X

लीवर की बीमारी से बचने के 5 उपाय | Liver kya karta hai, Prevent liver disease in hindi

लीवर क्या करता है What does the liver do in hindi :

लीवर शरीर का बहुत महत्वपूर्ण अंग है. लीवर पेट में दाहिनी तरफ (Right side) होता है. Liver का वज़न तीन पौंड (लगभग 1350 ग्राम) होता है और स्किन के बाद यह शरीर का दूसरा सबसे बड़ा अंग है. लीवर पाचन तंत्र से खून को फिल्टर करता है. लीवर भोजन में उपस्थित या उसमें मिले तरह-तरह के तत्वों को तोड़ता है (इसे क्रिया को मेटाबोलिज्म Metabolism कहते हैं). यह हमारे द्वारा लिए जाने वाले एल्कोहल, दवाइयों तथा अन्य पदार्थों को अवशोषित करके उन्हें खून में मिलाता है.

लीवर का अन्य महत्वपूर्ण कार्य प्रोटीन का निर्माण करना है. लीवर पित्त (Bile) के साथ ही अन्य पाचक रस व एंजाइम्स बनाकर कुछ विशेष प्रकार के भोजन व फैट्स का ब्रेकडाउन करता है. लीवर की सेहत को बिल्कुल भी नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता क्योंकि हमारा पूरा स्वास्थ्य इसपर निर्भर करता है.

लीवर की बीमारी जैसे लीवर की सूजन आदि से बचने और लीवर को स्वस्थ रखने के लिए ये 5 उपाय अपनाएं.

लीवर की बीमारी से बचने के 5 उपाय – Liver ki bimari se kaise bache in hindi :

1. चीनी और टोटल फैट्स कम लें Restrict Sugar and Total Fat Intake to save liver in hindi :

– यदि आप निर्धारित मात्रा से अधिक चीनी और फैट्स लेते हैं तो आपके लीवर पर इन्हें मेटाबोलाइज़ करने का दबाव बढ़ जाता है. अपने लीवर को सुरक्षित रखने के लिए यह ज़रूरी है कि आप असंतुलित आहार न लें और मोटापे का शिकार न बनें.

– यदि आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपके लीवर में फैटी डिपॉज़िट्स (Fatty Liver) होने लगेंगे जो आगे जाकर असाध्य लीवर डैमेज (Irreversible Liver Damage) कर सकते हैं.

2. शाकाहारी भोजन करें – Eat a Plant based Diet to keep liver healthy :

– भोजन में अधिक से अधिक मात्रा में सब्जियां, फल, साबुत अनाज (Whole grain), अंकुरित अनाज व दाल जैसे मूंग, चना लेने से लीवर को स्वस्थ रखने में सहायता मिलती है. यदि आप रेड मीट (Red meat) खाना पसंद करते हैं तो इसकी कम मात्रा ही कभी-कभार लें. लिवर रोगी को सफ़ेद चावल नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसमें फाइबर बहुत कम होता है. इस कारण सफ़ेद चावल ब्लड शुगर बढ़ाता है. अगर खाना ही है तो फाइबर युक्त ब्राउन राइस खायें.

– लाइकोपीन (Lycopene) एक एंटीऑक्सीडेंट है. यह कैरोटीनोइड (Carotenoid) कई सब्जियों और फलों में पाया जाता है यही वह पदार्थ है जो टमाटर और तरबूज को उनका लाल रंग देता है. बेल पेपर्स, पपीता, और लाल अमरूद में भी यही पदार्थ होता है.

– लीवर को सुरक्षित रखनेवाला एक अन्य यौगिक कुरकुमिन (Curcumin) है जो कैंसर से भी बचाता है. यह अदरक और हल्दी प्रजाति में पाया जाता है और हल्दी को उसका पीला रंग यही प्रदान करता है. भारतीय भोजन में हल्दी का प्रयोग बहुतायत से किया जाता है और स्टडीज़ में यह पता चला है कि कुरकुमिन लीवर कैंसर के खतरे को दूर रखने में बहुत मददगार है.

