शेयर बाजार से जुड़े 13 आश्चर्यजनक फैक्ट्स और अविश्वसनीय कहानियाँ

शेयर बाजार से जुड़े 13 आश्चर्यजनक फैक्ट्स और अविश्वसनीय कहानियाँ

Share Market की रोचक बातें :

1) भारतीय शेयर बाज़ार के धुरंधर खिलाड़ी राकेश झुनझुनवाला के बारे में कौन नहीं जानता. राकेश झुनझुनवाला को भारत का वारेन बफ़े ही समझिये. एक बार राकेश जी की माता ने उनसे कहा कि वो अपना सारा पैसा कागज में (शेयर) ही क्यों रखता है. कभी कोई प्रॉपर्टी आदि में निवेश क्यों नहीं करता ?

राकेश ये सुनकर मुस्कुरा दिए. कुछ दिन बाद अपनी माँ की इच्छा पूरी करने के लिए राकेश ने मुंबई के महंगे मालाबार हिल्स इलाके में एक फ्लैट खरीद लिया. सन 2004 में इस फ्लैट की कीमत 27 करोड़ थी. राकेश ने यह फ्लैट खरीदने के लिए Crisil के 27 करोड़ मूल्य के शेयर बेच दिए थे. कुछ वर्ष बाद 2015 में राकेश ने वह फ्लैट 48 करोड़ में बेच दिया. मुनाफा हुआ 21 करोड़.

लेकिन ये जानकर आपके होश उड़ जायेंगे कि अगर 2004 में राकेश 27 करोड़ के शेयर न बेचते तो आज उनकी कीमत 700 करोड़ होती, साथ ही 50 करोड़ का डिविडेंड अलग से मिलता. फ़िलहाल राकेश झुनझुनवाला जैसे दिग्गज निवेशक के लिए कुछ करोड़ मायने नहीं रखता, लेकिन इस घटना से आप निवेश की पॉवर का अंदाजा लगा सकते हैं.

2) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में करीब 5,689 कम्पनियाँ लिस्टेड हैं, जोकि एक विश्व रिकॉर्ड है. भारत में सबसे पहला निवेश किये जाने वाला शेयर Dutch East India Company का था. सन 1875 में स्थापित बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज एशिया का सबसे पहले स्टॉक एक्सचेंज है.

3) रॉयल एनफील्ड बुलेट आयशर मोटर्स की बाइक है. अगर आपने सन 2002 में 1,75,000 रूपये खर्च करके एक रॉयल एनफील्ड बुलेट खरीदी होती तो आज 16 साल बाद वह एक पुरानी, घिसी बाइक में बदल गयी होती. लेकिन अगर आपने वही 1,75,000 रुपये रॉयल आयशर मोटर्स के शेयर खरीदने में लगाये होते तो आज उसका मूल्य 21 करोड़ 65 लाख रुपये होता.

4) इसी प्रकार यदि आपने सन 2001 में MRF tyres में 1 लाख रुपये का निवेश किया होता तो आज उसका मूल्य 1 करोड़ 31 लाख रुपये होता. सन 2003 में Symphony coolers का एक शेयर 16 पैसे का था, जबकि आज एक शेयर 1300 रूपये का है. शेयर मार्किट में लाभ ही नहीं कई बार हानि भी हुई जैसे Educomp Solutions का एक शेयर 2008  में 1100 रुपये का था लेकिन आज उसकी कीमत 9 रुपये रह गयी है. सही समय पर सही निर्णय और बाजार पर पैनी नजर रखने की रणनीति ही सफल मानी गयी है.

5) 120 करोड़ की आबादी वाले भारत में केवल 2 करोड़ डीमैट अकाउंट ही है, जिनमे से ज्यादातर एक्टिव नहीं है. भारतीय घरों में की जाने वाली बचत का केवल 2% ही शेयर मार्किट में निवेशित है. इससे हम अंदाजा लगा सकते हैं कि भारतीय रिस्क लेने से कितना बचते हैं.

6) शेयर मार्किट के खेल निराले हैं. इसमें कई बार लाभ-हानि-लाभ चक्र चलता रहता है. 2009 में जब Satyam software स्कैंडल हुआ तो उसके शेयर के दाम तेजी से गिरे. 10 जनवरी 2009 को एक शेयर की कीमत 11.50 रुपये हो गयी. इस अनिश्चितता के माहौल में कइयों ने अपने शेयर धड़ाधड़ बेचे. शायद ही कोई बड़ा हिम्मती, आशावादी या जुआरी हो जिसने अपने शेयर न बेचे.

मजे ही बात यह है कि जिसने उस समय अपने शेयर नहीं बेचे या उस समय Satyam के शेयर खरीद लिए, वो आज मुनाफ़ा कमा रहा होगा. Satyam software को कुछ समय बाद Tech Mahindra ने खरीद लिया और आज उसके एक शेयर की कीमत 430 रूपये है.

Paison ka ped lgaiye

7) सन 2015 में भारत में जब मैगी बैन कर दी गयी तो 15 साल में पहली बार नेस्ले को तिमाही घाटा हुआ.

8) भारत के वारेन बफे राकेश झुनझुनवाला ने 1985 में 5000/- रुपये से निवेश करना शुरू किया. आज की तारीख में राकेश झुनझुनवाला के पास 8000 करोड़ रूपये से भी अधिक मूल्य के शेयर्स हैं. राकेश झुनझुनवाला की काबिलियत का एक छोटा सा उदाहरण देखिये. कुछ वर्षों पहले राकेश ने Titan के 6 करोड़ शेयर 3 रूपए प्रति शेयर की दर से खरीद लिए थे. आज Titan के एक शेयर की कीमत 471 रुपये है.

9) Ronald wayne की कहानी तो निवेश की दुनिया की सबसे प्रसिद्ध कहानी है. रोनाल्ड वेन, स्टीव जॉब्स और स्टीव वोजनिएक ने साथ मिलकर Apple Computers की स्थापना की थी. Ronald wayne ने सन 1976 में अपने हिस्से के कुल 10% शेयर 800$ में बेच दिए और वो कंपनी से अलग हो गये. अगर रोनाल्ड वेन ने अपने शेयर न बेचे होते तो आज उन 10% शेयर की कीमत 35 बिलियन डॉलर (करीब 2.7 लाख करोड़ रूपये) होती.

10) सन 2015 में इंटरनेट बिजनेसमैन किम डॉट कॉम ने एक दिवालिया होती कम्पनी के €375,000 मूल्य के शेयर खरीद लिए और साथ ही घोषणा की कि वो इस कम्पनी में 50 मिलियन यूरो निवेश करेंगे. इस खबर से शेयर बाज़ार का रुख ही बदल गया. दिवालिया होती उस कंपनी के शेयर का मूल्य रातों रात 300% बढ़ गया.

किम डॉट कॉम ने कुछ दिन तक शेयर को अपने पास रखा और जब दाम बढ़ गये तो उसने अपने शेयर €1,568,000 में बेचकर मोटा मुनाफ़ा कमा लिया. असल में किम डॉट कॉम के पास 50 मिलियन यूरो कभी थे ही नहीं. ये सब तो चालाकी से प्रॉफिट बनाने का खेल था.

11) दुनिया में बिलियन डॉलर वैल्यू की तो कई कंपनिया है, लेकिन अभी तक ट्रिलियन डॉलर वैल्यू की एक भी नहीं है. ऐसी उम्मीद है कि जल्द ही कोई एक कंपनी 1 ट्रिलियन डॉलर वैल्यू की हो सकती है. पहली 1 ट्रिलियन डॉलर वैल्यू कम्पनी बनने की रेस में 4 कंपनियां है ; Apple, Facebook, Google और Amazon.

12) दुनिया में सबसे महंगा शेयर वारेन बफे की कम्पनी Berkshire Hathaway का है. Berkshire Hathaway के एक शेयर की कीमत 2,45,330 $ (1 करोड़ 60 लाख रूपये) है. इतनी ऊँची कीमत का कारण यह है कि Berkshire Hathaway न तो अपने शेयर को विभाजित करती है और न ही कोई डिविडेंड देती है.

13) 4 जनवरी 2001 को एक दिन में सर्वाधिक शेयर खरीद फरोख्त का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना. उस दिन न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में  2,129,445,637 शेयर खरीदे-बेचे गये. एक दिन में सबसे कम शेयर का बिज़नस 16 मार्च 1830 को हुआ था, उस दिन केवल 31 शेयर की खरीद फरोख्त हुई.

यह भी पढ़िए :

दुनिया के सबसे अमीर निवेशक वारेन बफे के दायें हाथ अजित जैन

Pass Pass Pulse toffee ने कैसे 8 महीने में 100 करोड़ का कारोबार किया

Mobile Apps बनाइए और करोड़ो कमाइये, 3 successful apps के सफलता की कहानी

चौंकिए नहीं ! पूरी दुनिया के 80% से ज्यादा चश्में एक ही कम्पनी बनाती है : Luxottica

BTW यानि बिट्टू टिक्की वाला के सतीराम यादव : ठेले से रिटेल चेन का सफ़र