मात्र गुरुत्वाकर्षण बल से रौशनी देने वाली लाइट : ग्रेविटी लाइट

The Gravity Light Foundation, London ने एक ऐसी लाइट बनाई है जोकि गुरुत्वाकर्षण बल से चलती है. इस लाइट को ग्रेविटी लाइट कहा जाता है. विज्ञान के सरल से नियम पर बनी यह लाइट ऐसी जगहों के लिए उपयुक्त है, जहाँ बिजली की सप्लाई नहीं है. एशिया और अफ्रीका के कई पिछड़े देश Gravity Light का उपयोग करके अपना जीवन आसान बना रहे हैं.

Gravity Light ( ग्रेविटी लाइट ) :

Gravity Light को किसी हुक से 6 फीट की ऊँचाई पर टांग दिया जाता है. बाहर से देखने इसमें एक LED बल्ब और दो छोटे LED lamp लगे दीखते हैं. इस लाइट के अंदर Drive sprocket, Gear train, DC Generator होते हैं और लाइट के नीचे करीब 12 kg का एक वजन टंगा होता है. वजन के लिए इसमें पत्थर, बालू आदि कुछ भी भरा जा सकता है.

Gravity light working
source

ग्रेविटी लाइट कैसे काम करती है :

लाइट को चालू करने के लिए इसमें पुली पर लगी ऑरेंज कलर की डोरी को खींचना होता है, जिससे 12 किलो का टंगा वजन ऊपर चढने लगता है. जब यह एकदम ऊपर तक आ जाता है तो डोरी खींचना बंद कर देते हैं. अब लाइट के अंदर लगी ड्राइव स्प्रोकेट सिस्टम Slow speed/High Torque से घूमता है. इस इनपुट का प्रयोग करके सिस्टम में लगी पॉलीमर गियर ट्रेन High Speed/Low Torque से चल पड़ती है, जोकि DC generator को 1600 चक्कर प्रति मिनट की दर से घुमाने लगती है. इससे इतनी बिजली पैदा होती है जोकि ग्रेविटी लाइट को चलाने के लिए पर्याप्त होती है.

इससे मिलने वाली रौशनी मिट्टी के तेल से जलने वाले लैंप से 5 गुना तेज होती है. एक बार में यह लाइट 20 मिनट तक लगातार रौशनी देती है. 20 मिनट के बाद पुनः डोरी खीच कर वजन को ऊपर तक खीच देना होता है और पुनः रौशनी मिलने लगती है. यह क्रिया कितनी ही बार दोहराई जा सकती है.

Gravity light mechanism
source

ग्रेविटी लाइट के फायदे :

– बढ़िया क्वालिटी मटेरियल से बनी इस लाइट बड़े काम की चीज़ है. न तेल, न सोलर पावर, न किसी बैटरी की जरुरत. दिन हो या रात कभी भी चला सकते हैं इसे. बस डोरी खींचा और 20 मिनट तक अबाधित रौशनी की सप्लाई.

– सामान्यतः मिट्टी तेल के लैंप का हानिकारक धुवाँ और तेल के दाम का खर्चा गरीबों के लिए समस्या बनी रहती है. ऐसे में विज्ञान के इस सरल से नियम पर बनी Gravity Light एक वरदान बनकर आई है. अब तो Gravity Light के कांसेप्ट पर बनी कई लाइट्स बाजार में आ गयी हैं और भारत में भी कई लोगों ने इस मॉडल पर लाइट्स बनाई हैं.

Gravity Light को उनकी पार्टनर कम्पनी Deciwatt ऑनलाइन स्टोर्स Amazon.com, BestBuy आदि के माध्यम से बाजार में उपलब्ध कराती है. विज्ञान मनुष्य का हितैषी बनकर रहे तो कितने सुंदर परिणाम निकलकर आते हैं, Gravity Light इसका बेहतरीन उदाहरण हैं.

ये भी पढ़ें :

दिल्ली के लौह स्तम्भ में जंग क्यों नही लगता  Iron pillar delhi amazing facts

Double Slit Experiment: भगवान का अस्तित्व सिद्ध करने वाला वैज्ञानिक प्रयोग

शॉपिंग मॉल में घूमने वाले गेट क्यों लगाये जाते है | Revolving Doors Benefits

अन्तरिक्ष में अन्तरिक्षयात्री अक्सर हाथ बांधे क्यों नज़र आते हैं ? | Astronauts Hands