मोगली की कहानी हिन्दी में | Mowgli story in hindi

Mowgli Story in hindi – हम आपको मोगली की पूरी कहानी बतायेंगे पहले आप इस कहानी के सभी पात्रों को जान लीजिये, जिससे आपको कहानी समझ आये। हम सबने द जंगल बुक कार्टून मूवी या मोगली मूवी जरूर देखी होगी, जानिए मोगली की असली कहानी क्या थी।

द जंगल बुक की कहानी – Mowgli ki Kahani | Jungle Book story in hindi

द जंगल बुक कहानी का हीरो मोगली नाम का बच्चा है। मोगली का जन्म जंगल के पास एक गाँव में हुआ था। जब मोगली छोटा था तो एक दिन अपने माता पिता से बिछड़ कर जंगल में खो जाता है। मोगली जंगली जानवरों के बीच 10 साल रहता है और कहानी के अंत में अपने गाँव वापस लौट जाता है। आगे हम मोगली की पूरी कहानी बताते हैं। 

मोगली का जीवन परिचय, मोगली के माता पिता –

जंगल में मोगली के परिवार में उसे पालने वाली माँ भेड़िया रक्षा (Raksha), पिता भेड़िया दारुका (Daruka) और उनके दो बच्चे भेड़िये होते हैं जोकि मोगली के भाई बनते हैं। 

द जंगल बुक के अन्य मुख्य पात्र बलू (Baloo) नामक भालू, बगीरा (Bagheera) नामक तेंदुआ, का (Kaa) नामक अजगर, मुख्य विलेन शेर खान (Shere Khan) और मोगली को पालने वाले भेड़ियों का परिवार है। 

The Jungle Book Mowgli and Bagheera
द जंगल बुक की यादगार जोड़ी मोगली और बघीरा 

मोगली की कहानी – Mowgli story in hindi 

जंगल बुक की पूरी कहानी कुछ इस प्रकार है। एक इन्सान का छोटा बच्चा खेलते हुए गाँव से निकलकर जंगल में भटक जाता है। वो बच्चा पहाड़ के ऊपर रहने वाले भेड़ियों के झुण्ड के पास पहुंच जाता है। भेड़ियों के झुण्ड में एक जोड़ा दारुका और रक्षा उसे पालने की जिम्मेदारी लेते हैं और बच्चे का नाम मोगली (Mowgli) रखते हैं। भेड़ियों के इस ग्रुप का मुखिया अकेला (Akela) नाम का भेड़िया होता है। 

अकेला निर्णय लेता है कि मोगली अब भेड़ियों के साथ ही रहेगा। जंगल का राजा शेर खान मोगली को खाना चाहता है लेकिन बलू नाम का भालू और बघीरा नाम का तेंदुआ उस समय सुलह करवा देते हैं। 

शेर खान उस समय मोगली को छोड़ देता है लेकिन वो मौके की तलाश में रहता है। बलू, बगीरा और का नामकी अजगर मोगली को जंगल के नियम, जानवरों की भाषा और शिकार करना सिखाते हैं। 

कुछ सालों बाद अकेला नामक भेड़ियों का मुखिया बूढा और कमजोर होने लगता है। अब शेर खान ऐसे युवा भेड़ियों के साथ मिलकर योजना बनाता है जोकि मोगली को पसंद नहीं करते। 

शेर खान मोगली को भेड़ियों के समूह अलग करना चाहता है जिससे वो आसानी से उसका शिकार कर सके। मोगली ये बात समझ जाता है वो निर्णय लेता है उसे अब इंसानों के बीच लौट जाना चाहिए, इसी में सबकी भलाई है। 

मोगली के जाने से पहले बगीरा उसे सलाह देता है कि वो गाँव से इंसानों का लाल फल ले आये। लाल फल असल में आग है जिससे जानवर डरते हैं और लाल फल कहते हैं। 

मोगली आग से शेर खान का मुकाबला करता है और उसे बुरी तरह घायल कर देता है। शेर खान वहाँ से भाग जाता है। मोगली जंगल में थोड़े और दिन रुकता है। इस बीच बंदरों का समूह उसे बंदी बना लेते हैं और अपने नेता के पास ले जाते हैं। 

