नाखून के सफ़ेद भाग Lunula से Health के बारे में क्या पता चलता है ? Nakhun ka Safed Bhag

नाख़ून का सफ़ेद भाग – ‘Lunula’ white part of nail in hindi :

हमारे हाथ के नाखून में जड़ के पास सफ़ेद सा अर्धचन्द्राकर भाग होता है. नाखून का यह निचला हिस्सा अंग्रेजी में Lunula (लुनुला) कहा जाता है. यह सफ़ेद भाग हाथ के अंगूठे में ज्यादा साफ़ दिखाई देता है. इस सफ़ेद भाग को देखकर डॉक्टर या वैद्य आपके स्वास्थ्य के बारे में बता सकते हैं. आइये आप भी जानिए नाखून का सफ़ेद भाग क्या बताता है.

– नाखून का यह निचला भाग जितना साफ़, सफ़ेद और बड़ा होता है, आपका स्वास्थ्य उतना ही अच्छा होगा. ऐसा व्यक्ति मजबूत, ऊर्जावान होगा व उसके शरीर में रक्त संचार भी सुचारू रूप से होता है.

– अस्वस्थ व्यक्ति के नाख़ून में यह भाग छोटा, धुंधला सा होगा. ऐसे नाख़ून (Fingernails) वाले व्यक्ति को कमजोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता, थकान और पाचन-तन्त्र की समस्या होगी. इससे यह भी पता चलता है कि ऐसे व्यक्ति को रक्त-विकार, रक्त में अशुद्धि की समस्या होती है.

nakhun ka safed bhag

– अस्वस्थ व्यक्ति के नाखून में यह सफ़ेद भाग धीरे धीरे गायब सा हो जाता है, पर स्वास्थ्य लाभ होने पर यह फिर से नाखून में दिखाई देने लगता है. अगर यह सफ़ेद भाग सिर्फ अंगूठे के नाखून में ही दिखे तो इसका अर्थ है, या तो आप अस्वस्थ होने वाले हैं या आपको कोई पुरानी (Chronic) हेल्थ प्रॉब्लम है.

– अगर छोटे बच्चे के नाखूनों में यह सफ़ेद भाग न दिखे तो परेशान न हों, यह बड़े होने के बाद ही दिखना शुरू होता है. एनीमिया या रक्ताल्पता रोगियों के नाखून में भी यह सफ़ेद भाग दिखाई नहीं देता.

– आयुर्वेद के अनुसार नाखून का सफ़ेद भाग शरीर के अग्नि तत्व को दर्शाता है. अगर नाखून का अर्धचन्द्र छोटा या न के बराबर है तो इसका अर्थ है कि व्यक्ति का पाचन तन्त्र  दुर्बल है.

– पाचन तन्त्र की समस्या कमजोर उपापचय (Metabolism) का द्योतक है. आयुर्वेद के अनुसार सुस्त उपापचय कईयों स्वास्थ्य समस्याओं को पैदा करता है, अतः पाचन तन्त्र को ठीक करने का इलाज तुरंत करना चाहिए.

लेख अच्छा लगा तो शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें.

यह भी पढ़ें :

पानी में देर तक काम करने से उँगलियों की त्वचा क्यों सिकुड़ सी जाती है ?

जीभ जल जाये या दांत से कट जाये तो ये आसान घरेलू उपाय आजमायें

ब्लड प्रेशर क्या है, हाई ब्लड प्रेशर का कारण और बचाव

थायरोइड (Thyroid Gland) की गड़बड़ी की जांच थर्मोमीटर से कैसे करें

आयल पुलिंग के फायदे : शरीर से टॉक्सिन निकालने वाली आयुर्वेद की तकनीक | Oil pulling health benefits