पानी से उंगली की स्किन का सिकुड़ना क्यों होता है

उंगली की स्किन का सिकुड़ना – Finger Wrinkles in hindi

पानी में देर तक काम करने के बाद हाथ-पैर की उँगलियों की त्वचा सिकुड़ (shrink) सी जाती है। भले ही आप हाथ पोछ कर सुखा लें, पर फिर भी काफी देर तक उँगलियों की त्वचा पर झुर्रियां (Finger wrinkles) बनी रहती हैं और धीरे धीरे समान्य होती हैं। क्या आप जानते हैं इसका कारण क्या है ?

पानी गर्म हो ठंडा इससे भी फर्क नहीं पड़ता, आपकी ऊँगली की स्किन (Finger skin) दोनों तरह के पानी में सिकुड़ती है।चमड़ी का ऐसे सिकुड़ना शरीर की एक अनैच्छिक क्रिया है। अनैच्छिक क्रिया मतलब शरीर की वो क्रियाएँ जो हमारे कंट्रोल के बिना भी चलती रहती हैं जैसे हृदय गति, स्वांस क्रिया आदि। 

Why do Fingers wrinkle in water in hindi
हथेली की त्वचा का सिकुड़ना

Why do Fingers wrinkle in water in hindi 

वैज्ञानिकों ने अपने प्रयोगों में पाया कि उँगलियों की त्वचा का ऐसे सिकुड़ना वस्तुओं पर हाथ की पकड़ ज्यादा मजबूत हो जाती है और वस्तुएँ हाथ से फिसलती नहीं। जैसे कि गाड़ियों के टायर पर बने कटाव और पैटर्न सड़क पर गाड़ी की पकड़ मजबूत बनाये रखते हैं। 

पढ़ें> जीभ कटने का सरल घरेलू इलाज जानें

हथेली की त्वचा (Finger skin) की सिकुड़न मनुष्य जाति के क्रमिक विकास का परिणाम माना गया है। वैज्ञानिक मानते हैं कि आदिकाल में मनुष्य मछलियाँ पकड़ने जैसे कार्य की वजह से काफी देर तक पानी में रहता था। उँगलियों के इस प्रकार हो जाने से उसे पानी में शिकार पकड़ने में सहायता मिलती होगी। इसके अलावा बारिश के मौसम में चलते समय पैर के उँगलियों की त्वचा सिकुड़ने से मनुष्य को पैर जमा के चलने में आसानी होती होगी। 

इस रोचक जानकारी को दोस्तों के लिए व्हाट्सअप्प, फ़ेसबुक पर शेयर जरूर करें जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें। 

ये भी पढ़ें : 

ये लेख दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।