अनिद्रा के इलाज का 7 घरेलू उपाय, Insomnia in Hindi

अनिद्रा के उपाय – Insomnia in hindi :

अगर आपको अक्सर ही रात में थके होने के बावजूद नींद नहीं आती या फिर हफ्ते में 3 रात नींद नहीं आ रही और नींद आए तो बहुत कम समय के लिए आए तो यह अनिद्रा रोग हो सकता है। 

आधुनिक जीवनशैली के दबाव के कारण करोडों लोग अनिद्रा (Insomnia) से ग्रस्त हैं. अच्छी सेहत के लिए भरपूर नींद आना बहुत ज़रूरी है. दवा बनाने वाली कंपनियाँ अनिद्रा के इलाज की दवाइयां बनाकर Billion Dollar का बिजनेस कर रही हैं

लेकिन ऐसे बहुत से घरेलू उपाय हैं जिनसे नैचुरल तरीके से अनिद्रा का इलाज कर सकते हैं और सुखद नींद पा सकते हैं.अनिद्रा होने के अनेक संभावित कारण हो सकते हैं. अधिकांश मामलों में अनिद्रा का कारण तनाव (Stress), चिंता (Anxiety) और अवसाद (Depression) होता है.

चाहे आपकी समस्या कितनी ही छोटी क्यों न हो लेकिन ये आपकी नींद को धीरे-धीरे प्रभावित करती है और आप बेचैनी (Restlessness) के शिकार होते जाते हैं.

– कुछ दवाइयों के दुष्प्रभाव से भी अनिद्रा की शिकायत हो जाती है. चाहे जो भी कारण हो, लंबे समय से हो रही अनिद्रा शरीर को बोझिल कर देती है. इससे सोचविचार की क्षमता कुंद होने लगती है और पूरे शरीर पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है.

अनिद्रा के प्राकृतिक उपचार के लिए हम आपको उन वस्तुओं के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके घर में आसानी से मिल सकती हैं. इनके उपयोग से किसी प्रकार की हानि की संभावना न के बराबर है.

यदि आपको भी लंबे समय से अनिद्रा की समस्या हो तो आप नीचे दिए गए उपाय आजमा सकते है :

1. जायफल (Nutmeg for anidra) : पुरानी चिकित्सा पद्धतियों में जायफल का प्रयोग नींद लाने में सहयोगी पदार्थ के रूप में सदियों से किया जा रहा है.

जायफल लेने का सबसे प्रचलित तरीका ये है कि सोने से पहले इसकी एक चुटकी मात्रा दूध में डालकर पी लें. यदि आप दूध पसंद नहीं करते तो इसे पानी या फ्रूट जूस में मिलाकर भी ले सकते हैं.

2. जीरा (Cumin Seeds)पुरानी पद्धतियों में जीरे के तेल को निद्राकारक पदार्थ कहा गया है क्योंकि इसमें ट्रांक्विलाइजिंग (tranquilizing) प्रभाव होते हैं.

जीरा हमारे पाचन तंत्र के लिए भी बहुत लाभदायक है. एक चाय का चम्मच जितना जीरा पके केले में लगाकर सोते समय खाना नींद के लिए अच्छा होता है. जीरे के प्रयोग से शरीर में चुस्ती-फुर्ती आती है, शरीर हल्का महसूस होता है.

– एक चम्मच जीरा पतीले में कुछ देर भूनिए. थोड़ी देर में इसका तेल बेहतरीन खुशबू के साथ बाहर आने लगेगा. फिर इसमें एक कप पानी डालकर पांच मिनट तक उबलने दें. थोड़ा ठंडा होने पर इसे छान लें और सोने के पहले चाय की तरह पिएं.

3. केसर (Saffron) एक्यूट अनिद्रा (Acute Insomnia) में केसर नींद लाने में मददगार है. केसर को लेने का भी सबसे उपयुक्त तरीका यह है कि इसके कुछ रेशे दूध में डालकर सोने के पहले पी जाएं.

4. गर्म दूध (Warm Milk for insomnia in hindi) : गर्म दूध पीने से आरामदायक अहसास मिलता है क्योंकि दूध में ट्रिप्टोफेन (Tryptophan) नामक यौगिक होता है जो एक प्राकृतिक निद्राकारक है. हल्के गर्म दूध के छोटे गिलास में एक चुटकी दालचीनी डालकर पीने से अच्छी नींद आती है.

5. गर्म स्नान (Hot Bath/Shower) सोने से कुछ समय पहले गर्म पानी के स्नान से शरीर बिल्कुल तरोताज़ा हो जाता है और ऐसे हार्मोन रिलीज़ करता है जो शरीर को आराम लेने के लिए तैयार करते हैं.

गर्म पानी के स्नान को और बेहतरीन बनाने के लिए पानी में कुछ बूंद कैमोमील (chamomile) या लेवेंडर (lavender) जैसे एसेंशियल ऑइल्स भी मिलाए जा सकते हैं.

6. एपल साइडर सिरका और शहद (Apple Cider Vinegar & Honey use for insomnia) इन दोनों पदार्थों का मिश्रण अनेक कार्य करता है लेकिन अनिद्रा के मामलों में ये बहुत उपयोगी है क्योंकि Apple Cider Vinegar में भी कुछ ऐसे एमीनो एसिड (amino acids) होते हैं जो ट्रिप्टोफेन रिलीज़ करने में सहायक होते हैं.

– शहद का प्रयोग करने से शरीर में इंसुलिन का लेवल बढ़ जाता है जिससे सेरोटोनिन (serotonin) नामक न्यूरोट्रांसमिटर रिलीज़ होता है. प्रायः चाय के दो चम्मच जितना एप्पल साइडर सिरका और शहद पानी में मिलाकर पिया जाता है.

7. केला (Banana for insomnia) : अनिद्रा (Insomnia) का उपचार करने में केला विशेष रूप से लाभदायक है. दूध और एप्पल साइडर सिरका की ही भांति केला भी ट्रिप्टोफेन और अन्य आवश्यक एमीनो एसिड रिलीज़ करता है.

ये एमीनो एसिड भी शरीर में सेरोटोनिन के लेवल को बढ़ाते हैं. केला खाने से भूख भी शांत होती है और देर रात उठकर कुछ खाने की आदत से भी राहत मिलती है.

ऊपर बताए गए सभी 7 उपाय बहुत आसान और हानिरहित हैं. यदि आपको लंबे समय से अनिद्रा (Insomnia) की शिकायत हो तो अपने Doctor की सलाह से आप ऊपर बताए उपायों को आजमा कर देख सकते हैं. 

– लेख अच्छा लगा तो शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें –

यह भी पढ़ें :

One Response

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.