बंदरों का मुखिया मोगली से लाल फल मतलब आग बनाने का तरीका जानना चाहता है। मोगली के मना करने पर सब बन्दर उसे मारने दौड़ते हैं। मोगली उनसे मुकाबला करता है और उसकी मदद के लिए बघीरा और बलू भी आ जाते हैं। 

मोगली अपने दोस्तों के साथ बच कर वहां से भाग जाता है। मोगली अब जंगल छोड़कर गाँव चला जाता है। गाँव का एक आदमी और उसकी पत्नी मेसुआ मोगली को अपना बच्चा समझते हैं जिसे कई साल पहले कोई शेर उठा ले गया था। 

मोगली इंसानों के बीच रहने का तरीका सीखने लगता है और गाँव में जानवरों को चराने का काम करने लगता है। एक दिन जानवरों को चराते समय उसका भेड़िया भाई उससे मिलता है। वो मोगली को बताता है कि शेर खान वापस आ गया है। 

मोगली शेर खान को मारने की योजना बनाता है। वो अपने भेड़िया भाई और मुखिया अकेला भेड़िया के साथ मिलकर शेर खान को अपने जाल में फंसा लेता है। मोगली का भाई और अकेला मिलकर जानवरों को दो तरफ से हांकते हैं और मोगली शेर खान को भड़काकर सूखी नदी के बीच फंसाकर जानवरों की भगदड़ में मार डालता है। 

मोगली शेर खान की खाल निकालता है और अपने भेड़िया परिवार के पास पहाड़ के ऊपर पहुंचता है जहाँ पर उसके सभी दोस्त और भेड़ियों का समूह उसका स्वागत करते हैं। 

द जंगल बुक के लेखक कौन है ? 

The Jungle Book कहानी के लेखक नोबल पुरस्कार से सम्मानित कवि और प्रसिद्ध शिकारी रुडयार्ड किपलिंग थे।रुडयार्ड किपलिंग ने अपने जीवन के कई सच्चे अनुभवों को कथा-संस्मरणों में लिखा है। द जंगल बुक उनका एक कहानी संग्रह है, जोकि 1894 में प्रकाशित हुआ था। 

Rudyard Kipling का जन्म भारत में हुआ था। उन्होंने अपने बचपन के 6 साल भारत में बिताये। थोड़ा बड़े होने पर वह 10 साल के लिए इग्लैंड चले गये। इसके बाद वह पुनः भारत आये और काफी समय भारत में बिताया। 

द जंगल बुक की कहानी भारत में मध्य प्रदेश के जंगलों पर आधारित है। कहानी में बार बार Seonee नामक जगह का जिक्र आता है। मध्य प्रदेश में सेवनी (Seoni) नामक स्थान आज भी है। 

द जंगल बुक की कहानियाँ रुडयार्ड किपलिंग ने Vermont (USA) में रहने के दौरान लिखी थी। रुडयार्ड किपलिंग का भारत प्रेम आप इस बात से समझ सकते हैं कि वेरमोंट (अमेरिका) में उनके घर का नाम नौलखा (Naulakha) था। 

मोगली की कहानी और मोगली के बारे में जानकारी को Whatsapp, Facebook पर फॉरवर्ड और शेयर जरुर करें। द जंगल बुक कार्टून आपको कैसा लगता था, अपनी यादें नीचे कमेन्ट करें। 

यह भी पढ़ें >

एडी द ईगल – हार न मानने वाले जूनून की कहानी

ऑस्कर विनर जबर्दस्त मूवी ‘द रेवेनांट’ की असली कहानी

2 अद्भुत मनोवैज्ञानिक फ़िल्में जरुर देखनी चाहिए

जापान की 11 बेस्ट एनिमे मूवीज की कहनियाँ पढ़ें

हॉलीवुड की 9 बेहतरीन फिल्मों की कहानियाँ पढ़ें

source : https://en.wikipedia.org/wiki/Mowgli

https://www.britannica.com/topic/The-Jungle-Book

https://www.britannica.com/biography/Rudyard-Kipling

ये लेख दोस्तों को Share करे

शब्दबीज संपादक पिछले 5 वर्षों से हिन्दी में विभिन्न विषयों पर अच्छे लेखों का प्रकाशन कर रही है। हमारा उद्देश्य है कि सही जानकारी, अनुसंधान और गुणवत्ता पूर्ण लेख से हमारे पाठकों का ज्ञानवर्धन हो।

Leave a Comment