रिस्वेराट्रोल (Resveratrol) अंगूर और मूंगफली में पाया जानेवाला यौगिक है. यह भी लीवर कैंसर को दूर रखने और लीवर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत उपयुक्त है. यह रेड वाइन (Red wine) में प्रचुरता से मिलता है लेकिन एल्कोहोल से लीवर डैमेज होता है इसलिए इसे अन्य स्रोतों से लेने में ही समझदारी है.

– कॉफ़ी को भी इसके एंटी-इन्फेलैमेटरी (Anti-inflammatory) और Antioxidant इफेक्ट्स के कारण लीवर को सुरक्षित रखने में सहायक माना जाता है लेकिन दिन भर में तीन कप से ज्यादा कॉफ़ी पीना ठीक नहीं होता.

– हमारे भोजन में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई (Vitamin E) का होना भी हमारे लीवर को स्वस्थ रखता है. पालक, टोफू और मेवों में विटामिन E अच्छी मात्रा में होता है जोकि लीवर को स्वस्थ रखता है.

3. एल्कोहोल कम लेनाLimit Alcohol Consumption to avoid liver disease in hindi :

– रोजाना और अधिक मात्रा में लेने पर एलकोहोल या शराब लीवर की सेल्स को नष्ट करने लगती है. आगे जाकर इससे फैटी लीवर और रेयर कंडीशंस में सिरोसिस (Cirrhosis) या हेपेटाइटिस (Hepatitis) भी हो सकता है.

– लीवर को शराब के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए इसे कभी-कभार ही अपने डॉक्टर द्वारा सुझाई या सरकार द्वारा निर्धारित मात्रा में ही लें.

– सप्ताह में कम से कम तीन-चार दिन एल्कोहोल न लें ताकि लीवर को रिकवर करने का मौका मिले.

4. नियमित एक्सरसाइज़ करें – Take plenty of exercise & make liver strong :

– नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने का प्रभाव हमारे पूरे शरीर पर पड़ता है और हमारा वज़न हमारी लंबाई के सही अनुपात में रहता है. अच्छा BMI (20-24.9kg/m2) मेंटेन करने से Fatty liver डेवलप होने का खतरा कम हो जाता है.

– Annals of Hepatology की रिपोर्ट के अनुसार सप्ताह भर में कम-से-कम 150 मिनट की एक्सरसाइज़ करने से लीवर द्वारा बनने वाले हानिकारक एंजाइमों का बनना कम हो जाता है.

5. दर्दनिवारक दवाओं का उपयोग कम करें Limit Pain killers to prevent liver disease :

– जब तक आपको दर्द की फीलिंग असहनीय न हो जाए तक तक किसी तरह के दर्दनिवारक के प्रयोग से बचें और केवल अपने डॉक्टर के कहने पर ही पेनकिलर्स लें. दवा लेने के पहले या बाद में एल्कोहोल लेने के परिणाम खतरनाक हो सकते हैं.

– दर्दनिवारक दवाएं लेते समय निर्धारित डोज़ तथा समयसीमा का उल्लंघन कभी न करें. एक दवा का असर सही तरीके से न होने पर दूसरी दवा या दूसरा डोज़ डॉक्टर से पूछे बिना न लें.

आपके संपूर्ण स्वास्थ्य का पूरा दारोमदार आपके लीवर (Liver) पर टिका रहता है. सही खानपान और Healthy Lifestyle को अपनाकर लिवर को सुरक्षित रखे और यह आपको Safe रखेगा.

– लेख अच्छा लगा तो शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें –

यह भी पढ़ें :

ब्लड प्रेशर क्या है, हाई ब्लड प्रेशर का कारण और बचाव

खानपान में बदलाव से मोटापा कम करने के 7 आसान उपाय

10 आदतों से बचिए जो आपकी किडनी की बीमारी करती हैं

पेशाब में झाग आना कितना गंभीर हो सकता है

करी पत्ता के फायदे जानिए, करी पत्ता से विभिन्न रोगोपचार की जानकारी

This post was last modified on June 29, 2018, 8:57 am