क्या चीता रेसिंग कार को हरा सकता है

चीता :

जमीन पर रहने प्राणियों में चीता सबसे तेज भागने वाला जानवर है. चीता की अधिकतम स्पीड 110 किलोमीटर/घंटा से 120 किलोमीटर/घंटा के बीच होती है. क्या चीता एक रेसिंग कार को हरा सकता है ? इसका जवाब जानने के लिए चीता के सम्बन्ध में कुछ फैक्ट्स जानें.

– चीता की अद्भुत स्पीड का कारण उसका Aerodynamic body (वायुगतिकीय शरीर) है, जिसकी वजह से हवा से कम से कम गतिरोध पैदा होता है और जबर्दस्त स्पीड मिलती है.

– जब चीता अपनी उच्चतम स्पीड से दौड़ रहा होता है तो वह एक छलांग में 6-7 मीटर यानि 21 फीट की दूरी तय कर रहा होता है. इस हिसाब से चीता 100 मीटर की दूरी मात्र 16 कदम में पूरी कर सकता है. आप सोचेंगे कि इतनी लम्बी छलांग कैसे सम्भव है तो इसका कारण चीते की Collar bone (हँसुली की हड्डी) की अनोखी बनावट है. चीते की कालर बोन उसके शरीर के मुख्य अस्थि पंजर से जुडी नहीं होती, इसलिए शरीर को पूरी लम्बाई में फैलने में सक्षम बनाती है.

चीता की स्पीड तो अद्भुत है लेकिन चीता अपनी अधिकतम स्पीड पर 20 सेकंड से अधिक नहीं दौड़ सकता है. इतनी तेजी से दौड़ने की वजह से उसकी हृदय गति इतनी तेज हो जाती है कि ऐसी एक दौड़ के बाद उसे 30 मिनट का आराम चाहिए. इस आराम के बाद ही वह दुबारा शिकार का पीछा कर पाता है.

– चीता की एक दौड़ के कुल समय का आधा टाइम चीता हवा में ही रहता है. चीता के पूँछ की लम्बाई उसके शरीर की लम्बाई के आधे से अधिक होती है. यह पूँछ उसे दौड़ते समय अचानक तीखा मोड़ लेने में सहायता प्रदान करती है.

Cheetah vs racing car competition

चीता और रेस कार की 100 मीटर दौड़ में रेसिंग कार ही जीतेगी लेकिन Acceleration की बात की जाए तो कोई भी कार चीता का मुकाबला नहीं कर सकती. चीता एक झटके में 112 से 128 किलोमीटर/घंटे का Acceleration पैदा कर सकता है, जोकि किसी भी कार के बस के बाहर की बात है. इसका मतलब यह हुआ कि अगर चीता और कार की रेस हो तो शुरुआत में चीता ही आगे होगा लेकिन बाद में रेसिंग कार स्पीड पकड़ लेगी और आगे निकल जाएगी.

चीता की अपनी शारीरिक सीमायें है. जब चीता एकदम से 0-96 किलोमीटर की रफ्तार पकड़ता है तो उसके शरीर का तापमान 40.6 डिग्री बढ़ जाता है. इस प्रकार 15 सेकंड दौड़ने के बाद उसके शरीर का तापमान 43 डिग्री तक बढ़ जाता है. इसकी वजह से चीते को अपनी स्पीड धीमी करनी पड़ती है अन्यथा हृदयगति और ब्लड प्रेशर बढ़ने से उसकी मृत्यु भी हो सकती है.

चीते की रफ्तार सबसे अधिक है लेकिन उसकी भी एक सीमा है, इसीलिए चीता घात लगाकर शिकार करता है. चीता ऐसा शिकार चुनता है कि कम दूरी दौड़ना पड़े क्योंकि कम दूरी में उसकी स्पीड का कोई टक्कर नहीं. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो शेयर और फ़ॉरवर्ड जरुर करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें.

यह भी पढ़ें :

बिना थके सैकड़ों किलोमीटर दौड़ने वाले धावक Dean Karnazes का राज क्या है ? | Bina thake daudna

कुदरत का करिश्मा : मुर्गा जो सिर कटने के बाद भी 18 महीने जिन्दा रहा

दुनिया की सबसे बड़ी गाड़ी Bagger 288 के 8 आश्चर्यजनक फैक्ट्स | Duniya ki sabse badi gadi

अंतरिक्ष में अंतरिक्ष यात्री अक्सर हाथ बांधे क्यों नज़र आते हैं ? | Antriksh Yatri

पृथ्वी के घूमने की गति धीमी कर दी चीन के Three Gorges बांध ने