अरब देश पानी की कमी पूरी करने के लिए अंटार्टिका से आइसबर्ग खींचकर लायेगा

अरब देश पानी की कमी पूरी करने के लिए अंटार्टिका से आइसबर्ग खींचकर लायेगा

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) दुनिया के 10 सबसे अधिक सूखे देशों में एक है. यहाँ पर प्राकृतिक पानी के भंडार की बहुत कमी है और बारिश भी नाममात्र होती है. अगले 25 सालों में हालात और भी बदतर होने की सम्भावना है. पीने का पानी के बिना तो जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती. भविष्य में पानी की इस गम्भीर समस्या से निपटने के लिए अबूधाबी स्थित द नेशनल एडवाइजर ब्यूरो लिमिटेड ने एक महत्वाकांक्षी योजना बनाई है. इस प्लान के तहत अंटार्टिका से बर्फ के विशालकाय आइसबर्ग यानि हिमखंड को समुद्र मार्ग से अरब देश लाया जायेगा.

आइसबर्ग (Iceberg) यानि हिमखंड क्या होता है :

आइसबर्ग पानी में तैरते हुए बर्फ के बहुत बड़े-बड़े टुकड़े होते हैं. एक सामान्य आइसबर्ग करीब 20 बिलियन गैलन पानी का बना हुआ होता है. एक आइसबर्ग का केवल 20% हिस्सा पानी की सतह के ऊपर दिखता है, बाकि 80% पानी के नीचे डूबा रहता है. इसी धोखे की वजह से विश्वप्रसिद्ध टाइटैनिक जहाज एक विशालकाय आइसबर्ग से टकराकर दो टुकड़े हो गया था.

ध्रुवों पर पाई जाने वाली जमी हुई बर्फ, ग्लेशियर और आइसबर्ग दुनिया में मीठे पानी के सबसे बड़े स्रोत है. इस प्रोजेक्ट पर काम करने वाली फर्म के अनुसार एक आइसबर्ग से 10 लाख लोगों को 5 साल तक पानी की आपूर्ति की जा सकती है.

iceberg kya hota hai

UAE आइसबर्ग प्रोजेक्ट :

– आइसबर्ग लाने का काम 2018 में शुरू होगा. अभी आइसबर्ग लाने के सम्भावित रास्तों व अन्य प्लानिंग पर काम चल रहा है. फर्म के अनुसार अंटार्टिका के Heard Island से हिमखंड को बड़े शिप से बांधकर समुद्री मार्ग से 8,800 किलोमीटर की दूरी तय करके Fujairah के पास  अरब समुद्री तट पर लाया जायेगा.

Fujairah में आइसबर्ग को संरक्षित रखने का एक बड़ा प्लांट बनाया जायेगा. प्लांट के विशाल टैंकों में हिमखंड के छोटे टुकड़े किये जायेंगे. इससे मिले पानी को फ़िल्टर करने के बाद, स्टोर करके प्रयोग में लाया जायेगा.

– आइसबर्ग लाने की इस लम्बी यात्रा में करीब एक साल का समय लग सकता है. कम्पनी के अनुसार आइसबर्ग का बड़ा हिस्सा पानी के नीचे रहता है और ऊपरी सफ़ेद भाग धूप को परावर्तित करेगा, इसलिए यह पूर्णतः गलेगा नहीं.

– हिमखंड के आने से हवाएँ ठंडी होंगी जिससे अरब देश में थोड़ी वर्षा होने की सम्भावना भी हो सकती है. UAE आइसबर्ग प्रोजेक्ट से टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा. लोग दूर-दूर से पानी में तैरते हिमखंड की यात्रा देखने आयेंगे.

यह भी पढ़िए :

जर्मनी के अनोखे इनडोर बीच के बारे में 5 फैक्ट्स | Tropical Islands Resort, Germany

Bagger 288 : दुनिया का सबसे बड़ा वाहन से जुड़े 8 आश्चर्यजनक फैक्ट्स जानिए

दादियाँ कर रहीं हैं कमाल : दुनिया की सबसे उम्रदराज यूट्यूबर और भारत में सबसे अधिक उम्र की योग टीचर

Dean Karnazes : बिना थके सैकड़ों किलोमीटर दौड़ने वाले इस धावक का राज क्या है ?

चौंकिए नहीं ! पूरी दुनिया के 80% से ज्यादा चश्में एक ही कम्पनी बनाती है : Luxottica