बाज़ार में मिलने वाली काली मेहेंदी / नेचुरल हेयर कलर से सावधान

By | 17/08/2016

मार्केट में मिलनेवाले बहुत से मेंहदी युक्त हेयर कलर को नैचुरल बताकर बेचा जाता है. इन तथाकथित नैचुरल प्रोडक्ट्स में मेंहदी (Henna) तो होती है लेकिन इस काली मेहँदी में  कई अननेचुरल केमिकल्स और हैवी मेटल्स भी मिले होते हैं.

जो हमारे स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं, हांलांकि इनसे होनेवाला नुकसान उपयोग करनेवाले व्यक्ति की संवेदनशीलता पर निर्भर करता है.

Kali Mehandi Side effcts in Hindi

इन हेयर केलर में मिला एक केमिकल पैराफिनाइलीन डाइएमाइन (Para-Phenylenediamine) या PPD मानव शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है. इस केमिकल का उपयोग फैब्रिक डाई, कॉस्मेटिक्स, प्रिंटिग, फोटोकॉपी इंक व टोनर बनाने में भी किया जाता है तथा यह शरीर पर गंभीर अथवा घातक परिणाम छोड़ता है.

अपने स्वास्थय के प्रति सजग बहुत से लोग केमिकल वाले हेयर कलर को नहीं खरीदते और विज्ञापनों के बहकावे में आकर प्योर नैचुरल प्रोडक्ट जैसे मेंहदी युक्त हेयर कलर का उपयोग करने लगते हैं. वास्तविकता ये है कि इन तथाकथित नैचुरल हेयर कलर्स में मेंहदी या हिना बहुत कम मात्रा में होती है और बालों को कलर देने के लिए इनमें PPD या इस जैसे किसी दूसरे विषैले केमिकल को मिलाया जाता है.

ये भी पढ़ें   चावल से जुड़े कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स जानिए

PPD के दुष्प्रभाव (Reactions of PPD)

इनके सबसे गंभीर दुष्प्रभाव लगाने के फौरन बाद नहीं दिखते. ज्यादातर मामलों मे होनेवाली रिएक्शन बहुत मामूली होती है जैसे सर या शरीर के किसी अन्य भाग में हल्की खुजली होना, लेकिन इनका प्रयोग जारी रखने पर ये समस्या गंभीर हो सकती है. आगे जाकर त्वचा में सूजन और जलन होने की शिकायत भी हो सकती है.

PPD से होनेवाली गंभीर रिएक्शन से स्किन में चकत्ते या छपाकी (urticaria) और एनाफाइलेक्सिस (anaphylaxis) हो सकती है जिनमें स्किन में सीरियस रैशेस (rash) हो सकते हैं. एक मामले में इससे प्रभावित व्यक्ति कोमाग्रस्त भी हो चुका है और रेयर मामले में इससे मृत्यु भी हो सकती है.

इसी के साथ, PPD के प्रयोग से स्किन में परमानेंट दाग पड़ सकते हैं या केमिकल्स के प्रति परमानेंट संवेदनशीलता भी हो सकती है. इसके दूरगामी प्रभावों में अस्थमा, Non-Hodgkins lymphoma (एक प्रकार का कैंसर), lupus हो सकता है तथा इसका संबंध स्तन और ब्लैडर के कैंसर से भी देखा गया है.

ये भी पढ़ें   हमें अंदाजा भी नहीं टेक्नोलॉजी हमें कैसे बदल रहा है

प्राकृतिक मेंहदी क्या है? What is Natural Henna or Mehendi

मेंहदी या henna (Lawsonia inermis) एक फूलदार पौधा है जिसे प्राचीन काल से ही स्किन, बाल, खाल, और लकड़ी को कलर करने के लिए प्रयोग में लाया जा रहा है. मेंहदी की पत्तियों में एक लाल-नारंगी कलरिंग एजेंट होता है जिसका शेड यूज़र के बालों के नैचुरल रंग पर निर्भर करता है.

काली मेंहदी (Black henna) जैसी कोई चीज नहीं होती. बालों को काला रंग देने के लिए तथाकथित नैचुरल हेयर कलर में केमिकल्स, मैटेलिक सॉल्ट्स या दूसरे पौधों से प्राप्त सामग्री को मिलाया जाता है.

प्राकृतिक मेहँदी का रंग अच्छा चढाने के लिए उपाय How to darken Natural Henna Color

मेंहदी का प्रयोग करके बालों को लगभग काला रंग देने के लिए उसमें नैचुरल नील मिला सकते हैं. मेंहदी के साथ मिलने पर नील या इंडिगो (indigo) से मिलनेवाले शेड्स हलके ब्राउन (Light brown) से लेकर काले (Black) की रेंज में होते हैं. इस मिश्रण में नींबू का रस या सेब का सिरका (Apple cider vinegar) मिलाया जा सकता है जिसकी एसिडिटी से बालों पर रंग अच्छे से चढ़ता है. मेंहदी (Henna) के मिश्रण में चाय का, कॉफ़ी का गाढ़ा कंसंट्रेट मिलाने से भी बालों की सफेदी अच्छे से कवर हो जाती है.

ये भी पढ़ें   डिओडोरेंट (Deodorant) का उपयोग न करें, पसीना आना जरूरी क्यों है

Source

यह भी पढ़ें :

5 thoughts on “बाज़ार में मिलने वाली काली मेहेंदी / नेचुरल हेयर कलर से सावधान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *