अनिद्रा के उपचार के लिए आजमाएं ये 7 नैचुरल उपाय

By | 15/05/2016

बेहतर स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नींद लेना बहुत ज़रूरी है. आधुनिक जीवनशैली के दबाव के कारण करोडों लोग अनिद्रा (Insomnia) से ग्रस्त हैं और फार्मास्यूटिकल कंपनियां अनिद्रा के उपचार के लिए दवाइयां बनाकर अरबों डॉलर का बिजनेस करती हैं, लेकिन आपके घर में ऐसे बहुत से प्राकृतिक पदार्थ हैं जिनका उपयोग करके आप नैचुरल तरीके से अपनी अनिद्रा का उपचार कर सकते हैं और सुखद नींद ले सकते हैं.

Insomnia home Remedy

स्रोत

अनिद्रा होने के अनेक संभावित कारण हो सकते हैं. अधिकांश मामलों में अनिद्रा का कारण तनाव (Stress), चिंता (Anxiety) और अवसाद (Depression) होता है. चाहे आपकी समस्या कितनी ही छोटी क्यों न हो लेकिन ये आपकी नींद को धीरे-धीरे प्रभावित करती है और आप बेचैनी (Restlessness) के शिकार होते जाते हैं. कुछ दवाइयों के दुष्प्रभाव से भी अनिद्रा की शिकायत हो जाती है. चाहे जो भी कारण हो, लंबे समय से हो रही अनिद्रा शरीर को बोझिल कर देती है. इससे सोचविचार की क्षमता कुंद होने लगती है और पूरे शरीर पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है.

अनिद्रा के प्राकृतिक उपचार के लिए हम आपको उन वस्तुओं के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके घर में आसानी से मिल सकती हैं. इनके उपयोग से किसी प्रकार की हानि की संभावना न के बराबर है. यदि आपको भी लंबे समय से अनिद्रा की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श लेकर नीचे दिए गए उपाय आजमा सकते है :

जायफल (Nutmeg) – पुरानी चिकित्सा पद्धतियों में जायफल का प्रयोग नींद लाने में सहयोगी पदार्थ के रूप में सदियों से किया जा रहा है. जायफल लेने का सबसे प्रचलित तरीका ये है कि सोने से पहले इसकी एक चुटकी मात्रा दूध में डालकर पी लें. यदि आप दूध पसंद नहीं करते तो इसे पानी या फ्रूट जूस में मिलाकर भी ले सकते हैं.

जीरा (Cumin Seeds) –पुरानी पद्धतियों में जीरे के तेल को निद्राकारक पदार्थ कहा गया है क्योंकि इसमें ट्रांक्विलाइजिंग (tranquilizing) प्रभाव होते हैं. जीरा हमारे पाचन तंत्र के लिए भी बहुत लाभदायक है. एक चाय का चम्मच जितना जीरा पके केले में लगाकर सोते समय खाना नींद के लिए अच्छा होता है. जीरे के प्रयोग से शरीर में चुस्ती-फुर्ती आती है. एक चम्मच जीरा पतीले में कुछ देर भूनिए. थोड़ी देर में इसका तेल बेहतरीन खुशबू के साथ बाहर आने लगेगा. फिर इसमें एक कप पानी डालकर पांच मिनट तक उबलने दें. थोड़ा ठंडा होने पर इसे छान लें और सोने के पहले चाय की तरह पिएं.

केसर (Saffron) –एक्यूट अनिद्रा (Acute Insomnia) में केसर नींद लाने में मददगार है. केसर को लेने का भी सबसे उपयुक्त तरीका यह है कि इसके कुछ रेशे दूध में डालकर सोने के पहले पी जाएं.

गर्म दूध (Warm Milk) –गर्म दूध पीने से आरामदायक अहसास मिलता है क्योंकि दूध में ट्रिप्टोफेन (Tryptophan) नामक यौगिक होता है जो एक प्राकृतिक निद्राकारक है. हल्के गर्म दूध के छोटे गिलास में एक चुटकी दालचीनी डालकर पीने से अच्छी नींद आती है.

गर्म स्नान (Hot Bath/Shower) –सोने से कुछ समय पहले गर्म पानी के स्नान से शरीर बिल्कुल तरोताज़ा हो जाता है और ऐसे हार्मोन रिलीज़ करता है जो शरीर को आराम लेने के लिए तैयार करते हैं. गर्म पानी के स्नान को और बेहतरीन बनाने के लिए पानी में कुछ बूंद कैमोमील (chamomile) या लेवेंडर (lavender) जैसे एसेंशियल ऑइल्स भी मिलाए जा सकते हैं.

एपल साइडर सिरका और शहद (Apple Cider Vinegar and Honey) –इन दोनों पदार्थों का मिश्रण अनेक कार्य करता है लेकिन अनिद्रा के मामलों में ये बहुत उपयोगी है क्योंकि Apple Cider Vinegar में भी कुछ ऐसे एमीनो एसिड (amino acids) होते हैं जो ट्रिप्टोफेन रिलीज़ करने में सहायक होते हैं. शहद का प्रयोग करने से शरीर में इंसुलिन का लेवल बढ़ जाता है जिससे सेरोटोनिन (serotonin) नामक न्यूरोट्रांसमिटर रिलीज़ होता है. प्रायः चाय के दो चम्मच जितना एप्पल साइडर सिरका और शहद पानी में मिलाकर पिया जाता है.

केला (Bananas) –अनिद्रा का उपचार करने में केला विशेष रूप से लाभदायक है. दूध और एप्पल साइडर सिरका की ही भांति केला भी ट्रिप्टोफेन और अन्य आवश्यक एमीनो एसिड रिलीज़ करता है. ये एमीनो एसिड भी शरीर में सेरोटोनिन के लेवल को बढ़ाते हैं. केला खाने से भूख भी शांत होती है और देर रात उठकर कुछ खाने की आदत से भी राहत मिलती है.

ऊपर बताए गए सभी 7 उपाय बहुत आसान और हानिरहित हैं. यदि आपको लंबे समय से अनिद्रा की शिकायत हो तो अपने डॉक्टर की सलाह से आप ऊपर बताए उपायों को आजमा कर देख सकते हैं.

Source

यह भी पढ़ें :

ये भी पढ़ें   अपने लीवर (Liver) को सुरक्षित रखने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय

2 thoughts on “अनिद्रा के उपचार के लिए आजमाएं ये 7 नैचुरल उपाय

  1. Pingback: युवावस्था से ही स्तन कैंसर के खतरे को बढ़ाने वाले इन 7 फैक्टर्स से बचें 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *