गरम मसाला की सामग्री, बनाने की विधि | Garam Masala ingredients in hindi

गरम मसाला : भारतीय खाने में गरम मसाला खाने की खुशबु और स्वाद बढ़ाने के लिए डाला जाता है. कुछ खास सूखे, खड़े मसाले पीसकर गरम मसाला पाउडर तैयार किया जाता है. सब्जी, करी, सूप आदि बनाने के अंत में गरम मसाला ऊपर से डालकर मिला दिया जाता है.

गरम मसाला के नाम क्या है :

भारत में गर्म मसाले के 3 प्रकार पाए जाते है, कश्मीरी, पंजाबी और केरलाई. इन तीनों में ज्यादातर मसाले Common हैं. तीनों प्रकार को मिलाकर लगने वाले सभी मसाला का नाम इस प्रकार है – काली मिर्च, बड़ी इलायची, छोटी इलायची, लौंग, दालचीनी, तेजपत्ता, जावित्री, सोंठ, तेजपत्ता, चक्रफूल, जायफल, खड़ा धनिया, जीरा, सौंफ, हींग, कबाबचीनी.

– गरम मसाले के सबसे सरल, सामान्य रूप में काली मिर्च, छोटी और बड़ी इलायची, तेजपत्ता, लौंग, जायफल, दालचीनी, जीरा, धनिया का मिश्रण होता है.

– अपने स्वाद और पसंद के अनुसार आप बताये गये मसालों की सामग्री, मात्रा और संख्या घटा-बढ़ा भी सकते है.

गरम मसाला सामगी मात्रा : Homemade Garam Masala ingredients in hindi

खड़ा धनिया  50 ग्राम
जीरा            50 ग्राम
काली मिर्च    25 ग्राम
तेजपत्ता      20 ग्राम
लौंग            20 ग्राम
सौंफ            20 ग्राम
बड़ी इलायची   10 ग्राम
छोटी इलायची 10 ग्राम
दालचीनी        10 ग्राम
सोंठ                5 ग्राम
जावित्री            5 ग्राम
जायफल 1
चक्रफूल 1-2

इन मसालों को इसी अनुपात में कम या ज्यादा भी किया जा सकता है.

गरम मसाला बनाने की विधि :

– ऊपर बताये गए सभी मसालों को एक पैन या कड़ाही में गैस पर 2-3 मिनट गर्म करें. ध्यान दें कि इसमें सोंठ को गर्म नहीं करना है और जायफल को छोटे टुकड़ों में तोड़ कर मिलाया गया हो. तेजपत्ता और दालचीनी को भी हाथ से ही छोटे टुकड़ों में तोड़ दें. मसालों का रंग बदलने का इंतजार नहीं करना है. मसाला बस इतना गर्म करना है कि इनकी नमी चली जाये. इसके बाद पैन उतारकर खड़े मसाले एक प्लेट में निकालकर ठंडा होने दें. ठंडा हो जाने पर ये मसाले और सोंठ भी मिलाकर मिक्सी में महीन पीस लें.

– यह मसाला हमेशा शीशे के एयरटाइट जार में भरकर ठंडे स्थान या फ्रिज में रखें.

– बहुत अधिक गरम मसाला पीसकर नहीं रखना चाहिए, क्योंकि लम्बे समय तक प्रयोग न हुआ तो इसकी खुशबु घटने लगती है. मसाले की खुशबु उसमें पाए जाने वाले तेलों से आती है. अगर डिब्बा ठीक से बंद न हो, उसे गर्म जगह पर रखा जाता हो या मसाला लम्बे समय से रखा हो तो उनके तेल उड़ते जाते हैं, जिससे गरम मसाला की खुशबु और स्वाद में कमी आने जाती है. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो शेयर और फ़ॉरवर्ड जरुर करें, जिससे अन्य लोग भी ये जानकारी पढ़ सकें

ये भी पढ़ें :

काली मिर्च के 12 फायदे, काली मिर्च कैसे खाएं

करी पत्ता के फायदे | Curry Patta ke fayde in hindi

घर में धनिया कैसे उगायें, मुफ्त की धनिया की कहानी | Dhaniya Kaise Ugayen

सेंधा नमक, काला नमक के फायदे | Sendha Namak ke fayde Black Salt benefits

खस क्या होता है, खस के फायदे | Khas kya hota hai, Vetiver benefits, Khas ke fayde

कोल्ड प्रेस्ड ऑयल के 8 फायदे | Cold pressed oil in Hindi