मूंगफली खाने के 15 फायदे | Mungfali ke fayde

मूंगफली के फायदे Peanuts benefits in hindi :

– 100 ग्राम कच्ची मूंगफली में 1 लीटर दूध के बराबर प्रोटीन होता है. मूंगफली में प्रोटीन 25% से ज्यादा होता है, उतनी ही मात्रा के मांस, मछली, अंडे में प्रोटीन 10% से ज्यादा नहीं होता.

मूंगफली खायें और दिमाग तेज करें. जी हाँ ! मूंगफली में पाए जाने वाला विटामिन B3 दिमागी प्रक्रिया तेज करता है और  याददाश्त अच्छी करता है. इसके साथ में पाए जाने वाला रेस्वेराट्रोल फ्लेवोनोइड तत्व Mind में Blood supply 30% बढ़ा देता है, जिससे दिमाग स्वस्थ और Active होने लगता है.

– मूंगफली (Peanut) शरीर के लिए आवश्यक तत्व जैसे आयरन, कैल्शियम, जिंक, मैग्नीशियम, पोटैशियम, सेलेनियम, मैंगनीज, कॉपर आदि का बहुत अच्छा स्रोत होता है.

– मूँगफली में पाए जाने वाला Niacin तत्व मष्तिष्क में रक्त का प्रवाह बढ़ाता है, जिससे अल्झाइमर रोग, तंत्रिका तन्त्र के रोर्गों से बचाव होता है.

– मूँगफली में पाए जाने वाला Vitamin E स्किन में चमक लाता और ड्राईनेस जैसे स्किन डिजीज दूर रखता है. यह त्वचा की इलास्टिसिटी बनाये रखता है, जिससे स्किन पर बढती उम्र के असर प्रभाव नहीं डालते.

mungfali ke fayde

– मूंगफली में एक खास विटामिन H होता है, जिसे Biotin भी कहते हैं. बायोटिन बाल, नाख़ून, स्किन को स्वस्थ और सुन्दर बनाता है.

Mungfali में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है. यह एनर्जी का अच्छा स्रोत भी है अतः इसे खाने पर जल्दी भूख नहीं लगती. अतः वेट मैनेजमेंट/वजन कंट्रोल करने के लिए मूंगफली सेवन करना चाहिये.

– बढ़ते हुए बच्चों के अच्छे विकास के लिए उन्हें मूंगफली का सेवन अवश्य करवाएं. मूंगफली में शरीर के लिए आवश्यक कई एमिनो एसिड्स और प्रोटीन की उचित मात्रा पायी जाती है जोकि शरीर के वृद्धि के लिए बढ़िया होते हैं.

मधुमेह में मूंगफली – Peanut for diabetes in hindi :

– मूँगफली खाने से डायबिटीज होने की आशंका घटती है. प्रतिदिन एक संतुलित मात्रा में मूंगफली खाने से मधुमेह होने की सम्भावना 21% कम होती है. मूंगफली में पाए जाने वाला मैंगनीज तत्व ब्लड शुगर कण्ट्रोल करता है, शरीर को कैल्शियम के अवशोषण में मदद करता है और पाचन शक्ति तेज करता है.

रिसर्च में पाया गया है कि मूंगफली के सेवन से स्वस्थ लोग और Type 2 Diabetes के रोगियों में ब्लड शुगर बढ़ने नहीं पाता. British Journal of Nutrition के अनुसार सुबह मूंगफली या पीनट बटर का सेवन दिन भर शुगर लेवल कण्ट्रोल करने में मदद करता है.

– डिप्रेशन से बचाव और उपचार में मूँगफली का सेवन अच्छा होता है. मूंगफली में ट्रिपटोफान नामक एमिनोएसिड होता है जोकि मूड सुधारने वाले हार्मोन सेरोटोनिन का स्राव बढ़ाता है. जिससे मूड अच्छा होता है और मन शांत होता है.

– मूंगफली Heart के लिए बहुत अच्छा होता है. यह बुरे कोलेस्ट्रॉल को घटाता है और अच्छे Cholesterol को बढ़ाता है. मूंगफली पेट के कैंसर, ब्रैस्ट कैंसर और fungal infection होने की सम्भावनाएं कम करता है.

उबली हुई मूंगफली खाने से Biochanin-A और Genistein नामक एंटीओक्सिडेट की क्वालिटी और भी बढ़ जाती है.  अपनी एंटीओक्सिडेंट क्वालिटी के लिए मशहूर मूंगफली फ्री रेडिकल्स निष्क्रिय करता है.

