जे के रोलिंग बायोग्राफी | हैरी पॉटर राइटर का जमीन से बुलंदियों का सफ़र

जे के रोलिंग की जीवनी के 15 फैक्ट्स (J K Rowling biography in hindi) :

Harry Potter बुक सीरीज की लेखिका जे के रोलिंग की जीवनी संघर्ष से शिखर तक पहुँचने की कहानी है. जे के रोलिंग के बारे में आप ज्यादातर बातें जानते होंगे, इसलिए हम पूरी कहानी दोहराने के बजाय उनके बारे में कुछ फैक्ट्स से आपको अवगत कराते हैं.

– जे के रोलिंग का पूरा नाम जोएन कैथलीन रोलिंग है.

– जब वो रोलिंग 17 वर्ष की थीं तो उनका सपना था कि वे ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पढाई करें लेकिन उन्हें एडमिशन नहीं मिल पाया.

– जब वो 25 वर्ष की हुईं तो उनकी माँ की मृत्यु हो गयी.

– जब जे के रोलिंग 26 वर्ष की थीं तो उनका मिसकैरेज (गर्भपात) हो गया था.

27 वर्ष की उम्र में उनका विवाह हुआ. उनके पति की उनसे नहीं बनती थी, जे के रोलिंग घरेलू हिंसा का भी शिकार हुईं. इस सब के बीच वो एक बच्ची की माँ भी बन गयीं.

28 वर्ष की उम्र में उनका अपने पति से तलाक हो गया. इस सब की वजह से जे के रोलिंग गहरे डिप्रेशन की रोगी बन गयीं.

29 वर्ष की उम्र में एक सिंगल मदर के रूप में जे के रोलिंग सोशल वेलफेयर से मिलने वाली नाममात्र राशि से अपना जीवन काट रहीं थी.

30 की उम्र तक आते आते जे के रोलिंग अपने जीवन से परेशान होकर आत्महत्या जैसे विचारों से घिरने लगीं.

J K Rowling Struggling days image

संघर्ष के दिनों में जे के रोलिंग कॉफ़ी शॉप में बैठकर लिखा करती थीं

इस सब के बावजूद जे के रोलिंग ने अपने आपको सम्भाला. अपने बेटी की वजह से उन्होंने जीने का फैसला किया. उन्होंने हिम्मत जुटाई और अपने पसंदीदा काम लेखन में खुद को लगा दिया. शुरुआत तो हुई लेकिन सफलता का रास्ता अभी दूर था.

– हैरी पॉटर बुक लिखने का आईडिया उन्हें सन 1990 में एक दिन अचानक ही आया, जब वे मैनचेस्टर से लन्दन यात्रा पर थीं. ट्रेन अपने समय से 4 घंटे लेट चल रही थी, जे के रोलिंग ट्रेन के इंतज़ार में बैठी थीं. तभी उन्हें यह आईडिया आया, जिसे उन्होंने एक पेपर नैपकिन पर लिख डाला. इसी ट्रेन यात्रा की वजह से हैरी पॉटर बुक्स में भी कई ट्रेन यात्राओं को कहानी में पिरोया गया.

31 की उम्र में उनकी पहली किताब प्रकाशित हुई. इसके पहले 12 पब्लिशर ने किताब को छापने से मना कर दिया था.

35 की उम्र तक जे के रोलिंग हैरी पॉटर सीरीज की 4 किताबें लिख चुकी थीं और उन्हें Author of the Year पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया.

42 वर्ष की जे के रोलिंग की नयी किताब के रिलीज़ के पहले दिन ही 1 करोड़ 10 लाख किताबें बिक गयीं. यह एक विश्व कीर्तिमान बन गया है.

– आजतक हैरी पॉटर सीरीज के 7 किताबों की 50 करोड़ प्रतियाँ बिक चुकी हैं और 70 से अधिक भाषाओँ में उनका अनुवाद हो चुका है. मजे की बात यह है कि हैरी पॉटर सीरीज की पहली किताब Harry Potter and the Sorcerer’s Stone की मात्र 1,000 प्रतियाँ ही छापी गयी थीं.

जे के रोलिंग की कुल संपत्ति और आय 6500 करोड़ से भी अधिक है. इस तरह जे के रोलिंग England की महारानी एलीजाबेथ से भी अमीर बन चुकी हैं. जे के रोलिंग दुनिया की सबसे अमीर राइटर भी हैं.

– बेशक J K Rowling ने अथाह कमाई की लेकिन वे समाज के प्रति अपने कर्तव्य को नहीं भूली. उन्होंने अब तक 650 करोड़ दान के रूप में विभिन्न संस्थाओं को दिए हैं. एक बार उन्होंने अपने लिए एक महंगा इयररिंग खरीदा. इससे उन्हें इतनी ग्लानि हुई कि उन्होंने उतनी ही कीमत का चेक काटकर एक संस्था को दान कर दिया.

– लेख अच्छा लगा तो शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें –

ये भी पढ़ें :

जरूर पढ़िए हरिशंकर परसाई की प्रेरक आत्मकथा गर्दिश के दिन

सुपर कमांडो ध्रुव को रचने वाले कलाकार, लेखक अनुपम सिन्हा के बारे में जानिए

असुर : पराजितों की गाथा, रावण व उसकी प्रजा की कहानी, 5 कारण कि क्यों पढ़ें

शुक्राचार्य की पुत्री देवयानी की रोचक कहानी | Shukracharya daughter Devyani story

देवदत्त पटनायक : जानें धार्मिक-पौराणिक पुस्तकों के बेस्टसेलर लेखक के बारे में