पोर्टुलाका का पौधा लगायें इन गर्मियों में

पोर्टुलाका का पौधा (Portulaca in hindi) :

पोर्टुलाका रंग-बिरंगे सुन्दर फूलों वाला एक पौधा है, जोकि घास की तरह जमीन पर फैलता है. आसानी से लगने वाला यह पौधा बहुत ज्यादा देखभाल भी नहीं मांगता और कड़ी धूप भी सहन कर लेता है. इसका वानस्पतिक नाम Portulaca grandiflora है. यह पौधा सन ऱोज या मौस रोज के नाम से भी जाना जाता है.

– लॉन के किनारे क्यारियों, गमले, रास्ते के दोनों तरफ लगे पोर्टुलाका के पौधे बहुत खूबसूरत लगते हैं. इसके फूल कई रंगों में मिलते हैं, जैसे लाल, ऑरेंज, क्रीम, बैंगनी, सफ़ेद, पीला, गुलाबी, गाढ़ा बैंगनी आदि. ऊंचाई से डोरी में लटकने वाले गमलों में इसके पौधे गज़ब के लगते हैं, क्योंकि इसकी फूलों भरी लताएँ बढ़कर गमले से लटकने लगती हैं.

पोर्टुलाका (Portulaca) किसी भी तरह की मिटटी में लगाया जा सकता है, पर बलुई मिट्टी हो तो अच्छा रहेगा. इसे गमले में लगायें तो ध्यान रखें कि पानी न रुके और खुली धूप मिले. धूप और सूखे में भी यह पौधा बरक़रार रहता है. इस पौधे के बीज आस पास गिरते रहते हैं, जिससे यह पौधा जमीन या गमले में फैलता जाता है. इसे रोज-रोज पानी देने की जरुरत नहीं है और जब पानी दें तो भी बहुत ज्यादा की आवश्यकता नहीं है. ज्यादा पानी देने से इसकी जड़ें सड़ने लगेंगी.

Grow portulaca flowers India

पोर्टुलाका कैसे लगायें (How to grow Portulaca in hindi) :

अगर आप पोर्टुलाका के बीज (Portulaca Seeds) बो रहे हैं तो इन बातों का ध्यान दें. बीज बहुत गहरे दबाने की जरुरत नहीं है. जमीन 1-2 इंच खोदकर भुरभुरी कर लें, फिर बीज फैला दें. अब हाथ मिटटी पर ऐसे घुमाएँ कि बीज मिट्टी में हल्का सा मिक्स हो जाएँ. इसके बीज को अंकुरित होने में सूर्य के प्रकाश की भी आवश्यकता होती है, इसीलिए ये अंदर दबाये नहीं जाते. इसके बाद पानी का छिड़काव कर दें. 10 से 14 दिन में पौधे बनना शुरू होने लगेंगे. इस बीच जब भी मिटटी सूखी लगे तो पानी का छिड़काव कर दें. बहुत ज्यादा पानी से तर करने की आवश्यकता नहीं है.

– अगर क्यारी में पोर्टुलाका का पौधा लगा रहें हैं तो 6-7 इंच के अंतर पर लगायें. पोर्टुलाका के फूल तितली और मधुमक्खियों को भी आकर्षित करते है और आपके बगीचे को खुशनुमा बनाते हैं. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो शेयर और फ़ॉरवर्ड जरुर करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें.

ये भी पढ़ें :

हवा शुद्ध करने वाले ये 5 पौधे घर में लगायें | Hawa Shudh Karne wale Paudhe

खस की खेती कैसे करें ? खस की आसान खेती से लाखों कमायें | Khas ki Kheti kaise kare

खस क्या होता है, खस के फायदे | Khas kya hota hai, Vetiver benefits, Khas ke fayde

घर में धनिया कैसे उगायें, मुफ्त की धनिया की कहानी | Dhaniya Kaise Ugayen

ये 9 पौधे कम देखभाल में भी बढ़िया चलते हैं | Less maintenance plants india