– मूंगफली में पाए जाने वाला आयरन लाल रक्त कोशिकाएं बढ़ाता है. मूंगफली में पाए जाने वाला Calcium हड्डियाँ मजबूत बनाता है और बढती उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) होने की सम्भवना कम करता है.

– गाल ब्लैडर में स्टोन से बचना चाहते हों तो मूंगफली खाएं. मूंगफली (Moongphali) या Peanut Butter खाने से गाल ब्लैडर स्टोन बनने की सम्भावना 25 % घटती है.

मूंगफली खाने में सावधानियां :

थाइरोइड रोगियों को मूंगफली सेवन नहीं करना चाहिए. इसमें पाए जाने वाला Goitrogens नामक तत्व थाइरोइड ग्रन्थि की प्रक्रिया असंतुलित कर सकता है. मूँगफली (Peanuts) एक हाई कैलोरी युक्त बीज है, इसके अधिक सेवन से मोटापा भी हो सकता है, अतः संतुलित मात्रा में ही इसे खाएं.

किडनी या गाल ब्लैडर के रोगी भी Mungfali सेवन न करें. जिन लोगों को मूंगफली से एलर्जी होती हैं, उन्हें मूँगफली खाने से उलटी, दस्त, पेट दर्द, अस्थमा के लक्षण दिखते हैं.

> घर में थायरॉयड टेस्ट करें 

> किडनी क्या करती है, किडनी रोग के लक्षण क्या है 

पीनट बटर मतलब मूंगफली का मक्खन – Peanut butter in hindi :

250 ग्राम पीनट बटर खाने से 300 ग्राम पनीर, 2 लीटर दूध या 15 अंडे के बराबर ऊर्जा मिलती है. पीनट बटर मूँगफली के फायदे पाने का स्वादिष्ट तरीका है. पीनट बटर खाने के कई फायदे हैं.

पीनट बटर आँखों को स्वस्थ रखता है, कैंसर से बचाता है, कोलेस्ट्रॉल कम करता है, हृदय के लिए अच्छा है और पाचन सही रखता है. पीनट बटर बाजार में मिलता है, लेकिन इसे बड़ी आसानी से घर पर भी बनाया जा सकता है.

घर पर पीनट बटर कैसे बनायें – Peanut butter at home :

पीनट बटर ब्रेड, टोस्ट, रोटी आदि पर लगाकर खाया जाता है. घर पर पीनट बटर बनाने के लिए कच्ची मूंगफली के दाने लें. अगर खुले दाने खरीदे हैं तो ठंडे पानी से धोकर सुखा लें, जिससे गंदगी निकल जाये.

फिर इन दानों को किसी पैन या कड़ाही में 1-2 चम्मच देसी घी या मूंगफली के तेल में भून लें. मूंगफली चलाते रहें जिससे दाने समान भुन जाएँ और जले नहीं. जब मूंगफली कुछ भूरा-सुनहरा हो जाये तो गैस से उतार लें.

जब मूंगफली के दाने थोड़ा गर्म रहे, तभी इसे मिक्सी में पीस लें. 1-2 मिनट पीसने के बाद मिक्सी जार खोल कर देख लें, कि आपकी इच्छानुसार बारीक है या नहीं. अगर नहीं तो 2-3 मिनट और पीसें. आपका पीनट बटर तैयार है.

अगर आप पीनट बटर में कुछ स्वाद चाहते हैं तो पीसते समय या बाद में नमक-चीनी या शहद स्वादानुसार मिला सकते हैं. घर पर बना पीनट बटर बाजार के पीनट बटर से अधिक स्वादिष्ट और सेहतमंद होता है. इसे एयर टाइट कंटेनर में बंद करके फ्रिज में रखें.

मूंगफली के बारे में जानकारी | Mungfali khane ke fayde पर यह लेख Whatsapp, Facebook पर Share और Forward अवश्य करें, जिससे आपके मित्र, सम्बन्धी लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें. अपने सवाल, सुझाव नीचे कमेंट करें.

ये भी पढ़ें :

करी पत्ता के अद्भुत फायदे | Curry leaves in hindi

मोसम्बी जूस के 20 फायदे | Mosambi in hindi

शरीर में पानी की कमी के लक्षण | पानी की कमी से होने वाली बीमारियाँ

शहद दालचीनी की चाय के फायदे | Honey Cinnamon tea in hindi

सहजन की पत्ती, फूल, फली के 15 गजब फायदे | Moringa in hindi

विटामिन E की कमी से क्या होता है, विटामिन E कैप्सूल के फायदे | Vitamin E in hindi

पेशाब में झाग आना किस बीमारी का लक्षण है | foamy urine in hindi