भगवतगीता हिन्दी PDF Download करें – Bhagwat Geeta in Hindi PDF

Download Bhagwat Geeta Hindi PDF : नीचे गीताप्रेस की भगवतगीता PDF Download लिंक दिया गया है, जिसमें श्लोक अर्थ सहित होता है। गीताप्रेस सन 1923 से श्रीमदभगवतगीता का जो संस्करण छाप रहा है, उसे ही सबसे ज्यादा असली व प्रामाणिक माना गया है। अगर आप गीता को सही से समझना चाहते हैं तो आपको कुछ दिव्य संत और गुरुओं द्वारा की गई गीता की व्याख्या, टीका पढ़नी चाहिए जिनके PDF लिंक दिए गए हैं। 

Download Shrimad Bhagwat Geeta in hindi PDF – भगवतगीता हिन्दी PDF डाउनलोड करें :

गीताप्रेस भगवतगीता PDF के साथ ही कुछ महान संतों की गीता व्याख्या के पीडीएफ़ लिंक भी दिए गए हैं। आप इन 6 लिंक में से कोई भी श्री मदभगवतगीता PDF डाउनलोड करके उसका अध्ययन कर सकते हैं।

यदि आपको गीता नहीं समझ में आती है तो भी गीता के श्लोकों का पाठ करना शुभफलदायक, मानसिक भय और कई कष्टों का निवारण करता है। ये भगवान के श्रीमुख से निकली वाणी है, विश्वास सहित इसका पाठ करें।

1. गीताप्रेस की हिन्दी भगवतगीता PDF Download (साधारणभाषा टीकासहित)

गीता के इस संस्करण में हर श्लोक का सरल अर्थ बताया गया है। इसमें श्लोकों की व्याख्या नहीं है, केवल सरल-साधारण भाषा में टीका लिखी गई है। जो लोग नियमित रूप से गीता के कुछ श्लोक का पाठ करते हैं, उनके लिए यह भगवतगीता उपयुक्त है। गीता एक ऐसा ग्रंथ है, जिसे एक बार पढ़ना काफी नहीं है, इसे जितनी बार पढ़ा जाए नयी ज्ञान की बातें उजागर होती है। जिन लोगों का हिन्दी ज्ञान बहुत अच्छा नहीं है वो इस पुस्तक से गीता पढ़ने की शुरुआत कर सकते हैं।

Download Shrimad Bhagwat Geeta in Hindi PDF

2. गीताप्रेस श्रीमदभगवतगीता तत्वविवेचनी PDF Download ‘जयदयाल गोयन्दका’ की हिन्दी टीकासहित

गीताप्रेस के संस्थापक सेठ जयदयाल गोयन्दका एक महान ज्ञानी पुरुष थे। वो जब गीता पर प्रवचन देते थे, तो सुनने वालों की भीड़ लग जाया करती थी। जयदयाल गोयन्दका जी ने गीता के शुद्ध रूप को जनसामान्य तक पहुँचाने के लिए ही गीताप्रेस को स्थापित किया था। गीता तत्व विवेचनी जयदयाल गोयन्दका जी द्वारा लिखित गीता का भाष्य है।

गीता तत्व विवेचनी PDF Hindi Download

3. आदिगुरु शंकराचार्य की गीता शंकर भाष्य PDF डाउनलोड

स्वामी विवेकानंद जी ने बताया है कि भारतीय इतिहास में एक समय ऐसा था, जब लोगों में भगवतगीता के प्रति लोगों में जागरूकता नहीं थी। जब आदिगुरु श्री शंकराचार्य जी ने गीता के ऊपर भाष्य लिखा, उसके बाद से विद्वानों और जनसामान्य में पुनः श्रीमद्भगवतगीता के प्रति नयी चेतना और श्रद्धा का जन्म हुआ।

भगवतगीता का शंकर भाष्य Hindi PDF Download

4. स्वामी अड़गड़ानन्द जी द्वारा लिखित यथार्थ गीता PDF डाउनलोड

श्री अड़गड़ानन्द की यथार्थ गीता भी भगवतगीता की एक लोकप्रिय पुस्तक है। आज के जमाने के हिसाब से यथार्थ गीता में बताई गयी गीता व्याख्या समझने, अपनाने में आसान और व्यवहारिक है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे को गिफ्ट की थी। खुद नरेंद्र मोदी भी यथार्थ गीता पढ़ना पसंद करते हैं।

यथार्थ गीता Hindi PDF Download

5. गीताप्रेस श्रीमदभगवतगीता साधक संजीवनी PDF Download ‘स्वामी रामसुखदास’ हिन्दी टीका

स्वामी श्री रामसुखदास जी एक महान संत हुए हैं जिन्हे ईश्वर का साक्षात्कार हुआ था। रामसुखदास जी एक सरल स्वभाव के संत थे और ये सरलता उनके द्वारा लिखी गीता साधक संजीवनी में भी दिखती है। गीताप्रेस को सफल बनाने में स्वामी रामसुखदास जी का भी बड़ा योगदान था, उन्होंने कई आदिग्रंथों की व्याख्या और प्रसिद्ध पुस्तकें लिखी हैं।

Download श्रीमदभगवतगीता साधक संजीवनी Hindi PDF

6. गीताप्रेस श्रीमदभगवतगीता PDF Download (पदच्छेद, अन्वय और साधारण भाषाटीकासहित)

गीता का यह संस्करण मूल संस्कृत गीता को व्याकरण की दृष्टि से समझने के लिए अच्छा है। इसमें हर श्लोक को शब्दशः अनुवाद किया गया है। समझने में कठिन दिखने वाले कई बड़े शब्दों को संधि-विच्छेद करके हर शब्द का अर्थ बताया गया है। इस गीता में श्लोक की व्याख्या नहीं की गई है। यह गीता ऐसे साधकों के लिए है जो मूल गीता का अर्थ पढ़कर संस्कृत ज्ञान बढ़ाना चाहते हैं या स्वयं की दृष्टि से गीता को समझना चाहते हैं।

भगवतगीता PDF Download (शब्द-अर्थ सहित)

आप भी Gita PDF Download Link दोस्तों को व्हाट्सप्प, फ़ेसबुक पर शेयर और फॉरवर्ड करें, जिससे कई लोग गीता के ज्ञान को पढ़कर जीवन को सही दिशा में प्रेरित कर सकें। अपने सवाल, सुझाव, कमेन्ट नीचे लिखें। 

पढ़ें : गीता का सार हिन्दी और इंग्लिश में पढिए 

भगवतगीता में क्या है जो इतने लोग पढ़ते हैं ? आप भी जानें

भगवान श्रीकृष्ण पर लगे कोर्ट केस को कैसे जीता गया

श्रीकृष्ण के कलियुग अवतार खाटू श्याम बाबा की कहानी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.