फुल क्रीम दूध से डरना छोड़िये, वैज्ञानिकों की नयी रिसर्च कहती है.

फुल क्रीम दूध :

एक नयी स्टडी में पता चला है कि फुल क्रीम दूध असल में हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. डेनमार्क देश जोकि दुनिया भर में डेयरी इंडस्ट्री का दिग्गज है, वहां की यूनिवर्सिटी ऑफ़ कोपेनहेगन के रिसचर्स ने यह निष्कर्ष निकाला है.

भारत में हमेशा से ही दूध और दूध से बने पदार्थों घी, दही, मक्खन, खोवा आदि के सेवन पर जोर दिया गया है. पिछले 20-30 सालों से ऐसी नयी सोच पैदा हो गयी है कि दूध से बने कुछ पदार्थ स्वास्थ्य के लिए हानिकरक हैं. इस सोच का मुख्य कारण है, पश्चिमी देशों के वैज्ञानिकों के कुछ प्रयोग और निष्कर्ष जिसे डॉक्टर्स और जनता ने अपना लिया.

इसका असर ये हुआ कि लोगों ने फुल क्रीम दूध से कन्नी काट ली और बिना क्रीम वाला टोंड दूध पीने लगे हैं. देशी घी से मोटापा और ह्रदय की बीमारी होती है, ये सोचकर लोग देशी घी से दो फीट दूर ही रहते हैं.

– लेकिन आपको ये जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि विगत 1-2 वर्षों में दुनिया भर में हुई कुछ नयी रिसर्च ने इन सभी मान्यताओं और स्वास्थ्य नियमों को सिरे से ख़ारिज कर दिया है.

– वर्षों से ऐसी मान्यता थी कि फुल क्रीम दूध शरीर में LDL कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देता है जोकि हानिकारक है और लो-फैट दूध या स्किम्ड दूध ही स्वास्थ्य के लिए बढ़िया होता है.

– यूनिवर्सिटी ऑफ़ कोपेनहेगन के वैज्ञानिकों के अनुसार नए एक्सपेरिमेंट बताते हैं कि दूध पीने और हृदय की बिमारियों का -कोई सम्बन्ध ही नहीं है. क्रीम वाला दूध शरीर में High-density Lipoprotein (HDL) नामक अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है जोकि शरीर के लिए आवश्यक है.

full cream milk benefits hindi

वैज्ञानिक कहते हैं कि सभी स्वस्थ व्यक्तियों को फुल क्रीम दूध अपने खानपान का हिस्सा बनाना चाहिए और इसके गुणों का लाभ उठाना चाहिए.

– यूनिवर्सिटी ऑफ़ कोपेनहेगन के इन्ही वैज्ञानिकों ने 2016 में चीज़ यानि पनीर के सम्बन्ध में भी एक प्रचलित भ्रान्ति को गलत बताया था. लोगों का यह मानना था कि लो-फैट चीज़ खाने से कोलेस्ट्रॉल घटता है, ब्लड प्रेशर सही रहता है और मोटापा भी नहीं होता. वैज्ञानिकों ने इन सब बातों को सिरे से नकार दिया और लो-फैट चीज़ के इन फायदों को गलत बताया.

– हाल में ही देशी घी से सम्बन्धित गलत धारणाओं को भी दूर किया गया है. लोग मानते थे कि घी हृदय की धमनियों को बंद कर देता है, मोटापा ला देता है. ये सभी बाते सिर्फ मिथक है. पढ़ें जानकारी देशी घी वजन बढ़ाता नहीं घटाता है.

भारत की संस्कृति, धर्म, खान-पान और जीवन में दूध सदियों से शामिल रहा है. भारतीय माता-पिता, दादा -दादी हमेशा से ही बच्चों को दूध पीने के फायदे गिनाकर दूध पिलाते रहे हैं. भले ही कुछ समय के लिए दूध से सम्बन्धित भ्रांतियाँ प्रचलित हो गयी थीं, लेकिन अब इन नयी खोजों से इनका निराकरण हो रहा है. हमारे पूर्वजों का विज्ञान आज भी आधुनिक विज्ञान पर भारी है.

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे शेयर और फॉरवर्ड अवश्य करें, जिससे अधिक से अधिक लोग यह जानकारी पढ़ सकें.

ये भी पढ़ें : 

ग्रीन कॉफी क्या है, ग्रीन कॉफी के फायदे – ग्रीन कॉफ़ी कैसे बनाये

ऐसे अनोखे लोग जिनपर एड्स रोग है बेअसर | Aids Immune People

मोटापा कम होगा ये 7 चीज़ें खाने से | Kya khane se Motapa kam hoga

ब्लड प्रेशर क्या है, हाई ब्लड प्रेशर का कारण व बचाव