जरूर पढ़िए हरिशंकर परसाई की प्रेरक आत्मकथा गर्दिश के दिन

Gardish ke din Harishankar Parsai life story

हर एक व्यक्ति के जीवन संघर्ष की परिस्थितियां अलग और उनसे भिड़ने-निपटने-उबरने के तरीके अलग होते हैं और मुझसे पूछा जाये तो मै यही कहूँगा कि गर्दिश के दिन से पहले ऐसा कुछ मैंने कभी नहीं पढ़ा था. हरिशंकर परसाई जी की यह कृति स्वजीवन-संघर्ष, निराशा से उबरने की प्रेरक आत्मकथा है, जिसमे बेबाक सच्चाई और गहरी … Read more