटनायक पौराणिक कथाओं और धार्मिक ज्ञान की रिसर्च करके मॉडर्न और फ्रेश अंदाज में प्रस्तुत करते हैं. इसके अतिरिक्त देवदत्त पटनायक एपिक चैनल के हिन्दी कार्यक्रम ‘देवलोक विद देवदत्त… Read More »

नागा कटारू : गूगल के पूर्व इंजीनियर जो अब खेती करते हैं और कमाते हैं करोड़ों

आंध्र प्रदेश के एक छोटे से गाँव गम्पालागुडम में जन्मे नागा कटारू (Naga Kataru) गूगल में इंजीनियर थे. वह गूगल के 40वें इंजीनियर थे, जब सन 2000 में जब Google ने उन्हें नौकरी पर रखा. गूगल तब एक नयी कंपनी थे और उसमे बमुश्किल 110 लोग कार्यरत थे. बतौर इंजीनियर नागा कटारू ने सन 2003 में… Read More »

जरूर पढ़िए ! हरिशंकर परसाई की प्रेरक-आत्मकथा ‘ गर्दिश के दिन ‘

जीवन-संघर्ष पर आधारित कई जीवनियाँ-कहनियाँ आपने पढ़ी होंगी और उनसे प्रेरणा पाई होगी, जैसे कि अब्राहम लिंकन, अब्दुल कलाम, नेल्सन मंडेला आदि. महान व्यंगकार-लेखक हरिशंकर परसाई जी की कई रचनाये मैंने पढ़ी है और उनके लेखन की खास / अद्वितीय शैली का मै कायल रहा हूँ. हर एक व्यक्ति के जीवन-संघर्ष की परिस्थितियां अलग और… Read More »

अमेरिकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के पुनर्जन्म की अदभुत कहानी : कर्म-चक्र का नियम

भारत सहित विश्व की कई सभ्यताओं में पुनर्जन्म (Reincarnation) की मान्यता है. पुनर्जन्म के पीछे कर्म-चक्र का नियम कारण माना जाता है. मतलब आपके द्वारा किये गए जिन अच्छे या बुरे कर्मों का फल किसी कारणवश आपको इस जन्म में नहीं मिल पाता है, तो उन कर्मों का शुभ-अशुभ फल आपके अगले जन्म में मिलता है.… Read More »

जानिए कैसे श्रद्धा शर्मा ने Yourstory.com से startup क्रांति को दी नयी पहचान

पिछले कुछ सालों में भारत का आर्थिक परिवेश तेजी से परिवर्तित हुआ है. जहाँ भारत में विदेशी कंपनियों का निवेश बढ़ा है वही देसी उद्योग जगत ने भी विश्व-स्तर के नए कीर्तिमान स्थपित किये है. इस सकारात्मक माहौल को बनाने में भारतीय Start-up जगत ने एक जबर्दस्त उत्प्रेरक का काम किया है. स्टार्ट अप भारत… Read More »

सिंधिया वंश और ग्वालियर के गुप्त खज़ाने की अनोखी पर सच्ची कहानी

सत्य कथा यह आश्चर्यजनक सच्ची कहानी है ग्वालियर किले में छुपे हुए गुप्त-खज़ाने की, जिसका जिक्र ब्रिटिश लेखक एम. एम. केय की किताब ‘फार पैवीलियंस‘ में किया गया है. एम. एम. केय के पिता ‘सर सेसिल केय’ सर माधवराव सिंधिया के खास मित्र थे और यह सच्ची कहानी स्वयं सर माधवराव सिंधिया ने उन्हें बताई… Read More »

बड़ों के पैर छूने के पीछे क्या प्राचीन विज्ञान छुपा हुआ है ?

पैर छूने का भारतीय रिवाज़ – Indian tradition of Feet touching हमारे पूर्वजो और प्राचीन समय के विद्वानों की सबसे बड़ी खोज यह थी की उन्होंने प्रक्रति के कई रहस्यों को आज से हजारो सालो पहले ही समझ लिया था, वो भी जब उस दौर में आजकल जैसी सुविधाएँ नहीं थी. न सिर्फ उन्होंने ने… Read More »

ध्यान में विचलित मन को कैसे केन्द्रित में करें ?

ध्यान में भटके मन तो ऐसे करे कण्ट्रोल : सही सोच और धैर्य रखें – ध्यान (Meditation) एक सहज क्रिया है. ध्यान योग के लिए बैठते समय अगर आप ये सोचें कि मेरा ध्यान बट जाता है, तो आपका ध्यान इसी बात पर रहेगा और आपके न चाहते हुए भी आपका ध्यान भंग होगा. नियमित रहें… Read More »

हमें अंदाजा भी नहीं टेक्नोलॉजी हमें कैसे बदल रहा है

 टेक्नोलॉजी के जीवन पर प्रभाव – Effects of Modern Technology  : शहरो में रहने वाला आदमी गाँवों में रहने वाले आदमी से कई मामलो में अलग होता है. एक मुख्य पहलू है संवेदनशीलता या senstivity. शहरो में रहने वाला आदमी अति संवेदनशील होता गया है पर भावुकता कम हो गयी है. इस बदलाव के बहुत से… Read More »

सेल्फ-हेल्प किताबें क्यों पढनी चाहिए ?

  Self-help किताबें क्यों पढ़ें ? Why read Self-help books ? जैसे समस्याएँ सबके जीवन में आती जाती रहती हैं, Self-help किताबें भी हमारी आँखों के सामने से आती जाती रहती है. हम सभी ने कभी न कभी कोई सेल्फ हेल्प किताब जरुर पढ़ी या पलटी होगी. मेरी राय में लोग दो तरह के होते… Read More »