युद्ध की 5 रोचक कहानियाँ : जब भ्रम और चतुराई से जंग जीते गये

युद्ध की रोचक कहानियाँ :

कहते हैं प्यार और जंग में सब जायज़ है. प्यार का तो पता नहीं पर जंग में चालाकियों और छल विद्या से कई बार बड़े उलट फेर हुए हैं. युद्ध क्षेत्र की ऐसी 5 कहानियाँ जब असल ने नकल और नकली ने असली सा भ्रम पैदा किया और पासा ही पलट गया, आइये पढ़ते हैं .

– जापानियों का अमेरिका के विरुद्ध – Japanese deception against America

द्वितीय विश्व युद्ध के समय लगभग सभी दलों ने जमकर धोखाधड़ी, भ्रम और चालाकी का सहारा लिया था. जापानी सेना ने खेतों में, मैदानों में बांस के बने नकली बमवर्षक विमान के मॉडल खड़े किये, उन्हें असली घास फूस आदि से थोड़ा ढंक दिया. इससे अमेरिकी सेना को लगता कि ये जापान का कोई ख़ुफ़िया सैन्य अड्डा है और वो बम बरसा के खुश हो जाते.

Fake Japanese aeroplanes

एक जगह तो जापानियों से खाली एयर फील्ड की जमीन पर अमेरिकी B-29 विमान का बड़ा सा चित्र पेंट कर दिया, जिसके इंजन में आग लगी हो. अन्य अमेरिकी बमवर्षकों को लगता उनके किसी विमान के साथ कोई दुर्घटना हुई है, वो छानबीन के लिए नीची उड़ान भरते और जापानी टैंक और तोपों का शिकार बन जाते.

– अमेरिका का जर्मनी के खिलाफ – America’s Plan against Germany

अमेरिका भी भला कैसे पीछे रहता. अमेरिकी सेना के 23rd Headquarters Special Troops को यह जिम्मेदारी मिली कि ऐसा छलावरण पैदा किया जाये कि जर्मन सेना को लगे, अमेरिका के सहायक अन्य देशों की सेनायें समय से पहले ही भारी गोला बारूद और साजोसामान के साथ पहुँच चुकी हैं.

American Ghost army

23rd Troops ने हवा से फूलने वाले रबर के हवाईजहाज, टैंक, युद्ध के ट्रक के मॉडल से, Fake रेडियो ट्रांसमिशन और दूर दूर तक लगे स्पीकर्स पर तोपों के गडगडाहट, सैनिकों के शोर की रिकॉर्डिंग बजाकर Ghost Army का भ्रम पैदा किया.

– भारतीय आर्मी की सूझबूझ – Indian Army deception in wars

भारतीय सेना ने भी समय समय पर चालाकी और होशियारी से काम लिया. सन 1971 की लड़ाई में कराची पर बमवर्षा करते हुए भारतीय नेवी मिसाइल बोट्स आपस में रशियन भाषा में संवाद कर रहे थे, जिससे पाकिस्तानी सेना चक्कर में पड़ गयी. उन्हें लगता यह सिग्नल सुदूर अरब सागर में रशियन नेवी का अमेरिकी सेना के खिलाफ रणनीति की बातें, प्लान आदि हैं.

Indian Navy warships

इसके अलावा इंडियन आर्मी ने जगह जगह पर दक्षिण भारतीय रेडियो ट्रांसमिशन स्टाफ की पोस्टिंग की. इन साउथ इंडियन भाषाओँ में बातचीत के सिग्नल पाकिस्तानी सेना के पल्ले ही नहीं पड़ते थे.

– ब्रिटिश आर्मी का Starfish sites –

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश आर्मी ने जर्मन लड़ाकू विमानों से अपने शहरों को बचाने के लिए भ्रम विद्या का सहारा लिया. ब्रिटिश आर्मी के इस प्रोजेक्ट का नाम था Starfish. इस प्रोजेक्ट के तहत South City Film Studios में नकली शहर, हवाई जहाज, टैंक आदि के कार्डबोर्ड, कैनवास, लकड़ी आदि सामग्री से बने मॉडल तैयार किये जाने लगे. इस नकली मॉडल का प्रयोग असली स्थान से दूर किसी वीराने, खेत में नकली शहर और सैनिक हवाई अड्डे का भ्रम पैदा करने के लिए किया जाता था.

British Army Starfish fires

लोगों को एक टीम तैयार की गयी जोकि युद्ध समय की दौरान इन मॉडल में आग लगा दिया करते, जिससे जर्मन बॉम्बर विमानों को लगे कि वहाँ पर पहले से ही युद्ध चल रहा है. कई जगह नकली ट्रेन के मॉडल खड़े कर उनमे बिजली के बल्ब जला दिए जाते. किसी तालाब के ऊपर लाइट लैंप लगा कर उससे परावर्तित रौशनी से नदी का भ्रम पैदा किया जाता. ब्रिटिश आर्मी का अनुमान है, इस प्रयोग से हजारों-लाखों निवासियों और आर्मी की जान बचाई गयी.

– भारतीय इतिहास में रणनीति – Deception in warfare during ancient India :

भारत के इतिहास में भी कई बार ऐसी घटनाओं का जिक्र है. शिवाजी ने शाइस्ताखान के खिलाफ युद्ध में रात के समय बैलों और साड़ों की सींगो में मशालें बांधकर छोड़ दिया था, जिससे भारी सेना का भ्रम पैदा किया. बीजापुर और क़ुतुब शाही की लड़ाई में मराठे छोटे छोटे ग्रुप में पहाड़ों में अलग अलग तरफ से आक्रमण करते थे, जिससे बड़ी सेना का आभास हो.

Maharana Pratap Horse in Haldighati

मेवाड़ के शासक तो और आगे ही आगे थे. वो अपने घोड़ों पर छोटे हाथियों की सी सूंड और छद्मावरण पहना दिया करते थे, जिससे युद्ध में विरोधी सेना के घोड़े उन्हें छोटे हाथी समझ कर डरकर बिदक जाया करते थे. महाराणा प्रताप ने इस युद्धनीति का प्रयोग प्रसिद्ध हल्दीघाटी के युद्ध में भी किया था.

यह भी पढ़ें :

सैम मानेकशॉ ने पाकिस्तानी राष्ट्रपति याह्या खान से अपनी बाइक की कीमत ऐसे वसूली

आर्मी ऑफिसर नाथूसिंह राठौर ने क्या सवाल पूछा कि नेहरु जी की बोलती बंद हो गयी

सिंधिया वंश और ग्वालियर के गुप्त खज़ाने की अनोखी पर सच्ची कहानी

अमेरिकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के पुनर्जन्म की अदभुत कहानी : कर्म-चक्र का नियम

रिचर्ड फ्रांसिस बर्टन की साहसिक यात्रायें : हज की यात्रा करने वाले पहले यूरोपियन

गुरु शुक्राचार्य की पुत्री देवयानी की रोचक कहानी | Shukracharya daughter Devyani story

आग में जलते हुए इस संत की कहानी क्या थी | The Burning Monk Thich Quang Duc

मुर्गा जो सिर कटने के बाद भी 18 महीने जिन्दा रहा | Mike the Headless Chicken